दुर्गापूजा और दशहरे के दौरान बाइकर्स गैंग पर रहेगी कड़ी नजर

0
29
Patna-Oct.14,2018-Patna District Magistrate Kumar Ravi with SSP Manu Maharaj are holding meeting with officials for Durga Puja and Ravan Vadh programme at Collectorate conference hall in Patna.

जिलाधिकारी कुमार रवि ने समाहरणालय स्थित सभाकक्ष में दुर्गापूजा, विजयादशमी एवं रावण वध के अवसर पर विधि-व्यवस्था संधारण के लिए समीक्षा बैठक की। बैठक में जिलाधिकारी ने सभी अनुमंडल पदाधिकारी एवं अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी से की गई निरोधात्मक कार्रवाई एवं शांति समिति की जानकारी प्राप्त की। जिलाधिकारी ने पुलिस अधीक्षक, यातायात को पटना शहरी क्षेत्र के यातायात की व्यवस्था का प्रकाशन समाचार पत्रों में कराने का निर्देश दिया। महिलाओं की भीड़ को नियंत्रित करने के लिए बड़े-बड़े प्रतिमा स्थलों पर महिला यातायात पुलिस की भी प्रतिनियुक्ति की जायेगी। किसी भी अनुमंडल में यातायात की कोई विशेष समस्या हो तो अनुमंडल पदाधिकारी एवं अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी से विमर्श कर समस्या का समाधान करेंगे। जिलाधिकारी ने बताया कि सुरक्षा के दृष्टिकोण से एंटीसबोटेज जांच एवं सेनेटाईजेशन कार्य के लिए गांधी मैदान में आमजनों का प्रवेश 18 अक्टूबर के पूर्वाह्न 10 बजे से निषेद्ध रहेगा। खिलाड़ियों के लिए 17 अक्टूबर से ही गांधी मैदान में प्रवेश निषेध रहेगा। रावण वध कार्यक्रम के लिए 19 अक्टूबर को आमजन का प्रवेश गांधी मैदान में होगा। गांधी मैदान थानाध्यक्ष इसके लिए गांधी मैदान के सभी गेटों पर पुलिस पदाधिकारी के साथ सुरक्षा बलों की प्रतिनियुक्ति राउंड दि क्लॉक सुनिश्चित करेंगे।जिलाधिकारी ने कार्यपालक अभियंता, भवन प्रमंडल, पटना को निर्देश दिया कि रावण वध के अवसर पर गांधी मैदान में भीड़ नियंतण्रएवं विधि-व्यवस्था संधारण के लिए गेटों के निकट एवं ध्वजारोहण स्थल के पास वाच टावरों का निर्माण करानायें। इन वाच टावरों में प्रतिनियुक्त दंडाधिकारी, पुलिस पदाधिकारी एवं बल ड्रैगन लाइट/ ध्वनि विस्तारक यंत्र इत्यादि के साथ मुस्तैद रहकर पूरे गांधी मैदान में नजर रखेंगे। अनुमंडलों में कार्यपालक अभियंता, भवन निर्माण विभाग अपने-अपने क्षेत्र में बैरिकेडिंग की व्यवस्था 15 अक्टूबर 2018 तक पूरा कर लेंगे। पूजा पंडालों का निरीक्षण कर अपने स्तर से ठोसता प्रमाण पत्र जिला नियंतण्रकक्ष को देंगे। सभी पूजा पंडालों के आयोजक सीसीटीवी एवं सभी पूजा पंडलों को आग से बचाने के लिए प्रबंध करेंगे। जिलाधिकारी ने सभी अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी एवं थानाध्यक्ष को निर्देश दिया कि सतत भ्रमणशील रहकर बाइकर्स गैंग पर नजर रखेंगे। पर्व-त्योहार के अवसर पर असामाजिक तत्व तेजी एवं लापरवाही से वाहन चलाते हुए अश्लील हरकत करते हैं तथा शांति व्यवस्था एवं सौहार्द को बिगाड़ने का प्रयास करते हैं। ऐसे बाइकसरे के विरुद्ध तत्परतापूर्वक कार्रवाई करते हुए बाइक को जब्त कर लेंगे। बैठक में निर्बाध विद्युत आपूत्तर्ि की व्यवस्था के लिए भी डीएम ने निर्देश दिये। गांधी मैदान के चारों सेक्टर में एम्बुलेंस की व्यवस्था सिविल सर्जन, पटना द्वारा की जायेगी, जिसमें चिकित्सक एवं पारा मेडिकल स्टाफ, स्ट्रेचर एवं जीवन रक्षक औषधियों एवं संसाधन उपलब्ध रहेंगे। इसके अतिरिक्त गांधी मैदान स्थित सभी 8 बड़े गेटों पर तथा नियंतण्रकक्ष में सिविल सर्जन, पटना द्वारा एक-एक एम्बुलेंस की प्रतिनियुक्ति एवं जीवन रक्षक औषधियों के साथ सुनिश्चित करायी जायेगी। सिविल सर्जन मूर्ति विसर्जन के दौरान सभी महत्वपूर्ण घाटों पर एम्बुलेंस सहित चिकित्सक कर्मी एवं जीवन रक्षक दवाओं की व्यवस्था सुनिश्चित करेंगे। आपातकालीन स्थिति से निपटने के लिए पीएमसीएच, एनएमसीएच, इंदिरा गांधी हृदय रोग संस्थान, इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान, शेखपुरा में इमरजेंसी नियंतण्रकक्ष कार्यरत रहेगा। ऑपरेशन थियेटर 24 घंटे खुले रहेंगे। जिलाधिकारी ने अग्निशमन व्यवस्था, गांधी मैदान की सफाई और पेयजल की व्यवस्था को लेकर भी संबंधित अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिये। गांधी मैदान के अंदर, भद्र घाट, कलेक्ट्रेट घाट, गांधी घाट, काली घाट एवं दीघा घाट पर सीसीटीवी एवं वीडियोग्राफी की व्यवस्था रहेगी। सभी महत्वपूर्ण घाटों पर एसडीआरएफ/ एनडीआरएफ की व्यवस्था के साथ-साथ बोट एवं गोताखोर की व्यवस्था की जायेगी। पुलिस अधीक्षक, यातायात समुचित संख्या में जगह-जगह पर यातायात पुलिस की प्रतिनियुक्ति करते हुए इसे सुनिश्चित करायेंगे। जिलाधिकारी ने संबंधित थानाध्यक्ष को निर्देश दिया कि अपने-अपने क्षेत्रान्तर्गत स्थापित पूजा समितियों से समन्वय स्थापित कर मूर्ति विसर्जन के समय को पूर्व से निर्धारित कर लेंगे। 55 स्थानों पर बना ट्रैफिक मैनेजमेंट प्वाइंट : एसएसपीबैठक में वरीय पुलिस अधीक्षक मनु महाराज ने बताया कि 55 स्थानों पर ट्रैफिक मैनेजमेंट प्वाइंट बनाया गया है, जहां बेहतर ऑफिसरों की प्रतिनियुक्ति होगी। सप्तमी, अष्टमी, नवमी एवं विजयादशमी के दिन ट्रैफिक के लिए रूट का डायवर्सन होगा तथा अल्टरनेट व्यवस्था की जायेगी ।

यह भी पढ़े  सबका साथ-सबका विकास के मंत्र पर चल रही सरकार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here