न्यू फरक्का एक्सप्रेस बेपटरी बिहार के पांच लोगों की मौत

0
43

मुख्यमंत्री एवं पूर्व रेल मंत्री नीतीश कुमार ने रायबरेली के निकट हरचंदपुर स्टेशन पर फरक्का एक्सप्रेस पटरी से उतरने की दुर्घटना में मारे गये यात्रियों के परिजनों के प्रति आज गहरी शोक संवेदना व्यक्त की। नीतीश ने दुर्घटना में बिहार के मृतकों के परिजन को तत्काल दो-दो लाख रुपये तथा घायलों को 50-50 हजार रुपये अनुग्रह अनुदान देने का निर्देश दिया। इस हादसे में मुंगेर जिले के चार एवं किशनगंज जिले के एक यात्री की मौत होने की सूचना है। उन्होंने आपदा प्रबंधन विभाग एवं राज्य रेल मुख्यालय को निर्देश दिया कि रेलवे अधिकारियों एवं जिला प्रशासन से तत्काल समन्वय करते हुए राहत कार्य तथा घायलों के शीघ्र समुचित इलाज की दिशा में अपेक्षित कार्य सुनिश्चित करायें। मुख्यमंत्री ने शोक संतप्त परिजनों को धैर्य धारण करने की शक्ति प्रदान करने की ईर से प्रार्थना की है। नीतीश ने दुर्घटना में बिहार के मृतकों के परिजन को तत्काल दो-दो लाख रुपये तथा घायलों को 50-50 हजार रुपये अनुग्रह अनुदान देने का निर्देश दिया। उन्होंने इस दुर्घटना में घायल हुये लोगों के शीघ्र स्वस्थ होने की भी ईर से कामना की है। गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल के मालदा टाउन से दिल्ली जा रही 14003 फरक्का एक्सप्रेस उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से 65 किलोमीटर दूर हरचंदपुर स्टेशन के आउटर पर गलत ट्रैक पर चले जाने के कारण सुबह करीब छह बज कर पांच मिनट पर हादसे का शिकार हो गई। इस दौरान इंजन एवं नौ डिब्बे पटरी से उतर गए, जिसमें कम से कम छह यात्रियों की मौत हो गई और 21 से अधिक घायल हुए हैं, जिनमें छह की हालत गंभीर है।
द रायबरेली (एसएनबी)।उत्तर प्रदेश के रायबरेली जिले में हरचंदपुर स्टेशन के निकट बुधवार को 14003 न्यू फरक्का एक्सप्रेस ट्रेन के इंजन एवं नौ डिब्बे पटरी से उतर गए। इससे कम से कम सात लोगों की मौत हो गयी और 34 से अधिक घायल हो गए। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि लखनऊ से 65 किलोमीटर दूर हरचंदपुर स्टेशन के आउटर पर तड़के छह बजकर 50 मिनट पर यह हादसा उस समय हुआ जब तेज रफ्तार रेलगाड़ी का इंजन और सात डिब्बे एक के बाद एक पटरी से उतरते चले गये। इन डिब्बों में एक सामान्य बोगी और छह स्लीपर शामिल हैं। इस हादसे में अब तक सात यात्रियों के मारे जाने की आधिकारिक पुष्टि की जा चुकी है। हालांकि प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार मृतकों की तादाद 15 से अधिक है और 100 से अधिक यात्री घायल हुये हैं। सूत्रों ने बताया कि इंजन के ठीक बाद लगी सामान्य बोगी मे हताहतों की तादाद सर्वाधिक है। एस-5 से एस-10 बोगियां पटरी से उतरी हैं जबकि एस-5 बोगी एस-6 के ऊपर चढ़ गई। हताहतों को क्षतिग्रस्त बोगी से निकालने के लिये गैस कटर की मदद ली गयी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इस रेलदुर्घटना के कारण मारे गये लोगों के परिजनों के प्रति शोक संवेदना व्यक्त की है और घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार, रेलवे और राष्ट्रीय आपदामोचन बल हर संभव सहायता मुहैया करा रहे हैं। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने घटना की रेल संरक्षा आयुक्त (उत्तर प्रक्षेत्र)से जांच कराने तथा दुर्घटना में मारे गए लोगों के परिजनों को पांच लाख रपए और एक लाख रपए गंभीर रूप से घायलों को तथा मामूली घायलों को 50 हजार रपए देने की घोषणा की है।

मृतकों की सूची
– शंभु (25), पुत्र मोहन, कौरिया किशनपुर, हवेली खड़गपुर, मुंगेर
– सुनीता, पत्नी मोहन, कौरिया किशनपुर, हवेली खड़गपुर, मुंगेर
– रीता (1), पुत्री मोहन, कौरिया किशनपुर, हवेली खड़गपुर, मुंगेर
– दिनेश मांझी (7) पुत्र रसिकलाल मांझी, लक्ष्मीपुर, हवेली खड़गपुर, मुंगेर
– अजय कुरी (45) पुत्र घुतकानंद पुरी, भागकजलेटा, किशनगंज
नौ लाख मिलेगा मुआवजा
बिहार सरकार : मृतकों के परिजनों को दो-दो लाख रुपये और घायलों को 50-50 हजार रुपये.
रेलवे : मृतकों के परिजन को पांच-पांच लाख, गंभीर घायलों को एक-एक लाख व जख्मी को 50-50 हजार रुपये.
यूपी सरकार : मृतकों के परिजन को दो-दो लाख रुपये और घायलों को 50-50 हजार रुपये.
यह भी पढ़े  सरे राह दो को मारी गोली एक कि मौत दूसरा घायल लुटे 35 लाख

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here