नीतीश में थोड़ी शर्म है तो इस्तीफा दें : विपक्ष

0
35
PATNA R J D OFFICE MEIN PRESS KO SAMBODHIT KERTE SHIWA NAND TIWARI

राजद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने भी जोरदार हमला बोला है। उन्होंने सीएम नीतीश कुमार को इस मामले पर आड़े हाथों लिया है। शिवानंद तिवारी ने कहा कि मुजफ्फरपुर की घटना पर पटना हाईकोर्ट के अलावा सुप्रीम कोर्ट भी स्वत: सुनवाई कर रहा है। शिवानंद तिवारी ने कहा कि जिस तरह से सुप्रीम कोर्ट ने टिप्पणी की है और फटकार लगाई है। ऐसे में तो नीतीश सरकार को शर्म से डूब मरना चाहिए। शिवानंद तिवारी ने कहा कि मुख्यमंत्री बनने के बाद नीतीश कुमार ब्रजेश ठाकुर के निजी कार्यक्रम में किस रिश्ते से गए थे।शिवानंद ने बुधवार को संवाददाता सम्मेलन में कहा कि जो तय सामने आये हैं उससे साफ है नीतीश कुमार भी उनके सरपरस्त हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि ब्रजेश ठाकुर को जो भी काम मिला वो नीतीश सरकार में ही दिया गया। उन्होंने कहा कि हाईकोर्ट ओर सुप्रीम कोर्ट में राजद याचिका दायर कर जानकारी मांगेगा कि सभी एनजीओ किसके नाम से हैं और कब मिला। शिवानंद तिवारी यहीं नहीं रुके उन्होंने जदयू नेता संजय झा पर भी हमला बोला। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जब भी मधुबनी जाते है तो संजय झा के घर में रहते हैं और संजय झा के करीबी को भी सेल्टर होम का काम मिला। शिवानंद तिवारी ने आरोप लगाया कि मुजफ्फरपुर कांड की पूरी जानकारी पहले से नीतीश कुमार को थी लेकिन वो चुप रहे। शिवानंद तिवारी ने कहा कि उन्हें मालूम है कि नीतीश कुमार इस्तीफा देने वाले नही हैं। फिर भी अगर नीतीश कुमार को थोड़ी शर्म है तो अभी वे इस्तीफा दें।

यह भी पढ़े  दलित राजनीति को मांझी देंगे दिल्ली से धार

भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के राष्ट्रीय सचिव के नारायणा ने कहा कि ‘‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ का नारा देनी बाली भाजपा शासन में बिहार से लेकर उत्तर प्रदेश तक बेटियां सुरक्षित नहीं है। मुजफ्फरपुर से लेकर देवरिया तक बालिका सुधार गृहों में बेटियों के साथ यौन शोषण जारी है। बेटियों की सुरक्षा की जिम्मेवारी राज्य के मुख्यमंत्री की है। इसलिए नैतिकता के आधार पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ तत्काल अपने पद से इस्तीफा दें। भाकपा राष्ट्रीय सचिव दो दिवसीय राज्य कार्यकारिणी की बैठक के बाद बुधवार को यहां संवाददाता सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी ने मुजफ्फरपुर यौन शोषण मामले को राष्ट्रीय शर्म मानते हुए घटना की तीव्र निंदा की है। उन्होंने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार के हाथों में देश सुरक्षित नहीं है। केंद्र सरकार की आर्थिक नीतियां पूरी तरह विफल साबित हुई हैं। केंद्र की मोदी सरकार की उलटी गिनती शुरू हो गयी है। केंद्र सरकार जनविरोधी नीतियों को लागू कर रही है। इसके खिलाफ भाकपा ने राष्ट्रव्यापी आंदोलन तेज करने का निर्णय लिया है। पार्टी द्वारा सितम्बर-अक्टूबर में देश के चार स्थानों से ‘‘देश बचाओ संविधान बचाओ’ जत्था निकाला जायेगा। उन्होंने केंद्र की मोदी सरकार पर सीबीआई, निर्वाचन आयोग, सुप्रीम कोर्ट सहित संवैधानिक संस्थाओं को कमजोर करने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि पार्टी ने दलितों, आदिवासियों, महिलाओं और अल्पसंख्यकों के सवालों को लेकर आंदोलन तेज करने का निर्णय लिया है। केंद्र की मोदी सरकार अपना कोई वादा पूरा नहीं कर पायी है। न ही बेरोजगारों को रोजगार मिला और न ही विदेशों से कालाधन ला पायी। उल्टे नीरव मोदी, विजय माल्या सहित कई बड़े पूंजीपति बैंकों के पैसे लेकर विदेश भाग गये। भाजपा शासनकाल में पेट्रोलियम पदार्थो की कीमतें आसमान छूने लगी हैं,जबकि अंतरराष्ट्रीय बाजार में तेल की कीमत कम है। पेट्रोल-डीजल की कीमत बढ़ने से आमलोगों के उपयोग की वस्तुएं महंगी हो गयी हैं। सरकार महंगाई रोकने में पूरी तरह विफल साबित हो रही है। मोदी सरकार की आर्थिक और विदेश नीति पूरी तरह ध्वस्त हो चुकी है। घरेलू मोर्चे पर पर भी सरकार असफल साबित हो रही है। भाकपा राष्ट्रीय सचिव ने कहा कि मोदी सरकार की आर्थिक नीतियां पूरी तरह फेल हो चुकी हैं। बैंकों के 80 हजार करोड़ रुपये डूब गये हैं। पंजाब नेशनल बैंक संिहत कई बैंक दिवालिया होने के कागार पर पहुंच गये हैं। उन्होंने कहा कि भारतीय मुद्रा डॉलर के आगे घुटने टेक चुका है। एक डालर की कीमत 70 रुपये के बराबर हो गयी है।भाकपा राज्य सचिव सत्यनारायण सिंह ने कहा कि बैठक में 25 अक्टूबर को गांधी मैदान में भाजपा भगाओ देश बचाओ रैली की तैयारी की समीक्षा की गयी। रैली में दो लाख लोगों को उतारने की योजना बनायी एक गयी है। अक्टूबर महीने में जिला,अंचल और जोन की विस्तारित बैठक होगी। एक से 10 सितम्बर तक कोष संग्रह अभियान चलाया जायेगा। एक से 20 सितम्बर तक पदयात्रा निकाली जायेगी। 21 से 28 सितम्बर तक राज्य में आठ जीप जत्था निकाला जायेगा। इसके माध्यम से राजनीतिक अभियान चलाया जायेगा।

यह भी पढ़े  तेजस्वी का यह नया ट्वीट ला सकता है बिहार में सियासी तूफान

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here