पर्यावरण संरक्षण और स्वच्छ ऊर्जा के इस्तेमाल को बढ़ावा देने के लिए सरकार प्रतिबद्ध

0
81

पर्यावरण संरक्षण एवं स्वच्छ ऊर्जा के इस्तेमाल को बढ़ावा देने के लिए प्रतिबद्ध राज्य सरकार ने 25 मेगावाट क्षमता वाले सौर ऊर्जा संयंत्र स्थापित करने के लिए एक अरब 78 करोड़ 88 लाख रुपये के निजी निवेश प्रस्ताव को बुधवार को मंजूरी दे दी। मंत्रिमंडल सचिवालय विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने बताया कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में हुई मंत्रिपरिषद् की बैठक में इस आशय के प्रस्ताव को मंजूरी दी गई है। मगध प्रमंडल, गया के तत्कालीन सहायक निबंधन महानिरीक्षक अजय कृष्ण मिश्र को सेवा से बर्खास्त कर दिया गया है। श्री कुमार ने बताया कि बांका जिले के ककवारा गांव में 10 मेगावाट क्षमता वाले फोटोवॉल्टिक (पीवी) सौर ऊर्जा संयंत्र स्थापित करने के लिए गुरुग्राम (हरियाणा) की कंपनी मगध सोलर पावर प्राइवेट लिमिटेड को 71 करोड़ 55 लाख रुपये के निजी निवेश एवं वित्तीय प्रोत्साहन क्लिरियेंस की मंजूरी दी गई है। बांका जिले के ही ककवारा गांव में 15 मेगावाट उत्पादन क्षमता वाले पीवी सौर ऊर्जा संयंत्र की स्थापना के लिए गुरुग्राम के ही नालंदा सोलर पावर प्राइवेट लिमिटेड को एक अरब सात करोड़ 33 लाख रुपये निजी निवेश को स्वीकृति प्रदान की गई है। श्री कुमार ने बताया कि बांका जिले में रजौन थाना क्षेत्र के नवादा बाजार में सहायक थाने के सृजन एवं उसके संचालन के लिए कुल 14 पदों के सृजन की स्वीकृति दी गई है। उन्होंने बताया कि भूदान भूमि वितरण जांच आयोग के लिए विभिन्न पदों के सृजन की भी मंजूरी दी गई है। प्रधान सचिव ने बताया कि 32.98 करोड़ रुपये की लागत पर सिंचाई भवन, पटना के जीर्णोद्धार एवं पुनर्विकास योजना की प्रशासनिक स्वीकृति दी गई है। साथ ही गुणवत्ता प्रबंधन पण्राली विकसित करने के लिए मुख्यालय एवं क्षेत्रीय स्तर पर गैर योजना मद में कुल पांच करोड़ 13 लाख 29 हजार 532 रुपये के अनुमानित वार्षिक व्यय पर मुख्य अभियंता (गुणवत्ता अनुश्रवण), पटना समेत चार निदेशक, गुणवत्ता अनुश्रवण के कार्यालयों का गठन के साथ आवश्यक कुल 91 पदों का सृजन की मंजूरी दी गई है। श्री कुमार ने बताया कि राज्य के सभी प्रखंडों में स्वचालित वष्ामापक यंत्र लगाए जाने का निर्णय लिया गया है। उन्होंने बताया कि इसके लिए 34 करोड़ 37 लाख 53 हजार रुपये की पुनरीक्षित स्वीकृति तथा राज्य योजना मद से 14 करोड़ 24 लाख 14 हजार रुपये व्यय करने की मंजूरी दी गई है। प्रधान सचिव ने बताया कि सभी प्रखंडों में स्वचालित वष्ामापक यंत्र लग जाने से राज्य मुख्यालय स्तर पर सभी जगहों के वष्ा के सटीक आंकड़े स्वत: प्राप्त हो जाएंगे। उन्होंने बताया कि प्राप्त आंकड़ों के आधार पर राज्य सरकार को व्यापक जनहित से संबंधित त्वरित फैसले लेने में सहूलियत होगी। श्री कुमार ने बताया कि मगध प्रमंडल, गया के तत्कालीन सहायक निबंधन महानिरीक्षक अजय कृष्ण मिश्र को सेवा से बर्खास्त कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि बैठक में कुल 12 प्रस्तावों को स्वीकृति प्रदान की गई है।

यह भी पढ़े  ईडी के आठवें नोटिस के बाद पूर्व सीएम हुई पूछताछ के लिए पेश,7 घंटे में राबड़ी से 55 सवाल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here