निजी बॉडीगार्ड के साथ विस परिसर में पहुंच गए तेजप्रताप

0
69
PATNA VIDHAN SABHA MEIN JATE EX HEALTH MINISTER TEZ PRATAP YADAV

राजद नेता व पूर्व स्वास्य मंत्री तेजप्रताप यादव फिर सुर्खियां बना गए। सदन के बाहर भी हमेशा र्चचा में रहने वाले तेजप्रताप आज विधानसभा परिसर में र्चचा के केन्द्र बने रहे। विधानमंडल के सुरक्षा चक्र को धता बताते हुए वह अपने निजी बॉडीगार्ड व बांउसर के साथ विधानसभा परिसर में पहुंच गए।विधानमंडल का सत्र शुरू होने से पहले पुलिस प्रशासन ने हिदायत दी थी कि कोई भी व्यक्ति बिना पहचान पत्र के विधानमंडल के गेट में प्रवेश नहीं कर सकता, किंतु तेजप्रताप अपने आधा दर्जन बॉडीगार्ड/बाउंसर के साथ विधानसभा के परिसर में पहुंच गए। इस तरह सुरक्षा में चूक देखने को मिली। विधानमंडल का बजट सत्र चल रहा है और एक दिन पहले वित्त मंत्री सुशील कुमार मोदी ने सदन में बजट पेश किया था। सूत्रों के मुताबिक तेजप्रताप यादव के बॉडीगार्ड के पास विधानसभा का पास नहीं था। सवाल यह है कि आखिर विधानसभा का पास नहीं होने के बाद तेजप्रताप यादव के सुरक्षाकर्मी कैसे परिसर में अंदर घुस गए। इस पूरे मामले पर विधानसभा के मार्शल ने चुप्पी बना ली है। पुलिस के आला पदाधिकारी भी इस मामले पर प्रतिक्रिया देने से बचते रहे। पूर्व स्वास्य मंत्री तेजप्रताप यादव ने निजी सुरक्षा गार्ड के बिना पास विधानसभा परिसर में आने पर पत्रकारों पर ही गरम हो गए। उन्होंने कहा कि मुझे जान का खतरा है। आपलोग ही हमको सुरक्षा दिला दीजिये। वहीं उन्होंने कहा कि विधानसभा में सुरक्षा व्यवस्था कैसी है इसका जायजा लेने निजी गार्ड आए थे। इस मामले पर एसएसपी गरिमा मलिक का कहना है कि तेजप्रताप यादव के निजी बाउंसर बिना पास के अंदर कैसे आये। कहां और कैसे सुरक्षा में चूक हुई। इसकी जांच की जा रही है। जो भी दोषी होंगे उन पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

PATNA VIDHAN SABAH CAMPUS MEIN EX HEALTH MINISTER TEZ PRATAP YADAV KE SATH PRIVATE GAURD KE GHUSNE PER MACHI AFRATARI

 विधानमंडल परिसर में अब पोर्टिको के आस-पास तक विधायक निजी सुरक्षा को लेकर प्रवेश करने लगे हैं। यह कैसे और किनके द्वारा किया गया इसकी जांच होनी चाहिए। यहां प्रवेश को लेकर विधान मंडल के द्वारा एक प्रशासनिक व्यवस्था दी गई है। क्या इसका पालन हुआ है ? सूचना के सवाल पर खड़े जदयू विधान पार्षद तनवीर अख्तर ने आज परिषद सदस्यों को यह जानकारी दी। उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने इस पूरी घटना की जानकारी देते कहा कि जो सूचना मुझ तक पहुंची है उसके अनुसार पूर्व स्वास्य मंत्री व राजद के विधायक तेजप्रताप यादव के साथ लगभग दर्जन भर बाउंसर विधान मंडल परिसर में दिखे। इन्हें प्रवेश कैसे मिला यह जांच का विषय है। श्री मोदी के इतना कहते ही पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी,रामचंद्र पूव्रे व सुबोध कुमार सदन में हो हंगामा मचाने लगे। राजद सदस्यों की तरफ से यह कहा गया कि सरकार सुरक्षा नहीं देगी तो कोई निजी एजेंसी का सहारा क्यों नहीं लेगा। बीच-बचाव करते सभापति हारुण रशीद ने कहा कि इस मामले की पूरी जांच करा लेने का निर्देश दिया, तब जाकर राजद सदस्य शांत होकर बैठे। 

विधान सभा की सुरक्षा में आज हुई भारी चूक ने पूरे प्रशासनिक अमले में हड़कंप मचा रख दिया। पहले तो तेजप्रताप यादव के निजी गार्ड के बिना पास के विधानसभा परिसर में अंदर घुसने पर सबने चुप्पी साध ली, लेकिन जैसे ही इस खबर ने तूल पकड़ी उसके बाद इसको कवर अप करने की कवायद शुरू कर दी गई है। विधान मंडल के बजट सत्र के दौरान ऐसी सुरक्षा चूक को देखते हुए डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय को विधानसभा बुलाया गया। डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने इस मामले को गंभीरता से लिया है। डीजीपी ने कहा है कि इस मामले में जो भी दोषी होगा उसे नाप दिया जायेगा। किसी को बख्शा नहीं जाएगा। इस मामले में डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय बड़ी कार्रवाई कर सकते हैं। आज तेजप्रताप यादव गेट ने 8 से अपने निजी सुरक्षा गार्ड के साथ अंदर घुसे थे। तेजप्रताप यादव के निजी गार्डस के पास विधानसभा परिसर में एंट्री का पास नहीं था उसके बाद भी तेजप्रताप यादव के निजी गार्ड विधानसभा परिसर में घुस गए। फिलहाल जानकारी मिली है कि गेट नंबर आठ पर तैनात 15 पुलिसकर्मियों पर निलंबित किया जा सकता है।

यह भी पढ़े  महागठबंधन के घटक दलों में सीटों को लेकर किसी प्रकार की कोई परेशानी नहीं:मांझी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here