नीतीश कुमार-अमित शाह की मुलाकात से पहले जेडीयू की राष्ट्रीय कार्यकारिणी बैठक इस वजह से है अहम

0
45

बिहार के मुख्यमंत्री और जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार पार्टी के राष्ट्रीय कार्यकारिणी बैठक में हिस्सा लेने के लिए दिल्ली पहुंच चुके हैं. वह अगले दो दिन तक दिल्ली में रूकेंगे. राष्ट्रीय कार्यकारिणी बैठक से पहले नीतीश कुमार पार्टी के पदाधिकारियों के साथ अहम मुलाकात करेंगे.

नई दिल्ली स्थित बिहार भवन में बैठक का आयोजन किया जाएगा. खबर है कि पदाधिकारियों के साथ शाम में वो बैठक करेंगे. साथ ही रामविलास पासवान से भी मुलाकात कर सकते हैं. इन दिनों बिहार में रामविलास पासवान को लेकर राजनीतिक गरमायी हुई है. इसलिए कयास लगाया जा रहा है कि इसी मुद्दे पर वह पासवान से मुलाकात कर सकते हैं.

वहीं, 12 जुलाई को अमित शाह से नीतीश कुमार की मुलाकात की खबर है. इसलिए अमित शाह से मुलाकात के पहले राष्ट्रीय कार्यकारिणी बैठक और रामविलास पासवान से मुलाकात काफी अहम माना जा रहा है.

एनडीए के सभी सहयोगी दल लगातार बयान दे रहे हैं कि उनके बीच कोई दरार नहीं हैं. और वह सभी एकजुट है. हालांकि पार्टी के नेताओं द्वारा जो बार-बार बयान दिया जा रहा है. इससे साफ है कि सीट शेयरिंग पर एनडीए के सहयोगी दलों के अंदर घमासान मचा है. ऐसा लाजमी भी है. क्यों कि 2019 के चुनाव में एनडीए के सभी दल अपनी-अपनी सीट के लिए परेशान हैं.

यह भी पढ़े  आज मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जाएंगे जापान

एक और जेडीयू पार्टी के नेताओं का कहना है की नीतीश कुमार बिहार का चेहरा हैं इसलिए वह किसी भी अन्य पार्टियों से कम नहीं हैं. वहीं आरएलएसपी के नेताओं का कहना है कि लोकसभा में वर्तमान में जेडीयू से भी ज्यादा उनके पास सीट है तो उन्हें कम सीट नहीं मिलनी चाहिए.

बतादें कि लोकसभा चुनाव 2014 के मुताबिक बिहार में बीजेपी 22, एलजेपी 6, आरएलएसपी 3 और जेडीयू के पास 2 सांसद हैं. हालांकि बिहार विधानसभा की सीटों की बात करें तो जेडीयू के पास सबसे अधिक 71 सीटें हैं.

सीट शेयरिंग के घमासान तभी खत्म होगा जब तक इस पर आपसी सहमती नहीं बनती. खबर है कि अमित शाह 12 जुलाई को पटना में नीतीश कुमार से मुलाकात करने वाले हैं. जिसमें सीट शेयरिंग की बात पर फैसला होगा ऐसा माना जा रहा है. वहीं, इससे पहले जेडीयू अपने राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में आनेवाले सभी चुनाव को लेकर रणनीति पर चर्चा करेगा.

यह भी पढ़े  सीएम क्षेत्र विकास योजना का हाल, पटना जिले के 14 विधायकों में से आठ ने एक पैसा भी नहीं किया खर्च

जेडीयू की इस बैठक को अहम इसलिए और भी माना जा रहा है कि चुनाव से पहले यह बैठक हो रही है. इसलिए पूरा चर्चा लोकसभा चुनाव के लिए ही होगा. वहीं, रामविलास पासवान से नीतीश कुमार की मुलाकात भी अहम मानी जा रही है. ऐसा कयास लगाया जा रहा है कि बिहार में बड़ा राजनीतिक उथल-पुथल हो सकता है. हाल ही में रामविलास पासवान ने कहा था कि नीतीश कुमार चुप हैं तो जिसको जो चाहें मायने लगा सकते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here