ठंड में ठिठुरते हुए मनानी होगी मकर संक्रांति

0
133

बिहार में रविवार की सुबह भी कड़ाके की ठंड के साथ हुई। इसके पहले शनिवार को भी ठंड का कहर जारी रहा। इसके पहले ठंड से राज्‍य में 14 लोगों की मौत हो गई। कोहरे के कारण कई ट्रेनें रद कर दी गईं हैं तो कई विलंब से चल रही हैं। कोहरे के कारण विमान सेवाएं भी प्रभावित हो गई हैं। 

ठंड ने बिहार में अब तक के सारे पुराने रिकार्ड तोड़ दिए हैं। पहली बार सूबे में लगातार एक महीने तक न्यूनतम एवं अधिकतम तापमान सामान्य से भी पांच से दस डिग्री सेल्सियस तक नीचे बना हुआ है। मौसम विज्ञान केन्द्र, पटना के मुताबिक बिहारवासियों को अच्छे मौसम के लिए अगले हफ्ते तक इंतजार करना होगा। हालांकि इस बीच दिन का तापमान धीरे-धीरे बढ़ेगा तथा दिन के पहले पहर में थोड़ी धूप निकलेगी। बावजूद, पूरा मौसम ठीक होने में अभी एक सप्ताह से अधिक का समय लगेगा। बहरहाल, रविवार को लोगों को शीतलहर के बीच ही मकर संक्रांति मनानी होगा।मौसम विभाग के मुताबिक भूमध्यसागर से उठने वाले पश्चिमी विक्षोभ का प्रभाव बिहार की उत्तरी-पश्चिमी सीमा में बने रहने की वजह से तापमान में यह गिरावट दर्ज की जा रही है। पश्चिमी विक्षोभ की वजह से आए मौसम में उथल-पुथल से पूरा उत्तर भारत इन दिनों भयंकर ठंड की चपेट में है। राजधानी समेत राज्यभर में शनिवार को लगातार 25 वें दिन ठंड से राजधानी ठिठुरती रही। दिनभर नौ से दस किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से पछुआ हवा चलने से पारा अपने न्यूनतम सीमा तक पहुंच गया है। ठंड की वजह से सूबे में सामान्य से भी बारह डिग्री सेल्सियस कम तापमान दर्ज किया जा रहा है। भारी ठंड की वजह से पूरा जन-जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। मौसम विभाग ने 48 घंटों के अपने पूर्वानुमान में कहा है कि आने वाले दो दिनों में ठंड से राहत मिलने की कोई उम्मीद नहीं है। भारी शीतलहर से लोगों का जीना मुहाल है।मौसम विभाग के पटना केन्द्र के मुताबिक शनिवार को यहां का न्यूनतम तापमान 6.3 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया है, जबकि इन दिनों यहां का न्यूनतम तापमान दस से बारह डिग्री सेल्सियस होना चाहिए था। इसी तरह अधिकतम तापमान 16.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जबकि यह 22-23 डिग्री सेल्सियस होना चाहिए था। भागलपुर का अधिकतम तापमान 16.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्य से आठ डिग्री कम है, जबकि न्यूनतम तापमान 4.6 डिग्री तक पहुंच गया है। गया में भी शनिवार को यहां का अधिकतम तापमान 16.9 तथा न्यूनतम तापमान 7.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

यह भी पढ़े  पुलिस का खुफिया तंत्र फेल : हाईकोर्ट

शहतलहर व कोल्‍ड डे के हालात

कल राज्य के अधिकांश इलाकों में दिन में कुछ देर के लिए धूप निकली, लेकिन इससे राहत नहीं मिली। हवा में कनकनी बरकरार रही और शाम ढलते ही परेशानी बढऩे लगी। सूबे में ठंड का कहर अगले 48 घंटे तक बना रहेगा। पूर्वानुमान के अनुसार 15 जनवरी तक बिहार के अधिकांश हिस्से में कोहरा और शीतलहर से कोल्ड-डे की स्थिति बनी रहेगी। मौसम विभाग ने ठंड और कोहरे के पूर्वानुमान को देखते हुए लोगों को सतर्क रहने की चेतावनी जारी की है।

इस बीच शनिवार को पटना, गया, भागलपुर और पूर्णिया में कोल्ड-डे रहा। ठंड व कोहरे के कारण सड़क-रेल यातायात व विमानों का परिचालन भी प्रभावित रहा। वहीं ठंड से राज्य में शनिवार को 14 लोगों की मौत हो गई। इनमें सीतामढ़ी जिले के पांच, समस्तीपुर के तीन, मधेपुरा के दो एवं पश्चिम चंपारण, कटिहार, बांका व दरभंगा के एक-एक व्यक्ति शामिल हैं।
भागलपुर में सबसे कम तापमान

यह भी पढ़े  महात्मा गांधी की 148वीं जयंती पर सूबे में बाल विवाह और दहेज प्रथा को जड़ से उखाड़ फेंकने का संकल्प

शनिवार की सुबह पूर्णिया में हवा में नमी की मात्रा सौ फीसद आंकी गई। भागलपुर का न्यूनतम तापमान बिहार में सबसे कम 4.6 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया।
साप्ताहिक पूर्वानुमान के अनुसार 15 जनवरी तक पटना सहित राज्य के अधिकांश हिस्से में न्यूनतम तापमान 6 से 7 डिग्री और अधिकतम 17 डिग्री सेल्सियस तक रहने का अनुमान है। पटना और गया में घना कोहरा छाया रहेगा। पूर्णिया और भागलपुर भी कोहरे की चपेट में रहेगा। पटना में शनिवार की सुबह हवा की रफ्तार नौ किलोमीटर प्रति घंटे और नमी की मात्रा 92 प्रतिशत रहने के कारण गलन महसूस की गई।

बिहार में भागलपुर शनिवार को सबसे सर्द रहा। भागलपुर का न्यूनतम तापमान गिरकर 4.6 डिग्री और अधिकतम 16.9 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। पूर्णिया का न्यूनतम तापमान 7 डिग्री और अधिकतम 17.2 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। गया का न्यूनतम तापमान 7.7 डिग्री और अधिकतम 16.9 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया।
समस्तीपुर जिले के पूसा स्थित डॉ. राजेंद्र कृषि विश्वविद्यालय के मौसम वैज्ञानिक डॉ. ए.सत्तार ने बताया कि सर्दी अभी जारी रहेगी। पछिया हवा के कारण कनकनी बरकरार रहेगी।
कोहरे से ट्रेनों का बुरा हाल, विमान भी लेट
कोहरे की मार से ट्रेनों की चाल लड़खड़ा गई है। नई दिल्ली जाने वाली 12309 राजधानी एक्सप्रेस शनिवार को अपने निर्धारित समय से पटना से खुली, लेकिन नई दिल्ली से आने वाली अधिसंख्य ट्रेनें घंटों लेट रहीं। नई दिल्ली से चलने वाली राजधानी एक्सप्रेस शनिवार को रद रही। नई दिल्ली से आने वाली संपूर्ण क्रांति एक्सप्रेस 13 घंटे और भागलपुर जाने वाली विक्रमशिला एक्सप्रेस 20 घंटे विलंब से जंक्शन पहुंची। मगध एक्सप्रेस लगातार शाम की बजाय रात 2 से 3 बजे के आसपास जंक्शन से रवाना हो रही है।
उधर शनिवार को भी पटना एयरपोर्ट पर सुबह 10 बजे तक विजिबिलिटी 200 मीटर से अधिक नहीं थी। इस कारण कोलकाता से पटना आने वाले स्पाइस जेट के विमान ने 12 बजे लैंड किया। सुबह बेंगलुरु व दिल्ली से आने वाली गो एयरवेज की विमान दो घंटे देरी से पटना पहुंची। सुबह में घने कोहरे के कारण थोड़ी देर तक यात्रियों को परेशानी हुई, लेकिन दोपहर में धूप निकलने की वजह से विमान सेवा सामान्य हो गई।
रद व विलंब से चलने वाली ट्रेनें
12310 राजधानी एक्सप्रेस – रद
12394 संपूर्ण क्रांति एक्स – 13 घंटे
12368 विक्रमशिला –      20 घंटे
12392 श्रमजीवी एक्स –    7 घंटे
12391 श्रमजीवी एक्स –    1 घंटे
12402 मगध एक्सप्रेस –    11 घंटे
12401 मगध एक्सप्रेस –    9 घंटे
12366 रांची जनशताब्दी –   डेढ़ घंटे
12367 विक्रमशिला –      1 घंटे
14056 ब्रह्म्पुत्र एक्स –     9 घंटे
12506 नार्थ ईस्ट –      9 घंटे
12424 गुवाहाटी राजधानी – 2 घंटे
13006 पंजाब मेल –    6 घंटे
13050 अमृतसर हावड़ा – 11 घंटे
13240 कोटा एक्स –    15 घंटे
12141 एलटीटी पीपीटीए – 2 घंटे
12295 संघमित्रा एक्स –   3 घंटे

यह भी पढ़े  चालू वित्तीय वर्ष में 97 लाख शौचालय बनाए जाएंगे :श्रवण

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here