दलित छात्रों को सस्ती दर पर अनाज :रामविलास पासवान

0
142
KENDRIYA MANTREE RAMVILAS PASWAN KA PRESS CONFRENCE

राज्य के अनुसूचित जाति-जनजाति और पिछड़े अल्पसंख्यक के वैसे छात्र-छात्राओं को बीपीएल के समान सस्ती दर पर अनाज उपलब्ध कराया जाएगा जो वेलफेयर हॉस्टल में रह कर पढ़ाई कर रहे हैं। यह घोषणा केन्द्रीय खाद्य एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री रामविलास पासवान ने लोजपा के प्रदेश कार्यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में की। उन्होंने कहा कि कल ही दलित सेना के राष्ट्रीय महासम्मेलन में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने यह मांग की थी। शनिवार की रात ही उनके प्रस्ताव पर विचार किया गया और बिहार के ऐसे छात्रावासों की सूचना भी ली गयी। राज्य सरकार से मिली जानकारी के अनुसार बिहार में कल्याण विभाग के तहत 117 अनुसूचित जाति- जनजाति, दो ओ.वी.सी तथा कुछ पिछड़े अल्पसंख्यक के भी छात्रावास हैं। इन सभी छात्रवासों में रह रहे छात्रों को बीपीएल के समान ही सस्ती दर पर अनाज दिया जायेगा। केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि केन्द्र सरकार अब राज्य सरकार को प्रत्येक छात्र के लिए बीपीएल की दर से 15-15 किलोग्राम अनाज उपलब्ध करायेगी। राज्य सरकार राशन वितरण का इंतजाम करेगी। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार जितना शीघ्र ऐसे छात्रावासों में रह रहे छात्र-छात्राओं की ऑनलाइन सूची उपलब्ध करायेगी राशन की सुविधा उतनी ही शीघ्र उपलब्ध कराया जाएगी। उन्होंने कहा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पासवान जाति को महादलित की सुविधा देकर दलितों की एकजुटता बनाये रखी है तथा साथ ही दफादार व चौकीदार को ले कर उनके आश्रितों को नौकरी देने की बात मानी है,इसके लिए लोजपा की तरफ से उन्हें बधाई और शुभकामना। मुख्यमंत्री की इस कल्याणकारी घोषणा तथा दलितों की एकता बनाये रखने के लिए दलित सेना 20 अप्रैल को सभी प्रखंडों में मुख्यमंत्री को धन्यवाद ज्ञापित करेगी तथा दलितों की एकजुटता का आह्वान भी करेगी। इस मौके पर राजद नेताओं पर टिप्पणी करते लोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री पासवान ने कहा कि ये वही लोग है जो दलित राजनीति को डिवाइड एंड रूल की नजरों से देखते हैं। कल तक तो वे पासवान के लिए हायतौबा मचा रहे थे कि पासवान को अकेल कर दिया। आज दलित -महादलित एक हो गये तो मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के इस निर्णय पर नकारात्मक टिप्पणी करने लगे।

यह भी पढ़े  19 एएसपी बने आईपीएस

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here