देश का विदेशी मुद्रा भंडार 400 मिलियन डॉलर से ऊपर : रूंगटा

0
276

पटना :अपनी ही पार्टी के नेता के उलटबयानी से परेशान प्रदेश भाजपा ने आर्थिक सुधार मसले पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का जमकर बचाव किया है। प्रदेश भाजपा के प्रवक्ता सुरेश रूंगटा ने कहा कि देश का विदेशी मुद्रा भंडार 400 मिलियन डॉलर से ऊपर है, जबकि कांग्रेस काल में यह 300 मिलियन के करीब था। उन्होंने यह भी कहा कि विदेशी निवेश कांग्रेस की सरकार में 3.57 मिलियन डॉलर था, जो बढ़कर 6.3 मिलियन डॉलर यानी की डबल के करीब हो गया है । श्री रूंगटा ने कहा कि महंगाई दर संप्रग के शासनकाल में दो अंकों में रहती थी जो आज 4 प्रतिशत के आसपास है। राजकोषीय घाटा लक्षित अनुमान के अनुरूप तीन प्रतिशत के करीब है, जो कि कांग्रेस शासनकाल में पांच प्रतिशत पर रहता था। जहां तक रोजगार एवं नौकरी/पेशे की बात है तो इसे केवल संगठित क्षेत्रों में उत्पन्न होने वाली नौकरी के दायरे में देखना बेमानी है। बेहतर जीविकोपार्जन के लिए मोदी सरकार ने मुद्रा योजना के अन्तर्गत 7 करोड़ 64 लाख लोगों को ऋण उपलब्ध कराया है। जिससे इन लोगों को तो स्वरोजगार मिला ही है साथ ही वे कुछ अन्य लोगों को रोजगार भी दे रहे हैं। पिछली तिमाही का जीडीपी 5.7 प्रतिशत आने पर कुछ नेता नरेन्द्र मोदी सरकार की आर्थिक नीतियों की आलोचना कर अपनी दबी कुंठा एवं भड़ास निकालने में लग गये, जबकि 5.7 प्रतिशत जीडीपी पूरे साल का नहीं बल्कि एक तिमाही का है । वर्ष 2013-14 में जब जीडीपी 4.7 प्रतिशत हो गयी थी उस समय ये नेता कहां थे जबकि अभी का औसतन जीडीपी 7 प्रतिशत के आसपास है। देश में परम्परागत ढंग से लगने वाले अप्रत्यक्ष करों में नियंतण्र अवधारणा के अनुरूप एक आधुनिक कर ढांचे की आवश्यकता वर्षो से महसूस की जा रही थी। मोदी सरकार ने सभी राज्यों एवं राजनीतिक दलों से बातचीत करने के उपरांत पूरे देश में जीएसटी कर पण्राली को लागू किया है । वर्तमान में आरंभिक काल की कुछ दिक्कतें जरूर आ रही हैं, जिसे जीएसटी कॉउंसिल खुले मन से सुधार भी रही है। नोटबंदी के कारण देश का लाखों करोड़ रुपये जो कुछ लोगों की तिजोरियों में बंद पड़े थे, वह बैंकिंग व्यवस्था में वापस आ गये हैं। जिससे बैंकों की तरलता में इजाफा हुआ है,फलत: उनके ऋण देने की क्षमता बढ़ी है।

यह भी पढ़े  नीतीश के बिहार को विशेष दर्जा की मांग का डॉ. सीपी ठाकुर ने किया विरोध

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here