त्रिवेणी और लक्ष्मी योग में आज मनेगी दीपावली. 51 सौ दीयों की रोशनी से जगमग होगा गुरुघर

0
7
Patna-Nov.6,2018-Colourful light decorated around Patna town for Deepawali festival.
कार्तिक कृष्ण अमावस्या 7 नवंबर दिन बुधवार को दीपोत्सव यानि दीपावली का त्योहार सूबे में धूमधाम से मनाया जाएगा। धनतेरस से शुरू हुए इस दीप उत्सव का पर्व आज अपने चरम पर है। इस वर्ष दीपावली पर कई शुभ फलदायी योग बन रहे हैं। दीपावली का त्योहार धनतेरस से आरम्भ होकर भाई दूज के दिन समाप्त होता है। उजाला का यह त्योहार पूरे पांच दिनों का त्योहार होता है। इस दिन सभी घर, ऑफिस, कारखानों में मां लक्ष्मी की पूजा अर्चना कर उन्हें प्रसन्न किया जाता है। इस दिन लक्ष्मी-गणोश के साथ कुबेर व सरस्वती की पूजा भी होती है। कर्मकांड विशेषज्ञ पंडित राकेश झा शास्त्री ने बताया कि दीपावली के दिन पूरे 59 वर्षो के बाद आयुष्मान एवं सौभाग्य योग के साथ स्वाति नक्षत्र होने से मंगलकारी त्रिवेणी योग बन रहा है। इस योग में माता लक्ष्मी की पूजा करने से सुख, समृद्धि, धन-संपदा, ऐश्वर्य और सामर्य में वृद्धि होगी और इसका सकारात्मक असर लंबी अवधि तक रहेगा। दीपावली पर बन रहा महामंगलकारी त्रिवेणी संयोग बेहद खास है। मन्यताओं के अनुसार आयुष्मान योग में किए शुभ कार्य लंबे समय तक शुभ फल प्रदान करते हैं और जीवनभर सुख-समृद्धि की प्राप्ति होती है। वहीं सौभाग्य प्रदान करने वाला सौभाग्य योग सदा मंगलकारी होता है। इसे भाग्योदय करने वाला भी माना गया है। सात वर्षो के बाद बना लक्ष्मी योग, पूजन से मिलेगी भौतिक समृद्धि : पंडित झा ने कहा कि इस वर्ष दीपावली पर पूरे सात वर्षो के बाद लक्ष्मी योग बन रहा है। इस दिन तुला राशि जिसे सुख, समृद्धि तथा वैभव प्रदान करने वाली राशि मानी गयी है, इस राशि में शुक्र, चन्द्रमा एवं सूर्य तीनों ग्रह विद्यमान रहेंगे। इन तीनों के एक साथ मिलन से दुर्लभ लक्ष्मी योग बन रहा है।

लक्ष्मी पूजन व दीपदान करने का शुभ मुहूर्त

यह भी पढ़े  मुझे पता है पाकिस्तान पहुंचते ही जेल में डालेंगे, नस्ल के लिए दे रहा हूं कुर्बानी: नवाज शरीफ

लाभ योग-प्रात: 6.36 बजे से 7.59 बजे तक तथा दोपहर 4.16 बजे से शाम 5.39 बजे तक
अमृत योग-सुबह 7.59 बजे से 9.22 बजे एवं रात्रि 8.54 बजे से 10.31 बजे तक
शुभ योग-दोपहर 10.44 बजे से दोपहर 12.07 और संध्या 7.16 बजे से रात्रि 8.54 बजे तक
चर योग-दोपहर 2.53 बजे से संध्या 4.16 बजे तक और रात्रि 10.31 बजे से मध्यरात्रि 12.08 बजे तक
स्थिर लग्न में गणोश-लक्ष्मी पूजा का शुभ मुहूर्त
वृश्चिक लग्न-प्रात: 7.21 बजे से 9.37 बजे तक
कुम्भ लग्न- दोपहर 1.05 बजे से 2.35 बजे तक
वृषभ लग्न-संध्या 5.41 बजे से रात्रि 7.38 बजे तक
सिंह लग्न-मध्यरात्रि 12.09 से 2.23 बजे तक
अभिजीत मुहूर्त- दोपहर 11.11 बजे से दोपहर 11.55 बजे तक,
प्रदोषकाल मुहूर्त-संध्या 5.29 बजे से 7.39 बजे तक,
महानिशीथ काल मुहूर्त-रात्रि 11.44 बजे से मध्यरात्रि 12.32 बजे तक

 
पटना सिटी : श्री गुरु गोबिंद सिंह जी महाराज की जन्मस्थली तख्त श्री हरिमंदिर जी पटना साहिब में दीपावली के मौके पर आतिशबाजी नहीं होगी, बल्कि 5100 दीपों से तख्त साहिब को जगमग किया जायेगा. इसके लिए तैयारी कर ली गयी है.
प्रबंधक कमेटी के महासचिव सरदार महेंद्र पाल सिंह ढिल्लन ने बताया कि बुधवार को दीपावली के दिन यह आयोजन होगा. महासचिव ने बताया कि दीपावली पर सिख धर्म के इतिहास का अलग महत्व है. दीपावली के दिन ही छठे गुरु हर गोबिंद सिंह जी महाराज ग्वालियर के किले से 52 राजाओं को रिहा करा कर अमृतसर पंजाब पहुंचे थे. इसी खुशी में अमृतसर में दीपमाला हुई थी. ऐसी ही दीपमाला तख्त साहिब में होगी.साथ ही दीपावली को लेकर  इस दिन विशेष कीर्तन दरबार के साथ धार्मिक आयोजन भी तख्त साहिब में होगा.
 वायु प्रदूषण व पर्यावरण की रक्षा के लिए आतिशबाजी नहीं करने का संकल्प लिया गया है. इसमें संगत से भी सहयोग की अपील की गयी है. आयोजन में काफी संख्या में सिख संगत भी शामिल होगी. वैसे दीपावली के मौके पर सिख समुदाय की ओर से तख्त साहिब में मत्था टेकने की परंपरा है. तख्त साहिब को भी रोशनी से सजाया गया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here