नागमणि ने RLSP के कार्यकारी अध्यक्ष पद से दिया इस्तीफा, उपेंद्र कुशवाहा पर लगाया टिकट बेचने का आरोप

0
177

उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी राष्ट्रीय लोक समता दल (आरएलएसपी) में सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है. पार्टी के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष नागमणि ने पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दिया, साथ ही महागठबंधन से अपील की है कि उपेंद्र कुशवाहा को मात्र 1 सीट दें नहीं तो उपेंद्र कुशवाहा टिकट बेच देंगे. नागमणि ने आरोप लगाया है कि पार्टी के महासचिव माधव आनंद ने मोतिहारी लोकसभा सीट के लिए उपेंद्र कुशवाहा को 9 करोड़ रुपये दिए हैं.

नीतीश कुमार के साथ दिखे थे नागमणि
बीते शुक्रवार को नीतीश कुमार के साथ एक कार्यक्रम में दिखने के बाद पार्टी ने नागमणि को पद से हटा दिया था और साथ ही कारण बताओ नोटिस जारी किया था. नागमणि ने आरोप लगाया है कि 2G स्पेक्ट्रम घोटाले के आरोपी एस. आर. ग्रुप के शशि रुइया के साथ उपेंद्र कुशवाहा की मीटिंग हुई थी, जिसे माधव आनंद ने ऑर्गनाइज कराया था. इस मीटिंग में एस. आर. ग्रुप की ओर से आरएलएसपी को फंड देने की बात हुई थी और अभी तक एस. आर. ग्रुप और आरएलएसपी में 10 करोड़ की लेन-देन हो चुकी है.

यह भी पढ़े  इप्टा के समारोह में मुखर हुआ स्त्री का स्वर

पार्टी के लोगों ने कहा कि एक तरफ उपेन्द्र कुशवाहा का नीतीश सरकार पर आरोप था कि उन्हें जान से मारने की कोशिश कर रही है, दूसरी तरफ बड़े नेता नागमणि उनके साथ हंसकर बातें कर रहे हैं.

उपेंद्र कुशवाहा को बताया था सीएम पद का दावेदार
बता दें कि जब एनडीए में सीट बंटवारे को लेकर तनातनी चल रही थी तब नागमणि ने बीजेपी पर खूब निशाना साधा था. उस समय आरएलएसपी एनडीए का हिस्सा थी. नागमणि ने कहा था कि आरएलएसपी, बीजेपी की गुलाम नहीं है. इतना ही नहीं उन्होंने नीतीश कुमार को भी निशाने पर लिया था. इसके अलावा वे उपेंद्र कुशवाहा को सीएम पद का दावेदार बता चुके हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here