पहली बार JNUSU का चुनाव लड़ रही है RJD, अपने पहले ही भाषण से छा गए जयंत जिज्ञासु

0
50

जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) के छात्र संगठन चुनाव के लिए आज (शुक्रवार को) वोट डाले जा रहे हैं. राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) की छात्र इकाई पहली बार जेएनयूएसयू का चुनाव लड़ रही है. प्रत्याशी के तौर पर आरजेडी ने पूर्व एआईएसएफ नेता और जेएनयूएसयू के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार के दोस्त जयंत जिज्ञासु को मौदान में उतारा है. जयंत सामाजिक विज्ञान संस्थान (एसएसएस) से पीएचडी कर रहे हैं. सोशल मीडिया में चुनाव से पहले हुए प्रेसिडेंशियल डिबेट में जयंत के संबोधन की चर्चा हो रही है.

अपने संबोधन के दौरान जयंत जिज्ञासु ने कई विश्वविद्यालय से लेकर राजनीतिक मुद्दों पर जमकर बोला. उन्होंने अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी), बापसा और लेफ्ट यूनिटी दोनो के खिलाफ जमकर बोला. सोशल मीडिया में जिज्ञासु के भाषण की तारीफ हो रही है.

‘डाटा नहीं, आटा चाहिए’
जयंत ने प्रेसिडेंशियल डिबेट के दौरान कहा, ‘आरक्षण खत्म कर ये लोग चाहते हैं कि आप पीएचडी पूरा करने के बाद फोटोकॉपी की दुकान खोल लें. प्रोफेसर न बनने पाएं. यूनिवर्सिटी में जो पहले आरक्षण की व्यवस्था थी, उसमें सभी वर्गों के लोग प्रोफेसर बन जाते थे, लेकिन मौजूद सिस्टम में आप प्रोफेसर नहीं बन पाएंगे.’ इस दौरान महंगाई पर बोलते हुए उन्होंने कहा डाटा नहीं, आटा चाहिए. आटा सस्ता कीजिए सरकार.

यह भी पढ़े  फीफा अंडर 17 विश्व कप : स्पेन को 5-2 से रौंदकर इंग्लैंड बना चैंपियन

जेएनयू स्टूडेंट यूनियन चुनाव के लिए सुबह साढ़े नौ बजे से शाम साढ़े पांच बजे तक मतदान चलेगा. 16 सितंबर को नतीजे घोषित किए जाएंगे. यहां बैलेट पेपर से चुनाव होते हैं. इस बार संयुक्त पैनल की चार सीटों के लिए कुल 30 और 31 स्कूल काउंसलर के पद लिए 104 प्रत्याशी चुनाव लड़ रहे हैं. अध्यक्ष पद के लिए आठ, उपाध्यक्ष, महासचिव और संयुक्त सचिव पद के लिए चार-चार प्रत्याशी मैदान में हैं.

इस बार यूनाइटेड लेफ्ट (आइसा, डीएसएफ, एसएफआई और एआइएसएफ) की तरफ से अध्यक्ष पद के लिए दावेदार एन साई बाला हैं. अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) ने ललित पांडे को उम्मीदवार बनाया है वहीं, बिरसा मुंडे फुले आंबेडकर स्टूडेंट्स यूनियन (बापसा) की ओर से थालापल्ली प्रवीण मैदान में हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here