तेजस्वी के मौन साधने से उनका अपराध छुप नहीं जायेगा : मोदी

0
17

उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा है कि 28 वर्ष की उम्र में 30 से ज्यादा सम्पतियों के मालिक बनने वाले तेजस्वी यादव को बताना चाहिए पटना सिटी के रानीपुर खिड़की, मिर्चाई रोड में उन्हें करोड़ों की 255 डिसमिल जमीन लीज के तौर महज 20 हजार रुपये वार्षिक किराये पर कैसे मिल गई। तेजस्वी यादव बतायें कि कब, किसने, किसके पैसे से इस जमीन की खरीद की और सभी खरीदने वालों ने उन्हें ही जमीन लीज पर क्यों दे दी? भ्रष्टाचारजनित खुलासा होने के बावजूद मौन साधने से क्या तेजस्वी यादव का अपराध कम हो जाएगा या छुप जायेगा ? श्री मोदी ने कहा है कि तेजस्वी यादव को बताना चाहिए उनके पिता लालू प्रसाद के बड़े भाई स्वर्गीय मुकुंद प्रसाद जो वेटनरी कॉलेज में चतुर्थवर्गीय कर्मचारी थे के समधियाना के आधा दर्जन लोगों ने किसके पैसे से जमीन खरीदी। सभी खरीदारों ने 13 जून, 2012 को अपनी जमीन तेजस्वी यादव को लीज क्यों कर दी। मनमानी शतरे पर 91 साल की लीज यानी तीन पीढ़ियों के लिए इंतजाम कराने के पीछे मकसद क्या है? तेजस्वी यादव बतायें कि कोई व्यक्ति क्यों पहले लाखों रुपये लगा कर जमीन खरीदेगा और फिर तीन महीने में ही उसे कौड़ी के भाव उन्हें जिंदगी भर के लिए सौंप देगा ? क्या इसी जमीन पर स्टॉकयार्ड बना कर तेजस्वी यादव 2012 से जिंदल स्टील एंड पावर लि. के हैंडलिंग एंड स्टोरेज एजेंड के तौर पर करोड़ों का कारोबार नहीं कर रहे हैं ? इस 255 डिसमिल जमीन पर 12 फीट से ज्यादा ऊंची चहारदीवारी के निर्माण, क्रेन, वजन की मशीन आदि के लिए तेजस्वी के पास करोड़ों रुपये कहां से आए ? आखिर तेजस्वी यादव ने करोड़ों की जमीन और लोहा कारोबार को चुनावी शपथपत्र से लेकर मंत्री के रूप में की गई सम्पत्ति की घोषणा तक में क्यों छुपा लिया ? तेजस्वी यादव बतायें कि भ्रष्टाचार के जरिये सम्पति अर्जित करना, जानबूझ कर उसे छुपाना क्या आपराधिक कृत्य नहीं है ?

यह भी पढ़े  48 घंटों में पटना पुलिस ने किया लूटकांड का खुलासा, कैश बरामद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here