तीन मासूमों के सिर से उठ गया माता-पिता का साया

0
108

सिवान/दारैली :दरौली-रघुनाथपुर मुख्य मार्ग पर मेल्हनी गांव समीप शुक्रवार को ओवरटेक करने के दौरान एक तेज रफ्तार ट्रक ने बाइक सवार तीन लोगों को रौंद दिया जिससे उनकी मौत घटना स्थल पर ही हो गई। घटना के बाद ट्रक चालक और खलासी गाड़ी छोड़कर फरार हो गए। मृतकों का शव करीब दो घंटे तक सड़क पर ही पड़ा रहा। टक्कर में बाइक के परखच्चे उड़ गए। जानकारी मिलते ही परिजन सहित काफी संख्या में लोग घटनास्थल पर पहुंचे और दरौली-रघुनाथपुर मुख्य मार्ग को जाम कर दिया। दो घंटे तक सड़क पर आवागमन पूरी तरह से बाधित रहा। इधर सूचना पाकर मौके पर दरौली थानाध्यक्ष, सीओ, दलबल के साथ पहुंचे और हंगामा कर रहे लोगों को समझा बुझा कर शांत किया। शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेजा। मरने वाले सभी एक ही परिवार के थे। वे असावं थानाक्षेत्र के तीयर गांव के शर्मानंद राम, उनकी पत्नी धाना देवी और भतीजा राहुल राम बताए जाते हैं। मृतका धना देवी तीयर पंचायत के वार्ड नंबर पांच की वार्ड सदस्य थी। मृतक के परिजनों को बीडीओ चंदन कुमार, सीओ संजीव कुमार सिन्हा ने मौके पर ही सामाजिक सुरक्षा योजना के तहत 20-20 हजार रपए तुरंत सहायता के रूप में दिया। साथ ही आपदा प्रबंधन विभाग से चार-चार लाख रुपये का मुआवजा जल्द देने का आ वासन दिया गया।

यह भी पढ़े  नाले में गिरकर बच्ची की मौत

मृतक शर्मा नंद राम, पत्नी धना देवी एवं भतीजा राहुल राम की मौत पर सुनकर शर्मानंद की बेटी प्रतिमा कुमारी सहित पूरा परिवार घटनास्थल पर दहाड़ मारकर रोने लगा। उनके चित्कार से वहां उपस्थित लोग भी अपनी आंसूओं को नहीं रोक पाए। पुत्री प्रतिमा की चीख ने वहां उपस्थित लोगों को झकझोर कर रख दिया। पापा माई हमनी के छोड़ के कहां गईल हो। अब के हमनी के देखी.. आदि कह-कह कर वह बेहोश होकर गिर जा रही थी जिसे वहां उपस्थित लोग संभाल रहे थे। वहीं मृतक राहुल राम की मां गुलवती कुंवर की स्थिति ठीक नहीं थी। वह रोते-रोते बेहोश हो जा रही थी। मृतक शमानंद राम को एक पुत्र आशीष कुमार (आठ वर्ष), दो पुत्री क्रमश: प्रतिमा कुमारी (18) और प्रियंका कुमारी (15) वर्ष की है।

बहनोई के घर से लौट रहे थे सभी मृतक : शर्मानंद राम अपनी पत्नी धाना देवी एवं भतीजा राहुल राम के साथ एक ही बाइक पर सवार होकर अपने बहनोई दरौली के उकड़ेरी निवासी प्रभुराम के यहां पुछार कर लौट रहे थे। तभी मल्हनी गांव के पास सामने से आ रहे ट्रक की चपेट में आकर सड़क दुर्घटना के शिकार हो गए। ज्ञात हो कि शर्मानंद राम के बहनोई प्रभुराम के भाई गुलाम राम की मौत लुधियाना में एक नहर में बह जाने से हो गई थी।

यह भी पढ़े  14 मिनट तक लापता था विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को मॉरीशस ले जा रहा हवाई जहाज

तीन बच्चों के सर से उठा एक साथ मां-पिता का साया : सड़क दुर्घटना में हुई शर्मानंद राम एवं उनकी पत्नी की मौत के बाद एक ही साथ तीन बच्चों के सर से मां-पिता का साया उठ गया। वहीं बच्चों के समक्ष परवरिश की चिंता सताने लगी है। सभी मासूम अपनी मां और पिता के खोने के गम में टकटकी लगा कर एक दूसरे को देख रहे थे।

ट्रक छोड़ चालक एवं खलासी फरार : घटना के बाद ट्रक चालक एवं खलासी ट्रक छोड़कर फरार हो गए। पुलिस ने ट्रक को अपने कब्जे में ले लिया और ट्रक चालक सहित गाड़ी मालिक पर प्राथमिकी की कार्रवाई शुरू कर दी थी।

घटना की खबर सुन उमड़ा लोगों की भीड़ : रघुनाथपुर-दरौली मुख्य सड़क पर शुक्रवार को मल्हनी गांव के पास थाना के तियर गांव के तीन लोगों को एक ट्रक ने रौंदा दिया। जिससे घटना स्थल पर ही मौत हो गई। इसकी खबर सुन काफी संख्या में लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। सड़क पर आधा किलोमीटर तक सिर्फ लोग ही दिखाई दे रहे थे। सभी के आंखें भरी हुई थीं। चारों तरफ परिजनों की चीख सुनाई पड़ रही थी।

यह भी पढ़े  पहाड़ों पर बर्फबारी से फिर कांपा उत्तर भारत, मैदानी इलाकों में बारिश से किसान खुश

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here