नव वर्ष पर सुबह से गुलजार रहे पर्यटन स्थल, पार्को में उमड़ी भीड

0
62
Patna-Jan.1,2018-Crowd of people around Rajdhani Vatika Eco Park in Patna during first day of New Year 2018.

पटना -हाड़ कंपाने वाली ठंड के बीच पटना के लोग नए साल के जश्न में डूबे रहे हैं। कड़ाके की ठंड पर नव वर्ष का जश्न भारी पड़ा। सुबह से ही राजधानी के पाकरे में भीड़ जुटनी शुरू हो गई थी। सोमवार को जहां जो पर्यटल स्थल और पार्क बंद रहते हैं, वो भी आज खुले रखे गये थे। सभी पर्यटन स्थलों और पाकरे में भारी भीड देखने को मिली। लोगों ने खूब मस्ती और खेल-कू द भी की। राजधानी के पाकरे में पहुंचे 60 हजार लोग राजधानी के विभिन्न पाकरे में नये साल के दिन लगभग 60 हजार लोग सैर करने पहुंचे। ये आंकड़ा सभी स्थलों में सबसे अधिक है। वहीं इससे सरकार को 14,84,760 रुपये के राजस्व की प्राप्ति हुई। पिछले साल के मुकाबले इस वर्ष ज्यादा की संख्या में लोग पाकरे में पहुंचे। दूसरी ओर राजधानी वाटिका (ईको पार्क) की सैर करने करीब 31 हजार लोग पहुंचे जिससे सरकार को 13,96,750 रुपये के राजस्व की प्राप्त हुई। हालांकि पिछले साल के मुकाबले इस साल कम लोग ईको पार्क पहुंचे। पिछले साल यह आंकड़ करीब 34 हजार था। भीड़ को देखते हुए अतिरिक्त काउंटर लगाए गए थे। तीनों गेट से दर्शकों को प्रवेश हो रहा था। वाटिका में बड़ी संख्या में व्यंजनों के स्टॉल लगाए गए थे। राजधानीवाटिका में आज नौकायन और एडवेंचर पार्क में खेलकूद का संचालन नहीं हुआ। वहीं बुद्धा स्मृति पार्क में 9,189 लोग घूमने पहुंचे जिससे सरकार को दो लाख 54 हजार के राजस्व की प्राप्ति हुई। वहीं बुद्ध स्मृति संग्रहालय में लगभग 12,00 लोग भ्रमण करने पहुंचे। पिछले साल पार्क में लगभग बारह हजार लोग पहुंचे थे। वहीं लेजर शो देखने के लिए कोई शुल्क नहीं लगा।जू में पहुंचे 21 हजार लोगसंजय गांधी जैविक उद्यान (जू) में नये साल का जश्न मनाने करीब 21 हजार लोग पहुंचे। जिससे सरकार को 17 लाख 92 हजार रुपये के राजस्व की प्राप्ति हुई। हलांकि इस वर्ष पिछले साल के मुकाबले कम लोग पहुंचे। पिछले साल करीब 24 हजार लोग पहुंचे थे। नववर्ष के प्रथम दिन उद्यान के दोनों गेट पर अतिरिक्त काउंटर खोले गए थे। उद्यान में ज्यादा भीड़ की संभावना को देखते हुए नौकायन, मछलीघर, निशाचरभवन को बंद रखा गया था। आज मनिर्ंग वॉक भी बंद रहा। उद्यान के अंदर स्वादिष्ट व्यंजनों के स्टॉल लगाए गए थे।बिहार संग्रहालय में पहुंचे 10 हजार तो पटना संग्रहालय में पांच हजार लोगनये साल में नव निर्मित बिहार संग्रहालय में इतिहास से रूबरू होना करीब दस हजार लोग पहुंचे। इससे सरकार को आठ लाख पचास हजार रुपये के राजस्व की प्राप्ति हुई। यह पहला मौका था जब नये साल के अवसर पर लोगों ने पूरे संग्रहालय की सैर की। वहीं पटना संग्रहालय में इस बार सैलानियों की संख्या में काफी कमी देखी गई। एक ओर जहां पिछले साल पंद्रह हजार लोग सैर करने पहुंचे थे। वहीं इस बार यह आंकड़ा पांच हजार तक सिमट कर रह गया। पटना संग्रहालय से सरकार को 30 हजार रुपये के राजस्व की प्राप्ति हुई। मंदिरों में भी रही भारी भीड़नये साल की शुरुआत पर राजधानी के मंदिरों में भी काफी भीड़ रही। सुबह से ही लोग भगवान के दर्शन के लिए मंदिर पहुंचने लगे थे। पटना जंक्शन स्थित महावीर मंदिर में पट खुलने के साथ ही श्रद्धालु पहुंचने लगे थे। समय बीतने के साथ ही लोगों की लंबी कतार लग गई। उसके साथ ही राजवंशी नगर हनुमान मंदिर, दरभंगा हाउस काली घाट समेत राजधानी के तमाम मंदिरों में भक्त नये साल पर प्रभु का आशीर्वाद लेने पहुंचे। ‘‘एमवी कौटिल्य’ से लोगों ने की गंगा की सैरनये साल पर गांधीघाट से गंगा की सैर भी लोगों ने की। 30 सीटर एमवी कौटिल्य विहार से गंगा की सैर लोगों ने काली घाट से गांधी सेतु के बीच की। नाव का परिचालन दोपहर दो बजे से शुरू किया गया। शाम तक एमवी कौटिल्य ने चार चक्कर लगाए। चारों ट्रिप में सीटें फुल रहीं। नये साल पर सुबह से ही गुलजार रहा गांधी मैदान नये साल के मौके पर गांधी मैदान में गीत-संगीत का कार्यक्रम चलता रहा। नये साल के पहले गांधी मैदान सुबह से ही गुलजार रहा। सुबह 10-11 बजे से देर शाम तक सांस्कृतिक कार्यक्रम चला। इस दौरान दर्शक स्वादिष्ट व्यंजनों का भी स्वाद लिया। श्रीकृष्ण विज्ञान केन्द्र में दिखाये गये पांच शो नववर्ष के पहले दिन सोमवार को श्रीकृष्ण विज्ञान केन्द्र में भी बड़ी संख्या में राजधानीवासी मस्ती करने पहुंचे। प्रत्येक दिन इस केन्द्र में औसतन 900 से 1000 दर्शक घूमने आते हैं, जबकि सोमवार को यहां 4883 दर्शक घूमने पहुंचे। इनमें 793 दर्शकों ने 3 डी शो देखा। दर्शकों की भारी भीड़ को देखते हुए सोमवार को दो अतिरिक्त टिकट काउन्टर खोले गए। साथ ही रीडी के 12 शो दिखाए गए जबकि आम दिनों तीन से पांच शो दिखाए जाते हैं। तारामंडल में चले छह शोगोलघर में भी बड़ी संख्या में लोग पहुंचे। जहां लोगों ने पार्क और लेजर शो का आनंद लिया। वहीं निर्माण कार्य के कारण गोलघर पर चढ़ना मना था। जबकी सोमवार को बंद रहने वाला तारामंडल भी खुला रहा। तारामंडल में सुबह से छह शो चलाए गए और सभी शो हाउस फूल रहे। लाखों के फूलों का हुआ कारोबारराजधानी में नये वर्ष के मौके पर फूलों का भी खूब करोबार हुआ। नये साल पर राजधानी में लगभग करोड़ रुपये के फूलों की खरीद बिक्री हुई। फूल विक्रेता अजीत के माने तो आम दिनों के मुकाबले पांच गुना ज्यादा माला मंगायी गयी थी। देर शाम होते-होते सभी बिक गयी। नये साल की बधाई देने के लिए बड़ी संख्या में लोगों ने फूलों और गुलदस्तों की खरीदारी की।

यह भी पढ़े  भाजपा के नेता पहले अपने वंशवाद को देखें : कौकब

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here