पटना में होगा भारत प्रक्षेत्र का राष्ट्रमंडल संसदीय सम्मेलन

0
61

बिहार में पहली बार भारत प्रक्षेत्र का राष्ट्रमंडल संसदीय सम्मेलन होगा। इसमें सभी राज्यों के विधानसभा अध्यक्ष और विधान परिषद सभापति जुटेंगे। पटना में 17 और 18 फरवरी को होने वाले इस सम्मेलन में संसदीय परंपरा के साथ-साथ उसके विभिन्न आयामों पर र्चचा होगी। ऐसे सम्मेलन की शुरुआत तो 16 फरवरी को ही हो जायेगी, लेकिन उस दिन सिर्फ बैठक होगी। 17 फरवरी को ज्ञान भवन में कार्यक्रम होगा, जबकि 18 फरवरी को विधानसभा में सारे लोग जुटेंगे। यह पहला अवसर होगा जब नौ रीजन में से एक भारत रीजन का सम्मेलन पटना में होगा। लोकसभा के तत्वावधान में इस सम्मेलन का आयोजन होगा लेकिन इसकी जिम्मेवारी बिहार विधानसभा को सौंपी गयी है। सम्मेलन के दौरान लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन विधानसभा में मौजूद रहेंगी। इस अवधि में विधानसभा अध्यक्ष का कमरा अस्थायी रूप से लोकसभा अध्यक्ष का चेंबर होगा जबकि विधानसभा सचिव का कमरा लोकसभा के महासचिव का कक्ष बनेगा। लोकसभा के महासचिव अकबर खान भी सम्मेलन में शामिल होंगे।सम्मेलन के दूसरे दिन विधानसभा के सदन में बैठक होगी। इसके लिए विधानसभा को विशेष रूप से तैयार किया जा रहा है। नयी साज-सज्जा और रंगरोगन से इसे नया रूप दिया जा रहा है। यही नहीं सम्मेलन के प्रचार-प्रसार की भी पूरी तैयारी है। राजधानी पटना में विशेष रूप से होर्डिग्स लगाये जाएंगे, जिसमें इसकी पूरी जानकारी होगी। विस अध्यक्ष विजय चौधरी ने कहा कि बिहार में राष्ट्रमंडल संसदीय सम्मेलन का आयोजन नया अनुभव होगा। इससे हमें बहुत कुछ सीखने का भी अवसर मिलेगा। सम्मेलन में मुख्यमंत्री , उपमुख्यमंत्री मोदी शामिल होंगे। विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव को भी आमंतण्रभेजा जायेगा।

यह भी पढ़े  मानव श्रृंखला को लेकर लोगों में भारी उमंग : प्रमंडलीय आयुक्त

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here