पशुओं की तस्करी रोकने को सरकार ने उठाये कदम:डॉ. प्रेम कुमार

0
29

राज्य के पशु एवं मत्स्य संसाधन सह कृषि मंत्री डॉ. प्रेम कुमार ने कहा कि पशु क्रूरता निवारण सोसाईटी द्वारा पकड़े गए पशुओं के रख-रखाव एवं पशु चारा दाना पर व्यय होने वाली राशि का वहन राज्य सरकार करेगी। साथ ही पटना शहर की सड़कों पर यत्र-तत्र घूमने वाली गायों को गोशाला में रखने तथा गया शहर में पितृपक्ष मेला के दौरान यत्र-तत्र घूमने वाले पशुओं के चारा/आवासन/ परिवहन इत्यादि पर होने वाले व्यय का भी वहन राज्य सरकार करेगी। इन कायरे के लिए इस वित्तीय वर्ष में 1.10 करोड़ की योजना की स्वीकृति दी गई है। पकड़े गये पशुओं को नजदीकी गोशालाओं में रखने की व्यवस्था भी की गयी है। जिला पशु क्रूरता निवारण सोसाइटी द्वारा पकड़े गए पशुओं के रख-रखाव, पशु दवा एवं चारा-दाना के लिए कुल 85 लाख रुपये का प्रावधान किया गया है। इस राशि से अंतरराष्ट्रीयसीमा वाले जिलों पश्चिम चम्पारण, पूर्वी चम्पारण, सीतामढ़ी, मधुबनी, सुपौल, अररिया, किशनगंज एवं अंतरराज्यीय सीमा वाले जिलों पूर्णिया, कटिहार, भागलपुर, बांका, जमुई, नवादा, गया, औरंगाबाद, रोहतास, कैमूर, बक्सर, भोजपुर, सारण, सीवान तथा गोपालगंज में प्रति जिला एक लाख रुपये तथा शेष 16 जिलों को प्रति जिला 25 हजार रुपये की दर से राशि उपलब्ध करायी जा रही है। शेष 59 लाख रुपये में से जिला पशु क्रूरता निवारण सोसाईटी द्वारा पकड़े गए पशुओं के रख-रखाव, दवा एवं चारा-दाना पर होने वाले व्यय को वहन करने हेतु जिलों से समय-समय पर आवश्यकतानुसार उनसे प्राप्त अधियाचना के आधार पर राशि का आवंटन किया जाएगा। पटना शहर की सड़कों पर यत्र-तत्र घूमने वाली गायों को पकड़कर पटना अवस्थित गोशाला में रखा जाएगा एवं उनके रख-रखाव, भोजन, आवासन आदि पर होने वाले व्यय का वहन संबंधित जिला पशुपालन पदाधिकारी द्वारा किया जाएगा। इस हेतु उन्हें 15 लाख की राशि उपलब्ध करायी जा रही है। गया शहर में पितृपक्ष मेला के दौरान यत्र-तत्र घूमने वाले पशुओं को चारा-दाना, आवास, परिवहन आदि पर होने वाले व्यय हेतु 10 लाख रुपये की राशि जिला पशुपालन पदाधिकारी को उपलब्ध करायी जा रही है। इन सारी व्यस्थाओं की देख-रेख की जिम्मेदारी निदेशक पशुपालन को सौंपी गई है।

यह भी पढ़े  मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम का जीवन ही हमारा आदर्श : मंगल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here