थाने की दूरी तीन सौ मीटर सूचना मिलने के बाद भी नहीं पहुंची पुलिस

0
134

पटना -राजधानी पटना में बेलगाम अपराधियों ने मंगलवार रात खादिम शोरुम के मालिक जितेंद्र कुमार गांधी को गोली मार दी. गंभीर रूप से घायल जितेंद्र को नजदीक के पारस हॉस्पीटल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया, जहां उनकी मौत हो गई.

हवाई अड्डा थाना क्षेत्र में संजय गांधी इंस्टीट्यूट ऑफ डेयरी टेक्नोलॉजी के पास रविवार की रात सरेराह बाइक सवार चार बदमाशों ने व्यवसायी जितेंद्र कुमार गांधी की हत्या कर दी और फरार हो गए। बाइक के पीछे उनका बेटा अभ्यू राज बैठा था। हमलावर उसकी भी हत्या करने के फिराक में थे, लेकिन पिता की लाइसेंसी पिस्टल होने के कारण उसने अपनी जान बचा ली। हैरानी की बात है कि घटनास्थल से हवाई अड्डा थाने की दूरी तीन सौ मीटर से अधिक नहीं है, बावजूद इसके सूचना मिलने के बाद भी थाना पुलिस नहीं पहुंची। अभ्यू लगातार हवाई अड्डा और शास्त्री नगर थाने को कॉल करता रहा। लगभग 15 मिनट बाद गश्त लगा रहे डॉल्फिन मोबाइल की गाड़ी पर उसकी नजर पड़ी। इसके बाद गांधी को अस्पताल पहुंचाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। इस दौरान गांधी की लाश सड़क पर ही पड़ी रही।

यह भी पढ़े  दानापुर दोहरा हत्याकांड : मृत युवक निकला मृतका का दूसरा पति

आक्रोशित व्यवसायियों का पुलिस पर फूटा गुस्सा : अस्पताल पहुंचने के बाद सिटी एसपी अमरकेश डी दलबल के साथ मौके पर पहुंचे। तब तक काफी संख्या में व्यवसायी आ चुके थे। सुरक्षा की पुख्ता व्यवस्था नहीं होने के कारण व्यवसायी आक्रोशित थे। उन्होंने पुलिस-प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की। सिटी एसपी के साथ भी उलझ गए। किसी तरह पुलिस ने गुस्साए लोगों पर काबू पाया।

अगले साल करते बेटी की शादी : एक रिश्तेदार ने बताया कि गांधी अगले साल बेटी तृषा की शादी करने की तैयारी कर रहे थे। उनका बेटा अभ्यू राज पुणो से मैनेजमेंट की पढ़ाई कर रहा है। 24 नवंबर को वह दानापुर में एक और खादिम शोरूम खोलने वाले थे। उनके बड़े भाई ललन की राजाबाजार और छोटे भाई पप्पू की न्यू डाकबंगला रोड में कपड़ों की दुकान है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here