पश्चिम बंगाल के तारापीठ में बिहार के मंत्री सुरेश कुमार शर्मा के साथ हुई मारपीट

0
10

बिहार के नगर विकास व आवास मंत्री सुरेश कुमार शर्मा पर सोमवार कोतारापीठ में एक होटल के कर्मचारियों ने कथित तौर पर हमला कर दिया. उन्हें बचाने में सुरक्षाकर्मी भी घायल हो गये. हालांकि बीरभूम के पुलिस अधीक्षक एन सुधीर कुमार ने हमले के आरोप को खारिज करते हुए कहा कि मंत्री पर कोई हमला नहीं हुआ है. बल्कि होटल बुकिंग को लेकर होटल के कर्मचारी व मंत्री के बॉडीगार्ड आपस में भिड़ गये थे. इसी दौरान मंत्री  के बॉडीगार्ड को चोटें आयी हैं.

वीरभूम के तारापीठ में नए साल पर सोमवार को मां तारा के दर्शन करने आए मुजफ्फरपुर से भाजपा विधायक व मंत्री सुरेश शर्मा व उनके समर्थकों का वहां होटल कर्मियों से विवाद हो गया। मंत्री के निजी सचिव संजीव कुमार की मानें तो मारपीट में मंत्री को चोट नहीं लगी है। उनके सुरक्षाकर्मी घायल हैं। वहीं होटल प्रबंधक सुनील गिरि ने अपने चार कर्मचारियों के जख्मी होने का दावा किया है।

यह भी पढ़े  मॉल व होटलों की सुरक्षा कड़ी करें

प्राप्त जानकारी के अनुसार मंत्री सुरेश शर्मा के लिए तारापीठ के होटल सोनार बांग्ला में ऑनलाइन 4 कमरों की बुकिंग हुई थी। उनके समर्थकों की बुकिंग अन्य होटल में थी। होटल में मंत्री ने सभी की बुकिंग उसी होटल में मांगी। आरोप है कि होटल प्रबंधन की ओर से इसमें असर्थता जताने पर मंत्री ने अपनी बुकिंग रद कर तुरंत नकदी वापस मांगी। प्रबंधन की ओर से ऑनलाइन कैंसिंल करने की बात करने पर उनका और उनके समर्थकों का होटल कर्मियों से विवाद हो गया। आरोप है कि इसी दौरान मंत्री के सुरक्षाकर्मी ने रिसेप्शन पर बैठे होटल के ऑफिस इंचार्ज प्रणब मन्ना को थप्पड़ जड़ दिया और गाली-गलौज करने लगे।

होटल प्रबंधक का कहना है कि उनके कर्मचारी सुरजीत मेघदार, अमल भुइयां और जयदेव शाह घायल हुए हैं। । वहीं मंत्री की ओर से कहा जा रहा है कि होटल के बाहर निकलने के बाद उनपर हमला किया गया। मंत्री व होटल प्रबंधन की ओर से एक-दूसरे खिलाफ रामपुरहाट थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। सूचना पर रामपुरहाट के सब-डिवीजनल पुलिस ऑफिसर के पहुंचते ही मंत्री व उनके समर्थक होटल में ही अपने दो वाहनों को छोड़कर चले गए। हालांकि, बाद में मंत्री के समर्थक गाड़ी ले गए। इसके बाद मंत्री तारापीठ में ही दूसरे होटल में शिफ्ट हो गए और मां तारा के दर्शन भी किए।

यह भी पढ़े  गांधी के विचारों को जन-जन तक पहुंचाकर लोगों को जागृत किया जायेगा :मुख्यमंत्री

राज्य के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून-व्यवस्था) अनुज शर्मा ने घटना की जानकारी होने से इन्कार किया। जबकि वीरभूम एसपी नीलकंठ सुधीर कुमार ने कहा कि वीडियो फुटेज के मुताबिक मंत्री के लोगों ने होटल कर्मियों के साथ पहले बदसलूकी की, जिससे मामला बिगड़ा। मंत्री के सुरक्षाकर्मियों और समर्थकों ने होटल के कर्मचारियों को गोली मारने की भी धमकी दी थी।

क्या कहना है पुलिस का
दूसरी ओर, बंगाल पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार मंत्री की ओर से होटल में ऑनलाइन बुकिंग की गयी थी, लेकिन सुबह जब मंत्री पहुंचे और होटल में नहीं रहने की बात कही और अपना बुकिंग का पैसा वापस मांगा, तो होटल के कर्मचारियों द्वारा सूचित किया गया कि चूंकि बुकिंग ऑनलाइन हुई है, पैसे की वापसी भी ऑनलाइन ही होगी. इसे लेकर मंत्री के बॉडीगार्ड और होटल के कर्मचारियों के बीच झड़प हो गयी. पुलिस अधीक्षक का कहना है कि पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है. फिलहाल मंत्री जिस गाड़ी से होटल पहुंचे थे. वह गाड़ी अभी होटल में ही है.
मंत्री के निजी सचिव संजीव कुमार ने  आरोप लगाया कि सुरेश शर्मा तारापीठ में पूजा करने गये. पूजा-अर्चना के बाद वे अपने होटल ‘सोनार बांग्ला’ पहुंचे. वहां होटलकर्मियों से कमरा दिखाने को लेकर विवाद हो गया. इसके बाद होटलकर्मियों ने मंत्री पर हमला कर दिया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here