दूसरी कक्षा की छात्रा से स्कूल में छेड़खानी,आरोपित सफाईकर्मी गिरफ्तार,सांसद पप्पू यादव पहुंचे स्कूल

0
14

वारदात के दूसरे दिन भी स्कूल प्रबंधन के खिलाफ लोगों का गुस्सा कायम रहा. स्कूल बंद कराने के उद्देश्य से आक्रोशित लोग जा पहुंचे. मधेपुरा के सांसद पप्पू यादव भी मौके पर पहुंचे और स्कूल को बंद कराने की मांग की. मामले की नजाकत को भांपते हुए दूसरे दिन भी पुलिस दल मौके पर मौजूद रही.

दानापुर। दानापुर थाना क्षेत्र के लेखानगर में बुधवार को होली क्रॉस स्कूल में एक सफाई कर्मचारी द्वारा दूसरी कक्षा में पढ़ने वाली छात्रा के साथ छेड़खानी की गई। छात्रा ने इसकी जानकारी अपने शिक्षक सहित परिजनों को दी। घटना की सूचना पाकर परिजन स्कूल पहुंच गए और आरोपित सफाईकर्मी को अपने हवाले करने की मांग करने लगे। इस दौरान छात्रा के परिजनों द्वारा स्कूल में जमकर हंगामा किया गया। परिजनों ने आरोप लगाया कि आरोपित सफाईकर्मी पर कार्रवाई करने के बजाए स्कूल प्रबंधन ने हमलोगों को भयभीत कर शांत कराना चहा। इससे लोगों का आक्रोश और भड़क गया। घटना की जानकारी मिलने के बाद पुलिस पहुंच गई। पुलिस के सामने भी छात्रा के परिजन प्राचार्य के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए स्कूल बंद कराने की मांग करने लगे। इस बीच पुलिस ने आरोपित सफाईकर्मी को हिरासत में ले लिया। पुलिस ने आक्रोशित लोगों को समझा-बुझाकर शांत कराया। गिरफ्तार सफाई कर्मचारी रामजी प्रसाद खगौल का रहने वाला है। थानाध्यक्ष संदीप कुमार सिंह ने बताया कि होली क्रॉस स्कूल में दोपहर करीब दो बजे दूसरी कक्षा की छात्रा बाथरूम गई थी। इस दौरान सफाई कर्मचारी रामजी प्रसाद ने छात्रा के साथ छेड़खानी की। जब इसकी जानकारी छात्रा के परिजनों को मिली वे स्कूल गेट पहुंचकर हंगामा करने लगे। उन्होंने बताया कि इस मामले में छात्रा के पिता द्वारा सफाई कर्मचारी सहित स्कूल प्रशासन के खिलाफ लिखित शिकायत दर्ज कराई गई है। पुलिस मामला दर्ज कर कार्रवाई में जुटी है।

उठ रहे सवाल 
छात्रा जब बाथरूम गयी तो स्वीपर एक बजे तक वहां क्या कर रहा था? क्या उस पर किसी की नजर नहीं पड़ी?
किसी-न-किसी की नजर अवश्य पड़ी होगी, लेकिन उसे बाहर जाने को क्यों नहीं कहा गया?
बच्चे के आने के पूर्व ही बाथरूम साफ होना चाहिए था व उसके पास उसे नहीं होना चाहिए था तो वह एक बजे तक बाथरूम के पास क्यों खड़ा था?
स्कूल प्रशासन ने क्या उसका चरित्र सत्यापन कराया है? अगर नहीं कराया है तो क्यों नहीं कराया गया है?
यह भी पढ़े  हिंसा की भाषा से कोई डरा नहीं सकता : मोदी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here