नक्सलियों के साथ मुठभेड़ में सीआरपीएफ कोबरा बटालियन का सब-इंस्पेक्टर शहीद

0
70

औरंगाबाद-गया जिले के सीमावर्ती पचरूखिया लंगुराही के जंगल में बुधवार को आइइडी विस्फोट में पैर में छर्रा लगने से काेबरा के सब इंस्पेक्टर रोशन कुमार घायल हो गये. बाद में पटना में इलाज के दौरान उनकी मौत हो गयी. यह जानकारी कोबरा के एक अधिकारी ने दी. मृतक की पहचान लखीसराय जिले के गड़संडा निवासी मिथिलेश कुमार के 25 वर्षीय बेटे रोशन कुमार के रूप में की गयी है. कोबरा 205 बटालियन के एक अधिकारी ने बताया कि यह घटना उस समय हुई जब सीआरपीएफ, कोबरा व जिला पुलिस के जवान नक्सलियों की धर-पकड़ के लिए सर्च अभियान पर थे. गया एसएसपी राजीव मिश्रा ने बताया कि बुधवार की दोपहर नक्सलियों ने पचरूखिया लंगुराही के जंगल में फायरिंग की थी. इसमें कोबरा के जवान ने जवाबी कार्रवाई की थी. सर्च ऑपरेशन के दौरान आइइडी मिले थे. उसमें से एक आइइडी विस्फोट कर गया. विस्फोट में कोबरा का एक जवान घायल हुआ है. जवान को पटना इलाज के लिए भेज  दिया गया. सहायक पुलिस अधीक्षक सह इमामगंज एसडीपीओ सुशील कुमार व कोबरा अधिकारी के मुताबिक इलाज के दौरान उनकी मौत हो गयी. उन्होंने कहा कि इसके साथ ही सीमावर्ती इलाके में सर्च अभियान चलाया जा रहा है.

यह भी पढ़े  बेगूसराय में दो को दिनदहाड़े मारी गोली ,मुंगेर में डबल मर्डर से सनसनी

इधर, औरंगाबाद एसपी डॉ सत्यप्रकाश ने बताया कि सर्च अभियान के दौरान तीन आइइडी बम बरामद किये गये. इसी क्रम में एक बम विस्फोट हो गया और फिर उसका छर्रा सब इंस्पेक्टर के पैर में लगने से वह घायल हो गये. इधर, लोगों की बीच चर्चाओं का बाजार गर्म है कि नक्सलियों पर नकेल कसने के लिए पुलिस के जवान सर्च ऑपरेशन पर थे. पचरूखिया लंगुराही जंगल के समीप अचानक नक्सलियों ने फायरिंग शुरू कर दी, जिसके जवाब में पुलिस ने भी कार्रवाई की.

 मिली जानकारी के अनुसार शहीद रौशन कुमार लखीसराय के गरसंडा गांव के निवासी थे और 2016 में उन्होंने कोबरा में सब-इंस्पेक्टर के पद पर ज्वाइन किया था. इस घटना के बाद गया और औरंगाबाद पुलिस के साथ ही कोबरा सीआरपीएफ और एसटीएफ की टीम इलाके में मौजूद है और नक्सलियों के खिलाफ सघन सर्च अभियान चला रही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here