टीम इंडिया की बॉलिंग दुनिया में सबसे खतरनाक, विदेश में बुमराह का परफॉर्मेंस बेस्ट

0
96

विश्व क्रिकेट में जब भी दमदार गेंदबाजी की बात होती है तो ऑस्ट्रेलिया, दक्षिण अफ्रीका, वेस्टइंडीज और पाकिस्तान का नाम आता है. भारत (Indian Team) से पहले इंग्लैंड का जिक्र भी हो जाता है. लेकिन यह बीते जमाने की बात है. अगर आप आज में यकीन करते हैं तो यह भी जान लीजिए कि फिलहाल सबसे खतरनाक बॉलिंग लाइनअप भारत के पास है. और दुनिया का सबसे बेहतरीन गेंदबाज भी भारत के जसप्रीत बुमराह (Jasprit Bumrah) ही हैं. एक बात और. टीम इंडिया (Team India) के हारने पर अक्सर लोग टीम को ‘घर के शेर’ का ताना भी देते हैं. जबकि, हकीकत यह है कि 2016 से अब तक के आंकड़े इस बात की गवाही देते हैं कि जब बात विदेश में अच्छे प्रदर्शन की हो तो भारतीय गेंदबाज बेस्ट हैं.

टेस्ट क्रिकेट के 2016 से अब तक के गेंदबाजी के आंकड़ों की पड़ताल करें तो यह पता चलता है कि विदेश में सबसे अच्छा प्रदर्शन भारतीय गेंदबाजों ने किया है. जबकि जब घर में बेस्ट बॉलिंग की बात आती है, तो दक्षिण अफ्रीकी टीम, भारत से आगे निकल जाती है. भारत इस मामले में दूसरे नंबर पर छूट जाता है. हालांकि, जब देश-विदेश दोनों के आंकड़े जोड़ दें तो दक्षिण अफ्रीकी टीम भारत से थोड़ी बेहतर स्थिति में दिखती है. क्रिकेट से जुड़ी वेबसाइट ‘क्रिकइंफो’ ने इन आंकड़ों के आधार पर स्टोरी की है. चूंकि मुख्य मुकाबला भारतीय और दक्षिण अफ्रीकी गेंदबाजों में है, इसलिए इस स्टोरी में इन्हीं दोनों देशों के गेंदबाजों की तुलना की गई है.

यह भी पढ़े  भारत ने आखिरी गेंद पर बांग्लादेश को हराकर 7वीं बार जीता एशिया कप

आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में भारत पहले और दक्षिण अफ्रीका दूसरे नंबर पर है. इसी तरह टेस्ट गेंदबाजी रैंकिंग में दक्षिण अफ्रीकी गेंदबाज कैगिसो रबाडा (Kagiso Rabada) पहले नंबर पर हैं. ऑस्ट्रेलिया के पैट कमिंस दूसरे, इंग्लैंड के जेम्स एंडरसन तीसरे और दक्षिण अफ्रीका के वेर्नोन फिलेंडर चौथे नंबर पर हैं. भारतीय गेंदबाजों की बात करें तो रवींद्र जडेजा पांचवें, रविचंद्रन अश्विन 10वें, जसप्रीत बुमराह 16वें, मोहम्मद शमी 23वें, इशांत शर्मा 28वें, उमेश यादव 32वें और कुलदीप यादव 42वें नंबर पर हैं.

स्पष्ट है कि ताजा रैंकिंग वह तस्वीर बयान नहीं करती, जो 2016 से अब तक के समूचे आंकड़ों को एकजुट करने से बनती है. तस्वीर का दूसरा पहलू यह है कि 2016 से अब तक सबसे अधिक टेस्ट विकेट लेने के मामले में रविचंद्रन अश्विन और कैगिसो रबाडा संयुक्त रूप से पहले नंबर पर हैं. इन दोनों ने ही इस दौरान 33-33 मैचों में 166-166 विकेट लिए हैं. नाथन लॉयन 161 विकेट के साथ तीसरे नंबर पर हैं. रवींद्र जडेजा 25 मैचों में 124 विकेट लेकर सातवें नंबर पर हैं. हालांकि, जब भी गेंदबाजों के प्रदर्शन की बात आती है तो विकेटों के साथ गेंदबाजी औसत भी अहम होता है. इसलिए सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी तय करने के लिए हमेशा ही औसत को भी पैमाना बनाया जाता है. इस स्टोरी में भी ऐसा ही है.

यह भी पढ़े  न्यूजीलैंड दौरे के लिए टी-20 टीम में हुई धोनी की वापसी

गेंदबाजों के इस प्रदर्शन को देश और विदेश के पैमाने पर बांटें तो तस्वीर काफी बदल जाती है. पिछले करीब दो साल में घरेलू विकेट में बेहतरीन प्रदर्शन के मामले में दक्षिण अफ्रीका के डुआन ओलिवर (Duanne Olivier) पहले नंबर पर हैं. उन्होंने महज 16.26 की औसत से 34 विकेट लिए हैं. दक्षिण अफ्रीका के ही वेर्नोन फिलेंडर (17.50 औसत, 58 विकेट) दूसरे नंबर पर हैं. कैगिसो रबाडा तीसरे, डेल स्टेन चौथे, रवींद्र जडेजा पांचवें, अश्विन छठे, मोहम्मद शमी सातवें, उमेश यादव आठवें नंबर पर हैं.

अब बात विदेश में प्रदर्शन की. इस मामले में भारत के जसप्रीत बुमराह नंबर-1 हैं. उन्होंने विदेश में डेब्यू किया और अब तक सारे टेस्ट मैच विदेश में ही खेले हैं. जसप्रीत बुमराह को विदेश में खेलना इतना पसंद आया कि वे चोटी पर ही जा बैठे (देखें टेबल ऊपर) . उन्होंने इन 10 टेस्ट में 21.9 की औसत से 49 विकेट लिए हैं. इशांत शर्मा दूसरे, मोहम्मद शमी तीसरे, केशव महाराज चौथे और रविचंद्रन अश्विन पांचवें नंबर पर हैं. कैगिसो रबाडा छठे, रवींद्र जडेजा सातवें और वेर्नोन फिलेंडर आठवें नंबर पर हैं.

यह भी पढ़े  फिर काम आया भारत के खिलाफ द. अफ्रीका का टोटका, नहीं तो रचा जाता इतिहास

गेंदबाजों के इस प्रदर्शन का असर टीम के रिजल्ट पर साफ दिखता है. एक जनवरी 2016 से अब खेले गए टेस्ट मैच में सबसे बढ़िया प्रदर्शन भारत का रहा है. उसने इस दौरान सबसे अधिक 23 टेस्ट मैच जीते. दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड ने इस दौरान 20-20 मैच जीते. ऑस्ट्रेलिया 16 जीत के साथ चौथे नंबर पर है. श्रीलंका ने 13, न्यूजीलैंड ने 12 और पाकिस्तान ने 10 टेस्ट मैच जीते हैं. वेस्टइंडीज ने इस दौरान नौ, बांग्लादेश ने छह और जिम्बाब्वे ने एक टेस्ट मैच जीता. अफगानिस्तान और आयरलैंड ने इसी दौरान टेस्ट क्रिकेट में डेब्यू किया. हालांकि, उन्हें पहली जीत का इंतजार है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here