पटना एयरपोर्ट पर महज नौ घंटे में बर्ड हिट के कारण दो बड़ी विमान दुर्घटनाएं होते-होते बचीं

0
26
पटना  : पटना एयरपोर्ट पर शनिवार को महज नौ घंटे में बर्ड हिट के कारण दो बड़ी विमान दुर्घटनाएं होते-होते बचीं. सुबह स्पाइस जेट और शाम को इंडिगो एयरलाइंस की फ्लाइट रनवे पर उतरने से कुछ समय पहले ही हवा में पक्षी से टकरा गयी. इससे तेज झटके के साथ दोनों विमान हवा में लड़खड़ाने लगे, इसकी वजह से विमान में  बैठे यात्रियों की जान जोखिम में पड़ गयी. यात्रियों की सांसें थम सी गयीं. हालांकि क्रू टीम ने सूझ-बूझ और दक्षता से दोनों विमानों को रनवे पर सफलतापूर्वक उतार लिया. इस तरह बड़ी दुर्घटना टालने में क्रू टीम सफल हो गयी.
फ्लाइट  रद्द होने पर यात्रियों ने किया हंगामा : बर्ड हिट के शिकार हुए  विमान को पार्किंग बे में खड़ा कर उसके यात्रियों को SG731 से कोलकाता भेजा गया. SG731 फ्लाइट SG767 बनकर हैदराबाद होते हुए चेन्नई तक जाती है. लिहाजा उसके कोलकाता जाने के कारण फ्लाइट SG767 को रद्द करना पड़ा. SG767 ही फ्लाइट SG768 बन कर चेन्नई से हैदराबाद होते हुए पटना अाती है. लिहाजा यह भी रद्द हो गयी. फ्लाइट संख्या SG767 के रद्द होने की सूचना उसके यात्रियों को एसएमएस के माध्यम से दी गयी. लेकिन कई   यात्री  इससे पहले ही पटना एयरपोर्ट पहुंच गये थे. ऐसे यात्रियों ने फ्लाइट रद्द करने का  विरोध करते हुए  जमकर हंगामा किया. बाद में स्पाइस जेट ने इन्हें अन्य फ्लाइट से भेजने की व्यवस्था की या अगले दिन का टिकट रिशिडयूल किया. दुर्घटनाग्रस्त विमान की मरम्मत के बाद रात 9.30 बजे उसे हैदराबाद भेजा गया.

मरम्मत के बाद वापस जायेगा दुर्घटनाग्रस्त विमान

पटना आनेवाली फ्लाइट 6E508 बनकर वापस दिल्ली जाता है. अलबत्ता विमान के बर्ड हिट का शिकार होने की वजह  दिल्ली जाने वाली फ्लाइट को रद्द करना पड़ा. उसके सभी  यात्री पटना एयरपोर्ट  पर पहुंच चुके थे, उन्होंने  फ्लाइट रद्द होने की जानकारी मिलते ही हंगामा शुरू कर दिया.  बाद में कुछ  यात्रियों को रविवार के लिए रिशिडयूल कर दिया, जबकि कुछ यात्रियों को गो एयर और  स्पाइस जेट के विमानों से भेजने की व्यवस्था करके हंगामा शांत कराया गया. यह घटनाक्रम  रात के  नौ बजे तक चला. जानकारी के मुताबिक बर्ड हिट के शिकार   विमान की देर रात तक मरम्मत चली. उसके इंजन के ब्लेड को बेस स्टेशन से मंगवाया गया था. रविवार को विमान की मरम्मत के बाद वापस जाने की संभावना है.
बहुत खतरनाक होता है बर्ड हिट
पक्षी का वजन एक से तीन किलो के बीच होता है जबकि कमर्शियल फ्लाइट के रूप में इस्तेमाल होने वाले एयरबस 320 और बोईंग 737 जैसे मंझोले विमानों का वजन फ्यूल सहित 70 से 75 टन होता है. ऐसे में यह सोचकर सहज विश्वास नहीं होता कि एक बर्ड हिट भी बड़ी दुर्घटना की वजह बन सकता है. हालांकि  ऐसा होता है, क्योंकि दो वस्तुओं के टकराव से होने वाला नुकसान उनके वजन की बजाय संवेग पर निर्भर करता है. पक्षी का वजन कम होता है,
लेकिन तेज गति से उड़ने के कारण उसका संवेग (द्रव्यमान व वेग का गुणनफल) बहुत बढ़ जाता है. विमान का द्रव्यमान और वेग दोनों अधिक होने से संवेग वैसे भी बहुत ज्यादा होता है. ऐसे में टकराव से इतनी ऊर्जा पैदा होती है कि पक्षी का शरीर बंदूक के गोली की तरह  विमान के ढांचे में छेद करता हुआ  घुस  जाता है. विमान के अलग-अलग भागों से पक्षी के टकराने पर उसका अलग-अलग असर होता है.  इंजन से टकराने पर वह बंद हो जाती है जबकि कॉकपिट से टकराने पर उसका कांच टूट जाता है. विमान के अग्रभाग(थूथने) से टकराने पर उसका संतुलन बिगड़ने का खतरा रहता है.

यह भी पढ़े  हाईकोर्ट के पास हुआ हादसा

50 हजार से अधिक  के फोड़े जाते पटाखे
पटना एयरपोर्ट पर रनवे के आसपास पक्षियों की विशेष रूप से निगरानी की जाती है. वहां आमतौर पर पक्षियों की संख्या 10-20 के आसपास होती है. पक्षियों की संख्या 30-40 होने और कौवा, कबूतर के साथ उनमें चील जैसी बड़ी और ऊंचाई पर उड़ने वाली पक्षियों के शामिल होने के साथ ही पटाखा फोड़ कर उन्हें उड़ा दिया जाता है. इसके लिए विशेष रूप से टेंडर जारी किये जाते हैं.  हर महीने 50 हजार से लाख रुपये के बीच केवल पटाखों पर खर्च करना पड़ता है. फिर भी एक दिन में दो-दो बर्ड हिट हो गये.

झटके के साथ विमान हवा में लड़खड़ाये, यात्रियों की थमीं सांसें
पहला बर्ड हिट
सुबह 8:11
मुंबई से पटना आने वाली स्पाइस जेट की फ्लाइट SG371 रनवे पर लैंड करने वाली थी. विमान की गति 120 नॉटिकल मील और ऊंचाई रनवे से लगभग दो सौ फीट थी. तभी एक छोटा पक्षी  विमान के बायें डायने से टकरा गया. संयोग था कि विमान डायने में लगे जेट इंजन से नहीं उसके बगल में टकराया, जिससे इंजन को क्षति नहीं पहुंची. पायलट ने पहले तो होशियारी दिखाते हुए विमान को असंतुलित होने से बचाया. इसके बाद पायलट पूरी दक्षता के साथ विमान को रनवे पर सुरक्षित रूप से उतारने में सफल रहा. इस प्रकार विमान में सवार 188 यात्रियों की जान बची.
दूसरा बर्ड हिट
 शाम 5:10
इंडिगो की दिल्ली से पटना आने वाली फ्लाइट  6E653 पटना एयरपोर्ट पर लैंड कर रही थी. विमान की गति 140 नॉटिकल मील के आसपास थी. वह जमीन को छूने ही जा रही थी कि  रनवे से 300 फीट ऊपर एक बड़़ी चील  विमान से टकरा गयी. विमान के बायें इंजन के भीतर घुस जाने के कारण उसका एक ब्लेड टूट गया, जिससे एकबारगी विमान हवा में लड़खड़ाया. लेकिन क्रू टीम की सूझबूझ के कारण विमान को रनवे पर उतारने में सफलता मिल गयी. कुल मिलाकर  विमान में बैठे 177 यात्रियों की जान बच गयी.
एक वर्ष में हुए बर्ड हिट
17 नवंबर, 2017 : इंडिगो की फ्लाइट 6E1707 चेन्नई से दोहा जा रही थी. बर्ड हिट के बाद उसे इमरजेंसी लैंडिंग लेनी पड़ी.
21 सितंबर, 2017 : कोलकाता से बैंकाक जा रहे विमान के पायलट को  उड़ने के आधे घंटे बाद विमान से पक्षी टकराने का एहसास हुआ और वापस कोलकाता लौटना पड़ा.
16 जुलाई, 2017 : रांची एयरपोर्ट पर टेक ऑफ से पहले दौड़ते समय एयर एशिया के एक विमान के इंजन से पक्षी टकरा गया और पायलट को इमरजेंसी ब्रेक लगा कर विमान को रोकना पड़ा.
सुबह  छोटा पक्षी जबकि शाम को टकरायी चील
सुबह  कोई छोटा पक्षी स्पाइस जेट के विमान से टकराया था जबकि शाम को इंडिगो के विमान से एक बड़ी चील टकरा गयी. स्पाइस जेट के बर्ड हिट ग्रस्त विमान  की मरम्मत हो गयी है जबकि इंडिगो की रविवार तक मरम्मत हो जायेगी.
संतोष कुमार, एजीएम एटीसी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here