पंजाब नेशनल बैंक के मुख्य आरोपी नीरव मोदी के खिलाफ बड़ी कार्रवाई

0
48

पंजाब नेशनल बैंक के मुख्य आरोपी नीरव मोदी के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की गई है. एनफोर्समेंट डायरेक्टोरेट (ईडी) ने 4 देशों में नीरव मोदी के खिलाफ कार्रवाई की है. इस कार्रवाई में ईडी ने 5 विदेशी बैंक खाते को जब्त किया है, जिसमें 278 करोड़ रुपए की संपत्ति जमा थी. इसके अलावा कुछ ज्वेलरी और मुंबई का घर भी सीज किया गया है. खास बात यह है कि इस कार्रवाई में एक बड़ा खुलासा हुआ है. ईडी को दरअसल यह पता लग गया है कि पंजाब नेशनल बैंक से किए गए घोटाले की रकम का इस्तेमाल नीरव मोदी ने कहां किया है.

13400 करोड़ रुपए के पंजाब नेशनल घोटाले में ईडी को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है. ईडी ने जानकारी दी है कि नीरव मोदी ने घोटाले की रकम का इस्तेमाल लंदन और अमेरिका में किया था. घोटाले की रकम से यहां प्रॉपर्टी खरीदी गई थी. खास बात यह है कि नीरव मोदी के खिलाफ एफआईआर दर्ज होने के बाद भी करोड़ों के जेवरात हॉन्ग-कॉन्ग भेजे गए थे. इस मामले में कार्रवाई करते हुए ईडी ने 637 करोड़ रुपए की चल-अचल संपत्ति अटैच की है.

यह भी पढ़े  चीन में फिर मिलेंगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और शी जिनपिंग, पाकिस्तान पर भी होगी बात!

न्यूयॉर्क में अटैच की गई संपत्ति
ईडी ने अमेरिका के न्यूयॉर्क शहर में कार्रवाई के दौरान नीरव मोदी से संबंधित 216 करोड़ रुपए की दो अचल संपत्ति अटैच की हैं. इसके अलावा लंदन के मैराथन हाऊस में नीरव मोदी की बहन पूर्वी मोदी का लगभग 57 करोड़ रुपये का फ्लैट अटैच किया गया है. सिंगापुर में पू्र्वी मोदी और मंयक मेहता का बैंक खाता अटैच किया गया है. इस खाते में 44 करोड़ रुपये की राशि जमा थी. ये खाता ब्रिटिश वर्जिन आईलैंड की एक कंपनी के नाम पर था. नीरव मोदी और पूर्वी मोदी से संबंधित पांच अन्य खाते भी अटैच किए गए हैं. इन खातों में 278 करोड़ रुपये का बैंलेस मौजूद था.

मुंबई का फ्लैट भी सीज
नीरव मोदी के ठिकानों का पता लगाने में जुटी ईडी को बड़ी कामयाबी तब हाथ लगी जब दक्षिण मुंबई में पूर्वी मोदी का घर भी सीज कर दिया गया. साउथ मुंबई में विकसित इस फ्लैट की कीमत करीब 19.5 करोड़ रुपये है, इसे ईडी ने अपने कब्जे में कर लिया है.

यह भी पढ़े  स्वतंत्रता दिवस पर लंदन ने भारत को दिया यह 'अनमोल' तोहफा

हॉन्ग-कॉन्ग से वापस मंगाई ज्वेलरी
ईडी ने कार्रवाई के दौरान हॉन्ग-कॉन्ग से 22 करोड 69 लाख की ज्वेलरी वापस मंगाई है. इस ज्वेलरी को भी ईडी ने सीज कर दिया है. ज्वेलरी की कीमत को कागजों में 85 करोड़ रुपए दिखाया गया था. नीरव मोदी ने यह अचल संपत्तियां साल 2017 में खरीदी थी. ईडी को शक है कि ये संपत्तियां घोटाले के पैसे से खरीदी गई थी. आपको बता दें, कुछ दिन पहले ही ईडी ने नीरव मोदी के खिलाफ पांच अलग-अलग अटैचमैंट आदेश जारी किए थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here