तेजस्वी ने लोहा कारोबार को चुनाव आयोग से छिपाया :सुशील मोदी

0
13
PATNA BJP OFFICE MEIN PRESS KO SAMBODHIT KERTE DY C M SUSHIL KUMAR MODI

उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने एक बार फिर लालू परिवार को घेरते हुए नया खुलासा किया है। उन्होंने कहा कि राजद सुप्रीमो के बेटे और पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव लोहा के कारोबारी हैं और इन्होंने अपने इस करोड़ों के लोहे के व्यापार को बतौर संपत्ति विवरण चुनाव आयोग से छिपाया है। श्री मोदी ने कहा कि तेजस्वी करोड़ों का व्यापार करते रहे पर वैट के रिटर्न में टर्नओवर शून्य दिखाए हैं जिसके लिए उन्हें नोटिस भेजकर कानून सम्मत कार्रवाई की जाएगी।श्री मोदी ने यहां पार्टी के प्रदेश मुख्यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कहा कि तेजस्वी यादव केवल 750 करोड़ रुपये का मॉल ही नहीं बनवा रहे थे, बल्कि लारा एंड संस नामक आयरन एंड स्टील बेचने वाले प्रतिष्ठान के मालिक भी हैं। उन्होंने कहा कि जिंदल स्टील ने उन्हें अपना हैंडलिंग एजेंट नियुक्त किया है। जिंदल स्टील ने तेजस्वी को 28 सितम्बर 2012 को रामगढ़, पतरातू, आरगुल के स्टील प्लांट से निर्मित माल के हैंडलिंग एंड स्टोरेज के लिए उन्हें स्टोरेज एजेंट नियुक्त किया। श्री मोदी ने कहा कि तेजस्वी यादव ने लारा एंड संस के नाम से इस लोहा कारोबार के लिए वैट का पंजीकरण कराया है जिसका नंबर टीन 10062264062 है। लारा एंड संस का पता रानीपुर खिड़की, मिर्चाइ रोड, पटना सिटी दिया गया है। श्री मोदी ने कहा कि कोई भी व्यापार करना गुनाह नहीं है पर तेजस्वी यादव ने अपने इस करोड़ो के कारोबार को चुनाव आयोग से क्यों छिपाया। उन्होंने यह भी सवाल खड़ा किया व्यापर के लिए पंजीकृत वैट का टर्नओवर शून्य क्यों है। यह सब जांच का विषय है। चुनाव आयोग अपना काम देखेगा, किंतु राज्य सरकार वैट का टर्नओवर शून्य दिखाने के लिए तेजस्वी को नोटिस भेजेगी। उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि तेजस्वी के इस व्यापार के लिए 255 डिसमिल यानी दो एकड़ से भी अधिक जमीन उल्लेखित है। उन्होंने कहा कि यह जमीन भी जांच का विषय है। जमीन पर 12 फीट से ज्यादा ऊंची चहारदिवारी का निर्माण किया गया है। कुछ माह पूर्व इस चहारदिवारी पर लारा एंड संस का बोर्ड लगा हुआ था। अभी भी चहारदिवारी पर जिंदल कंपनी की वॉल पेंटिंग की गयी है। श्री मोदी ने सवाल किया कि लोहा के कारोबार संबंधी हैंडलिंग एजेंट के तयों को तेजस्वी ने आज तक क्यों छिपाया। चुनाव आयोग को दिए संपत्ति के ब्यौरे में इस जमीन तथा व्यापार का उल्लेख क्यों नहीं किया गया। तेजस्वी करोड़ों के व्यापार करते रहे और वैट के रिटर्न में टर्नओवर शून्य दिखाते रहे। श्री मोदी ने सवाल किया आखिर तेजस्वी 22 वर्ष की उम्र में डिलाइट मार्केटिंग, एवी एक्सपोर्ट, लारा संस, फेयरग्रो जैसी कंपनियों के मालिक कैसे बन गए? श्री मोदी ने कहा कि हैंडलिंग एजेंट बनाए जाने के एवज में तेजस्वी को कई कार्य करने की शत्रे रखी गई हैं। जैसे तेजस्वी को रेलवे वैगन से आने वाले लोहे को प्राप्त करना है। रेलवे से माल छुड़ाकर उपयुक्त क्रेन द्वारा स्टॉक यार्ड में वे ब्रिज पर तौलकर व्यवस्थित तरीके से लोहे को रखना तेजस्वी की जिम्मेवारी थी। उन्होंने कहा कि तेजस्वी यादव जिंदल स्टील एंड पावर लिमिटेड, जिंदल सेंटर, 12 भिखाजी कामा प्लेस, नयी दिल्ली के हैंडलिंग एंड स्टारेज एजेंट के रूप में 2012 से काम कर रहे हैं। संवाददाता सम्मेलन में भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष देवेश कुमार, प्रदेश प्रवक्ता सुरेश रूंगटा, प्रेम रंजन पटेल व निवेदिता सिंह तथा मीडिया प्रभारी राकेश कुमार सिंह भी मौजूद थे।

यह भी पढ़े  SSC ने CBI जांच की सिफारिश का फैसला किया, छात्र लिखित आश्वासन पर अड़े,पटना में पप्पू समर्थकों ने किया रेल और सड़क जाम

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here