दिवाली में काफी बढ़ा रहा प्रदूषण का स्तर

0
13

राजधानी में दिवाली के दौरान सामान्य से काफी अधिक प्रदूषण दर्ज किया गया। दीपावली के अवसर पर परिवेशीय वायु गुणवत्ता एवं ध्वनि प्रदूषण की स्थिति की जांच बिहार राज्य प्रदूषण नियंतण्रपर्षद्, पटना द्वारा की गई, जिसमें कई जगहों पर दिवाली के दौरान सामान्य से कई गुणा ज्यादा प्रदूषण दर्ज किया गया। सबसे चिंताजनक बात यह है कि परिशांत क्षेत्रों यथा – इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान, शेखपुरा, पटना एवं पटना मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल, पटना में भी ध्वनि स्तर निर्धारित मानक से काफी अधिक पाया गया।दीपावली के पूर्व एक नवम्बर को इसकी मात्रा 414 माइक्रोग्राम प्रति घनमीटर पायी गयी थी। श्वसन योग्य धूालकण की मात्रा सामान्य दिनों एवं दीपावली के दिन निर्धारित मानक 100 माइक्रोग्राम प्रति घनमीटर से लगभग 10 गुना ज्यादा पाया गया। इसी तरह, प्लेनेटोरियम, पटना में सूक्ष्म धूलकण पीएम 2.5 की मात्रा भी दिवाली के दिन अन्य दिनों की अपेक्षा ज्यादा पायी गयी है। उक्त स्थल पर भी पीएम 2.5 की मात्रा 10.00 बजे रात्रि से 6.00 बजे सुबह तक में 767.5 माइक्रोग्राम प्रति घनमीटर पायी गयी जो निर्धारित मानक 60 माइक्रोग्राम प्रति घनमीटर से लगभग 12 गुना ज्यादा है। सामान्य दिनों में श्वसन योग्य धूल कणों की मात्रा ज्यादा पाये जाने का संभावित कारण वाहनों से होने वाला उत्सर्जन हो सकता है। जबकि, दीपावली के दिन रात्रि 10.00 से सुबह 6.00 के मध्य श्वसन योग्य धूल कण के स्तर में काफी वृद्धि दर्ज किये जाने का संभावित कारण पटाखों का उपयोग एवं अन्य पर्यावरणीय कारक हो सकते है। दिवाली के दिन उल्लेखित 8 स्थानों पर परिवेशीय ध्वनि स्तर में बोरिंग रोड में सबसे ज्यादा ध्वनि स्तर दर्ज किया गया जबकि अन्य स्थलों पर सामान्य दिनों की अपेक्षा ध्वनि स्तर में भी रात्रि 9.00 बजे से अर्ध रात्रि 12.00 बजे में वृद्धि पायी गयी। इनमें क्रमानुसार परिवेश भवन, औद्योगिक क्षेत्र, पटना, इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान, शेखपुरा, पटना प्रमुख हैं। बोरिंग रोड में रात्रि 9.00 बजे से अर्ध रात्रि 12.00 बजे तक 81 डेसिबल से ज्यादा का ध्वनि स्तर पाया गया। चिंताजनक बात यह है कि परिशांत क्षेत्रों यथा – इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान, शेखपुरा, पटना एवं पटना मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल, पटना में भी ध्वनि स्तर निर्धरित मानक से ज्यादा पाया गया है। उधर, बोरिंग रोड चौराहे पर दीपावली के दिन परिवेशीय वायु गुणवत्ता में अन्य दिनों की अपेक्षा सल्फर डाय ऑक्साइड की मात्रा में वृद्धि नहीं पायी गयी एवं यह अपने निर्धारित मानक 80 माइक्रोग्राम प्रति घनीमीटर के अन्तर्गत पाया गया। बोरिंग रोड चौराहे पर नाइट्रोजन डाई ऑक्साइड की मात्रा रात्रि 10.00 बजे से रात्रि 2.00 बजे तक सर्वाधिक 83.8 माइक्रोग्राम प्रति घनमीटर पायी गयी, जो निर्धरित मानक 80 माइक्रोग्राम प्रति घनमीटर से ज्यादा है जिसकी मात्रा 2.00 बजे रात्रि के बाद घट गयी। श्वसन योग्य धूाल कण पीएम 10 की मात्रा दीपावली के दिन 10.00 बजे रात्रि से 6.00 बजे सुबह के दौरान सर्वाधिक 1046 माइक्रोग्राम प्रति घनमीटर पायी गयी।

यह भी पढ़े  मौजूदा दौर में शासक हो गया है दमनकारी : मुखर्जी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here