तीन लाख बाढ़ पीड़ितों को छह-छह हजार का भुगतान

0
85

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने उत्तर बिहार में इस वर्ष बाढ़ से प्रभावित हुए परिवारों के बैंक खातों में अनुग्रह राशि के सीधे भुगतान की प्रक्रिया की शुक्रवार को शुरुआत की। श्री कुमार ने अपने सरकारी आवास एक-अणो मार्ग स्थित संकल्प में शुक्रवार को पहले चरण में राज्य के बाढ़ग्रस्त जिलों के तीन लाख दो हजार 329 सत्यापित परिवारों के खातों में प्रति परिवार छह हजार रुपये की दर से सार्वजनिक वित्त प्रबंधन पण्राली (पीएफएमएस) के जरिए 181 करोड़ 39 लाख 74 हजार रुपये की सहायता राशि का भुगतान किया। यह सहायता राशि लाभार्थियों को अंतरण के 48 घंटे के अंदर प्राप्त हो जाएगी।बाढ़ सहायता राशि पहले चरण में अररिया के 42 हजार 441, दरभंगा के 67 हजार 28, किशनगंज के 3724, मधुबनी के 35 हजार 222, मुजफ्फरपुर के 6855, पूर्वी चंपारण के 31 हजार 190, पूर्णिया के 20 हजार 738, सहरसा के चार हजार 967, शिवहर के 8861, सीतामढ़ी के 77 हजार 457, सुपौल के 3846 बाढ़ पीड़ित परिवारों के खाते में जमा करा दी गई है। मुख्यमंत्री ने इस मौके पर कहा कि बिहार में अभी भी कुछ ऐसे परिवार हैं, जो सरकारी योजनाओं से पूरी तरह अनभिज्ञ हैं। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिया कि बाढ़ पीड़ित ऐसे परिवारों को चिह्नित कर तत्काल उनका खाता खुलवाने का प्रबंध करें ताकि उन्हें समय पर लाभ मिल सके। इस काम में विकास मित्र और जीविका समूह का सहयोग लिया जा सकता है। श्री कुमार ने कहा कि पीएमएफएस के जरिए लाभुकों के खाते में सीधे राशि जमा कराने की यह व्यवस्था अच्छी है। इससे पूरी पारदर्शिता के साथ बिना व्यवधान के लाभुकों के खाते में सहायता राशि पहुंच जाएगी। उन्होंने कहा कि प्रचार-प्रसार के माध्यम से लोगों को जागरूक किया जाए कि जिन बाढ़ पीड़ित परिवारों का बैंक खाता नहीं है वह अविलंब अपना खाता खुलवा लें ताकि उन्हें भी समय पर लाभ मिल सके। इस मौके पर आपदा प्रबंधन मंत्री लक्ष्मेश्वर राय, मुख्य सचिव दीपक कुमार आदि उपस्थित थे।अमृत, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव चंचल कुमार, मुख्यमंत्री के सचिव अनुपम कुमार, विशेष कार्य पदाधिकारी गोपाल सिंह और अपर सचिव चंद्रशेखर सिंह समेत कई अन्य अधिकारी मौजूद थे।

यह भी पढ़े  हिटमैन' रोहित शर्मा बने टॉप स्कोरर, शाकिब छूटे पीछे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here