तेजप्रताप यादव आज अपना 29वां जन्मदिन दलित बस्ती में मनाया

0
94
YARPUR ME TEJPARTAP YADAV DALIT BACHCHON KE SATH APNI BIRTHDAY CELEBRATE KERTE

बिहार के सबसे बड़े सियासी परिवार के मुखिया और राजद सुप्रीमो लालू यादव के बड़े पुत्र तेज प्रताप यादव का आज 29वां जन्मदिन है. इस मौके पर तेज प्रताप यादव ने अपना जन्मदिन अनोखे तरीके से सेलिब्रेट किया. तेज प्रताप ने राजधानी पटना के एक दलित बस्ती में अपना केक काटा और महादलित बच्चों के साथ अपनी खुशियां बांटी. तेज प्रताप ने कहा कि वह अपना जन्मदिन बिल्कुल सादे तरीके से गरीब बच्चों के साथ मना रहे हैं. पटना के यारपुर नीमचक स्थित दलित बस्ती में पहुंचे तेज प्रताप का बच्चों ने जोरदार स्वागत किया.जन्मदिन मनाने के बाद सोशल मीडिया पर अपनी तस्वीर शेयर करते हुए तेज प्रताप ने कहा कि इस समाज मे कोई बड़ा और छोटा नहीं है. उन्होंने कहा कि सबको मिलकर देश को सशक्त करना होगा, हम वोट की राजनीति नहीं करने आये है. गरीबों के बीच जन्मदिन मनाने में मुझे आनंद आता है. तेज प्रताप ने कहा कि बच्चों में भगवान बसते हैं, सो जन्मदिन पर भगवान से आशीर्वाद लेने पहुंच गया. पटना, यारपुर में दलित बस्ती में अपना जन्मदिन मनाया.

यह भी पढ़े  लोस की सभी सीटों पर दावेदारी पेश करेगा समाजवादी सेक्युलर मोर्चा

तेज प्रताप ने इस मौके पर ट्वीट करते हुए लिखा कि पटना, यारपुर स्थित दलित टोला के बच्चों के साथ अपना जन्मदिन मनाया, व कसम लिया कि आप दलितों,बहुजनों,अल्पसंख्यकों, गरीब-गुरबों की लड़ाई को और मजबूती से लड़ूंगा तथा फर्जी राष्ट्रवादीयों की मनूवादी सोच को हर बार पटखनी दूंगा. जय भीम. आप सबों से मील रहे अथाह प्रेम का शुक्रगुजार हूं. तेज प्रताप ने कहा कि पिता लालू यादव ने फोन कर बधाई दी और मां राबड़ी देवी ने सुबह ही आशीर्वाद दिया. मीडिया ने जब पूछा कि होने वाली पत्नी ऐश्वर्या ने कहा कहा, तो तेज प्रताप ने शर्माते हुए कहा कि उन्होंने भी मुझे हैप्पी बर्थ डे कहा है.

तेज प्रताप के जन्मदिन पर अच्छी खासी संख्या में मीडिया वाले भी पहुंच गये. उनके सवालों के जवाब में तेज प्रताप से जन्मदिन पर होने वाली पत्नी की ओर से गिफ्ट की बाबत पूछा गया, तो उन्होंने कहा कि वह खुद कुछ दिनों में आ रहीं हैं, तो गिफ्ट क्या चाहिए. बता दें, 18 अप्रैल को तेज प्रताप की सगायी होने जा रही है और अगले महीने में शादी है.

यह भी पढ़े  कांग्रेस, राजद, वामदलों सहित सभी विपक्षी दलों को इतिहास जानना चाहिए :नित्यानंद राय

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here