पटना विश्वविद्यालय छात्र संघ चुनाव: अध्यक्ष बने JDU के मोहित प्रकाश, ABVP के खाते में तीन सीटें

0
13

पटना यूनिवर्सिटी छात्र संघ के सेंट्रल पैनल के पांचों सीटों के चुनाव परिणाम आ गए हैं. इनमें से जेडीयू ने अध्यक्ष और कोषाध्यक्ष समेत दो सीटों पर जीत दर्ज की. वहीं एबीवीपी ने तीन सीटों पर कब्जा जमाया. एबीवीपी के खाते में महासचिव, संयुक्त सचिव और उपाध्यक्ष पद गया है.छात्र जेडीयू के मोहित प्रकाश ने अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् (एबीवीपी) के अभिनव को 1200 से अधिक मतों से मात दी है. कोषाध्यक्ष के रूप में छात्र जेडीयू के कुमार सत्यम चुने गए हैं.

एबीवीपी की अंजना सिंह उपाध्यक्ष चुनीं गई हैं. उन्होंने छात्र जदयू के आशीष पुष्कर को 400 वोटों से हराया है. वहीं मणिकांत मणि ने 300 मतों के अंतर से महासचिव के पद पर जीत दर्ज की है. संयुक्त सचिव के रूप में एबीवीपी के राजा रवि ने जीत हासिल की है.ससे पहले साइंस कॉलेज में पटना छात्रसंघ चुनाव की मतगणना देर से शुरू होने से भड़के छात्रों ने देर रात जमकर हंगामा और पथराव किया. मीडियाकर्मियों को रोके जाने से भी छात्र नाराज थे. पथराव के बाद पुलिस ने मोर्चा संभाला और उग्र छात्रों को साइंस कॉलेज गेट के पास से खदेड़ने के लिए लाठीचार्ज किया
इस तरह सेंट्रल पैनल के दो पदों पर छात्र जदयू और तीन पदों पर एबीवीपी के उम्मीदवार विजयी रहे। वाम दल, छात्र राजद, जन अधिकार छात्र परिषद का एक भी प्रत्याशी सेंट्रल पैनल में नहीं आ पाया।
इसके पहले रात 11 बजे काउंसलरों के चुनाव परिणाम की घोषणा कर दी गई। पटना विश्वविद्यालय के विभिन्न कॉलेजों और विभागों के 24 काउंसलरों में सर्वाधिक आठ पर निर्दलीय प्रत्याशी जीते हैं।
एबीवीपी और आइसा ने तीन-तीन, जन अधिकार छात्र परिषद और छात्र लोजपा ने दो-दो एवं एआइएसएफ और एनएसयूआइ ने एक-एक सीट पर जीत हासिल की। इसके पूर्व कड़ी सुरक्षा के बीच सुबह आठ बजे से छात्रसंघ चुनाव के लिए वोटिंग शुरू हुई, जो दोपहर बाद दो बजे तक चला था।

यह भी पढ़े  बाढ़ व सुखाड़ वाले क्षेत्रों के लिए विकसित किये गये धान के प्रभेद

पटना विविद्यालय छात्र संघ चुनाव अपराह्न दो बजे संपन्न हुआ। शाम चार बजे से साइंस कॉलेज केंद्र पर मतों की गिनती शुरू हुई। पटना कॉलेज के काउंसलर पद पर आईडीएफ समर्थित प्राची ने 252 वोट पाकर जीत हासिल की। वहीं, पटना वीमेंस कॉलेज में काउंसलर पद पर आईडीएफ समर्थित उम्मीदवार जुलेखा कलाम ने निर्विरोध जीत हासिल की। मिली जानकारी के अनुसार, वाणिज्य महाविद्यालय में काउंसलर पद पर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के उम्मीदवार अभिनव पांडेय ने 85 वोटों से जीत हासिल की। लॉ कॉलेज में काउंसलर पद से छात्र जदयू की उम्मीदवार हंसिका दयाल ने जीत हासिल की। मगध महिला कॉलेज में काउंसलर पद पर छात्र जदयू की खुशबू कुमारी ने जीत हासिल की। बीएन कॉलेज में काउंसलर के दो पदों के लिए चुनाव हुए जिन पर छात्र लोजपा के रौशन कुमार राजा ने 306 वोट और प्रियरंजन कुमार ने 296 वोट लाकर जीत दर्ज की। दरभंगा हाउस में एमएसडब्ल्यू संकाय से निर्दलीय उम्मीदवार गौतम गुंजन ने जीत हासिल की है।

यह भी पढ़े  आज से पॉलिथीन के इस्तेमाल पर प्रतिबंध,23 से लगेगा जुर्माना

पटना विविद्यालय छात्र संघ चुनाव में शिक्षक से लेकर कर्मचारियों तक को लगाया गया था। पर्यवेक्षकों की टीम में शिक्षकों को शामिल किया गया था। शिक्षकों की एक टीम विविद्यालय मुख्यालय में बैठ कर पूरी गतिविधियों पर नजर बनाये हुए थी। प्रो. खगेंद्र कुमार को मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी बनाया गया था। इनकी टीम प्रत्येक कॉलेज व विभागों से फोन के जरिये पल-पल की खबर लेती रही। वहीं, कुलपति प्रो. रासबिहारी प्रसाद सिंह अपने कक्ष में बैठ कर संपूर्ण चुनाव प्रक्रिया पर नजर बनाये हुए थे। कर्मचारियों की टीम को मतदान केंद्र से लेकर मतगणना केंद्र तक लगाया गया था। चुनाव कमेटी में शामिल शिक्षकों और कर्मचारियों ने वैलेट बॉक्स को पुलिस के सहयोग से मतगणना केंद्र साइंस कॉलेज तक पहुंचाया।

छिटफुट अप्रिय वारदातों के बीच पटना विविद्यालय छात्र संघ चुनाव के लिए मतदान बुधवार को संपन्न हुआ। कुल 58 फीसद वोट पड़ने की सूचना है। पूरे विविद्यालय में इसके लिए कुल 46 बूथ बनाये गये थे। मतदान सुबह आठ बजे से अपराह्न दो बजे तक हुआ। साइंस कॉलेज केंद्र पर दहशत फैलाने के लिए असामाजिक तत्वों द्वारा फायरिंग किये जाने की जानकारी मिली है, हालांकि मतदान प्रक्रिया पर इसका कोई असर नहीं पड़ा। वहीं, बीएन कॉलेज में मारपीट की घटनाएं हुई। मारपीट को लेकर पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष दिव्यांशु भारद्वाज पर एफआईआर दर्ज कराये जाने की सूचना है। लॉ कॉलेज में चार फर्जी वोटरों को हिरासत में लिया गया। पुलिस ने आइसा के राज्य अध्यक्ष मोख्तार को गिरफ्तार किया, बताया गया है कि वे पटना कॉलेज में बोगस वोटिंग का विरोध कर रहे थे। पुसु चुनाव 2018-19 के लिए सुबह आठ बजे जैसे ही मतदान की प्रक्रिया शुरू हुई, साइंस कॉलेज केंद्र पर फायरिंग की गयी। बताया जाता है कि एक संगठन के संयुक्त उम्मीदवार द्वारा दहशत फैलाने के लिए फायरिंग की गयी। हालांकि इस फायरिंग का मतदान पर कोई असर नहीं पड़ा। छात्र-छात्राओं ने कतार में खड़े होकर अपने मताधिकार का प्रयोग किया। फायरिंग को देखते हुए साइंस कॉलेज की सुरक्षा और कड़ी कर दी गयी। हालांकि पुलिस प्रशासन ने फायरिंग से इनकार किया है। बीएन कॉलेज में सुबह साढ़े आठ बजे के करीब छात्र जदयू और छात्र लोक समता के समर्थकों के बीच मारपीट हुई। बीएन कॉलेज में ही छात्र जदयू और छात्र लोजपा के समर्थकों में भी मारपीट हुई। मारपीट की घटना के बाद पुलिस सुरक्षा बढ़ा दी गयी। मारपीट को लेकर छात्र जदयू के नेता व पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष दिव्यांशु भारद्वाज पर प्राथमिकी किये जाने की सूचना है। यह प्राथमिकी छात्र लोक समता द्वारा की गयी है। पटना कॉलेज में बोगस वोटिंग का विरोध करने पर पुलिस ने आइसा के राज्य अध्यक्ष मोख्तार को गिरफ्तार किया गया। वहीं, लॉ कॉलेज में चार फर्जी वोटरों को हिरासत में लिया गया।

यह भी पढ़े  आज होगी भाकपा राज्य कार्यकारिणी की बैठक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here