‘परिवार के अंदर व बाहर कोई वारिस नहीं खोज पाए लालू’ : सुशील मोदी

0
32

उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि संसदीय चुनाव से पहले जो कांग्रेस देशद्रोह कानून समाप्त करने की मंशा जाहिर कर टुकड़े-टुकड़े गैंग के साथ हो गई थी, उसे देशभक्त जनता ने बुरी तरह पराजित किया। श्री मोदी ने ट्वीट कर कहा कि ढाई महीने के दिखावटी आत्ममंथन के बाद पार्टी जब देशद्रोह और भ्रष्टाचार के समर्थन को हार के असली कारण के रूप में स्वीकार करने का साहस न दिखा पायी, तो गैर-गांधी अध्यक्ष का वादा तोड़ कर सोनिया गांधी की गोद में लौट आयी। बिहार में कांग्रेस के दोस्त राजद का भी यही हाल है। लालू प्रसाद न परिवार के भीतर राजनीतिक वारिस खोज पाये, न परिवार से बाहर। जम्मू-कश्मीर में धारा 370 निष्प्रभावी होने के बाद जब कांग्रेस लगातार पाकिस्तान की भाषा बोल रही है, तब देशभक्ति नहीं, केवल नेहरू-गांधी परिवार की भक्ति ही कांग्रेस की ब्रांड इक्विटी बची है। अधीर रंजन चौधरी का बयान परिवार भक्ति से भरा है, लेकिन यही सच है। परिवारवादी दलों के लिए जनता और देशहित का कोई मूल्य नहीं होता। श्री मोदी ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में हालात तेजी से सामान्य हो रहे हैं। शांतिपूर्ण बकरीद और उल्लास के साथ स्वाधीनता दिवस सम्पन्न होने के बाद राज्य में सोमवार से स्कूल खुलने जा रहे हैं। बेसिक टेलीफोन की सेवा बहाल की गई है। एक जिम्मेदार विपक्ष के नाते कांग्रेस को सकारात्मक बदलाव के लिए राज्यपाल की सराहना करनी चाहिए थी, लेकिन प्रियंका गांधी को देश में कहीं लोकतंत्र नजर नहीं आ रहा । वे क्यों भूल जाती हैं कि कांग्रेस ने ही 19 महीने तक इमरजेंसी लगायी थी।

यह भी पढ़े  राजद की पहचान लालू यादव से है और लालू यादव के साथ ही राजद समाप्‍त हो जायेगा:पप्पू यादव

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here