न्यायपालिका में वंचितों को मिले भागीदारी : उपेन्द्र कुशवाहा

0
49
SK MEMORIAL ME SAMRAT ASHOK KI JAYANTI SAMAROH ME UPENDRA KUSHWAHA

राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (उपेंद्र गुट) के राष्ट्रीय अध्यक्ष व केंद्रीय मानव संसाधन विकास राज्य मंत्री उपेंद्र कुशवाहा ने कहा कि जब तक न्यायपालिका में वंचित तबकों की भागीदारी नहीं होगी, इनका विकास नहीं हो सकता है। न केवल एससी/एसटी या ओबीसी, गरीब ब्राrाण का लड़का भी आज चाहे तो जज नहीं बन सकता है। ठेला-रिक्शा चलाने वाले या गरीब परिवार का लड़का हाई कोर्ट या सुप्रीम कोर्ट में जज बनने की सोच भी नहीं सकता है। सुप्रीम कोर्ट ेत पत्र जारी करे कि आजतक अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति और पिछड़े वर्ग के कितने लोग सुप्रीम कोर्ट और हाई कोटरे में न्यायाधीश बने हैं। श्री कुशवाहा शनिवार को पार्टी की ओर से श्रीकृष्ण मेमोरियल हॉल में आयोजित सम्राट अशोक की जयंती समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि न्यायपालिका में वंचित तबकों की स्थिति पर रिपोर्ट जारी की जानी चाहिये कि किस सामाजिक समूह की कितनी भागीदारी है। उन्होंने कहा कि रालोसपा शिक्षा सुधार कार्यक्रम चलाती रहेगी। यह कोई राजनीतिक कार्यक्रम नहीं, राष्ट्रहित से जुड़ा है। 11 अप्रैल को राज्य के सभी कस्तूरबा विद्यालयों में पार्टी के कार्यकर्ता पुस्तकें वितरित करेंगे। इसके साथ ही पार्टी न्यायपालिका में वंचित वगरे की भागीदारी के लिए ‘‘हल्ला बोल, दरवाजा खोल’ कार्यक्रम चलायेगी। उन्होंने बिहार में अशोक राज की स्थापना करने पर जोर देते हुए पटना का नाम पाटलिपुत्र करने की मांग की। वहीं रालोसपा की राष्ट्रीय महासचिव मालती सिंह कुशवाहा ने कहा कि देश में रामराज्य लाने से पहले जरूरी है कि ‘‘अशोक राज्य’ की स्थापना हो तभी भेदभाव रहित सशक्त राष्ट्र की संकल्पना साकार होगी। उन्होंने ऐतिहासिक तयों के साथ हो रहे छेड़छाड़ का विरोध करते हुए कहा कि सम्राट अशोक की कीर्ति को मिटाने का कुत्सित प्रयास कभी सफल नहीं होगा। समारोह की अध्यक्षता प्रदेश अध्यक्ष भूदेव चौधरी ने की। सांसद रामकुमार शर्मा, विधायक सुधांशु शेखर, विधान पार्षद संजीव श्याम सिंह, कार्यकारी राष्ट्रीय अध्यक्ष नागमणि, दशई चौधरी, श्रीभगवान सिंह कुशवाहा, रामबिहारी सिंह, मालती कुशवाहा, राजेश यादव, वीरेंद्र कुशवाहा, शंकर झा आजाद, मधु मंजरी, उर्मिला पटेल, शंकर झा, सत्यनांद दांगी आदि ने भी विचार रखे। इस मौके पर फजल इमाम मलिक, जीतेंद्रनाथ,भोला शर्मा,कुंदन प्रकाश आदि नेता भी मौजूद थे।

यह भी पढ़े  राज्य मंत्रिपरिषद की बैठक में 19 प्रस्ताव पर मुहर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here