नाश्ता, ड्रामा और फिर उपवास

0
107

कांग्रेस का पूरे देश में रखा उपवास तो ठीक से चला, लेकिन दिल्ली के जिस उपवास में पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी शामिल हुए, नाश्ते और ड्रामे की भेंट चढ़ गया। सद्भाव के लिए किया गया कांग्रेस का उपवास तब उसकी किरकिरी बन गया जब यह तस्वीर सामने आई कि दिल्ली के वरिष्ठ नेता उपवास पर बैठने से पहले एक रेस्टोरेंट में छोले-भटूरे खाने के लिए गए थे। भाजपा ने इस तस्वीर के जरिए जब कांग्रेस को घेरा तो पार्टी से अपना बचाव करते भी नहीं बना। इससे उपवास तो पीछे छूट गया, उल्टा पार्टी सोशल मीडिया पर उपहास का पात्र भी बन गई। पार्टी की तब और फजीहत हुई जब दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष अजय माकन और पूर्व मंत्री हारुन युसूफ के साथ छोले -भटूरे वाली तस्वीर में नजर आए दिल्ली के नेता अरविंदर सिंह लवली ने कहा कि वो कोई भूख हड़ताल पर तो बैठे नहीं थे। उन्होंने कहा तस्वीर 8 बजे से पहले की है, उन्होंने उपवास को प्रतीकात्मक भी बताया जबकि अजय माकन ने कहा कि उन्होंने नाश्ता नहीं किया।
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने उपवास स्थल पर पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दलित विरोधी हैं और ये कोई सीक्रेट नहीं हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा के दलित सांसद जिस तरह से अपनी पीड़ा जाहिर कर रहे हैं, उससे सारी स्थिति स्वत: स्पष्ट हो जाती है। राहुल ने मोदी सरकार पर आरोप लगाया कि वो देश में हिंसा और घृणा फैलाने का काम कर रही है और कांग्रेस ने ऐसी ही विचारधारा के खिलाफ उपवास रखा। उन्होंने मीडिया को दबाए जाने और डराए जाने का भी जिक्र किया और कहा कि वो मीडिया की रक्षा के लिए लड़ेंगे। 

यह भी पढ़े  दिल्ली में आज कांग्रेस की इफ्तार पार्टी, विपक्ष के सभी प्रमुख नेताओं को न्यौता

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here