दिवंगत सांसद रामचन्द्र पासवान को राज्यपाल ने दी श्रद्धांजलि

0
98

लोक जनशक्ति पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष, दलित सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष व समस्तीपुर सांसद दिवंगत नेता रामचन्द्र पासवान को बिहार के राज्यपाल महामहिम फागू चौहान ने उनके तैल्य चित्र पर पुष्प अर्पित कर उन्हे श्रद्धाजंलि दी। उनकी आत्मा की शांति के लिए ईर से प्रार्थना की और कहा कि ‘‘ इस दुखद घटना से मैं बहुत मर्माहत हूं क्योंकि इस पूरे परिवार से मेरा बहुत पुराना व्यक्तिगत संबंध है। श्री पासवान का निधन समाज के साथ साथ मेरे लिए भी अपूरणीय क्षति है, जिसकी कभी भरपाई नहीं हो सकती है। ’राज्यपाल ने दिवंगत नेता को याद करते हुए एक संस्मरण भी बताया कि ‘‘ जब दिवंगत नेता के बडे भाई व केन्द्रीय मंत्री रामविलास पासवान 1985 में बिजनौर लोकसभा क्षेत्र से संसदीय चुनाव लड़ रहे थे तो उस वक्त मैं विधायक था और श्री पासवान मेरे साथ संसदीय चुनाव में पूरे समय रहते थे और हमलोग चुनाव प्रचार करके जब रात में लौटते थे तो श्री पासवान और उनके बड़े भाई रामविलास पासवान और मैं नीचे जमीन पर ही बैठकर साथ में खाना खाते थे और जमीन पर ही चादर बिछाकर सो जाते थे ऐसे सरल स्वभाव के जमीन से जुड़े हुए नेता थे रामचन्द्र पासवान। ईर इस दु:ख की घड़ी में उनके पूरे परिवार को दुख को सहने की ताकत दे ताकि उनका पूरा परिवार इस कठिन समय से उबर सके।’ राज्यपाल ने दिवगंत नेता के परिजनों, उनके बच्चों कृष्ण राज, प्रिंस राज और भतीजा यश राज को ढांढ़स बंधाया। श्रद्धांजलि कार्यक्रम में दिवंगत नेता बड़े भाई व केन्द्रीय मंत्री रामविलास पासवान अपने भाई को याद कर काफी भावुक हो गये और कहा कि ‘‘ रामचन्द्र तुम कहा चले गये हमलोगो को मालूम नहीं। तुम जहां हो, खुश रहो। तुम्हारी याद हमेशा आयेगी। श्रद्धांजलि कार्यक्रम में दिवगंत नेता के बड़े भाई लोजपा के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद पशुपति कुमार पारस एवं असम गणपरिषद के केन्द्रीय महासचिव उत्पल्ल दता के अलावा डॉ. शाहनवाज अहमद कैफी, मृणाल पासवान, केशव सिंह, अशरफ अंसारी, राजेन्द्र विश्वकर्मा, अरविन्द सिंह, निलम सिन्हा, उपेन्द्र यादव, रंजीत पासवान, निरंजन सिंह, सहित अन्य पार्टी के वरिष्ठ नेता व कार्यकर्ता उपस्थित थे। यह जानकारी प्रदेश प्रवक्ता अशरफ अंसारी ने दी।

यह भी पढ़े  विपक्ष के पास कोई मुद्दा नहीं : मुख्यमंत्री

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here