न्याय के साथ विकास मेरी पहली प्राथमिकता :मुख्यमंत्री

0
42
चुनावी सभा में जाते मुख्यमंत्री नीतीश कुमार व डिप्टी सीएम मोदी

भभुआ- मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने उत्तर प्रदेश उप चुनाव में समाजवादी पार्टी (सपा) और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के बढ़ती नजदीकियों पर तंज कसते हुए आज कहा कि ऐसा लगता है कि बसपा प्रमुख मायावती ने ‘‘लखनऊ गेस्ट हाउस’ कांड को पूरी तरह भुला दिया है। सीएम ने यहां भभुआ विधानसभा सीट के लिए हो रहे उप चुनाव के प्रचार के दौरान सभा को संबोधित करते हुए कहा कि गेस्ट हाउस कांड के बाद सुश्री मायावती को केवल पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी और पूर्व गृहमंत्री लाल कृष्ण आडवाणी की याद आई थी। (विस्तार से पेज-11 पर)कांग्रेस की तत्कालीन अध्यक्ष सोनिया गांधी उनके दिमाग में नहीं थी। मुख्यमंत्री ने कहा कि वह केवल काम करने में जबकि विपक्षी तकरार में विास करते हैं। कोई भी इलाका उपेक्षित न रहे, इसलिए हर क्षेत्र में विकास का काम हो रहा है। उन्होंने कहा, ‘‘मेरी सरकार का उद्देश्य न्याय के साथ विकास करना है। हम नंवबर 2005 से न्याय के साथ विकास कर रहे हैं। इस दौरान हमने किसी भी क्षेत्र, जाति और धर्म के साथ भेदभाव नहीं किया। हम राज्य में विकास के लिए किये गये काम के आधार पर लोगों से वोट मांगते हैं जबकि कुछ लोग ऐसे हैं जो वोट पाने के लिए केवल अनर्गल बयान देते रहते हैं।
जहानाबाद (एसएनबी)। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राज्य के विकास को पहली प्राथमिकता बताते हुए हर तबके को इसका लाभ देने की बात दोहरायी।राजग प्रत्याशी अभिराम शर्मा के समर्थन में शकुराबाद एवं नेहालपुर में गुरुवार को आयोजित चुनावी सभा में मुख्यमंत्री ने कहा कि न्याय के साथ विकास हमारी प्रथम प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि हम हर घर में नल का जल तथा हर गांव में बिजली, सड़क सिंचाई व स्वास्य सुविधाएं उपलब्ध कराना हमारी प्राथमिकता होगी। इस दौरान मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि मैं कभी अत्याचार बर्दाशत नहीं कर सकता। हमने सभी जातियों, धर्मो व समुदायों के लोगों को साथ लेकर चलने का काम किया है। भ्रष्टाचार से हमने समझौता नहीं किया, इसलिए हमने भाजपा के साथ जाने का फैसला किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में शराबबंदी का निर्णय लेने से पहले हमने सोचा था कि इससे गरीबों के घर आबाद होंगे। जब यह लागू हुआ तो उसके सकारात्मक परिणाम भी सामने आये। वैसे लोग जो शराब के पीछे अपनी गाढ़ी कमाई लुटा रहे थे, अब वे पैसे बच रहे हैं। इस मौके पर उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने विरोधियों को आड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा कि राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद को मैंने नहीं फंसाया। लालूजी को अपनी करनी का फल मिला है। मैंने तो लालू के मामले को उजागर करने का काम किया है। मैंने उन्हें जेल नहीं भेजवाया। 

यह भी पढ़े  पटना विश्वविद्यालय छात्र संघ के अध्यक्ष-उपाध्यक्ष का निर्वाचन रद्द

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here