जोकीहाट विधान सभा उप चुनाव आयोग ने मतदाताओं के लिए घोषित किया वैकल्पिक दस्तावेज

0
398

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी एचएन श्रीनिवास ने कहा कि जोकीहाट विधान सभा उप निर्वाचन के लिए निर्वाचकों की व्यक्तिगत पहचान अनिवार्य है। निर्वाचक की व्यक्तिगत पहचान स्थापित होने के बाद ही उन्हें मतदान करने की अनुमति दी जायेगी। निर्वाचकों की व्यक्तिगत पहचान के लिए भारत निर्वाचन आयोग द्वारा निर्वाचक फोटो पहचान पत्र निर्गत किये गये हैं। ऐसे निर्वाचक फोटो पहचान पत्र के आधार पर निर्वाचक अपनी व्यक्तिगत पहचान स्थापित कर मतदान में भाग ले सकते हैं। वैसे निर्वाचक जिन्हें किसी कारणवश निर्वाचक फोटो पहचान पत्र निर्गत नहीं किया जा सका है अथवा निर्वाचक फोटो पहचान पत्र किसी कारणवश वे प्राप्त नहीं कर सके हैं, उनकी व्यक्तिगत पहचान के लिए आयोग ने वैकल्पिक फोटो दस्तावेजों की सूची जारी कर दी गई हैं जिनका इस्तेमाल मतदान के समय व्यक्तिगत पहचान स्थापित करने में किया जा सकता है। वैकल्पिक दस्तावेजों में पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस, राज्य/केन्द्र सरकार सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों /पब्लिक लिमिटेड कंपनियों द्वारा अपने कर्मचारियों को जारी किए जाने वाले फोटोयुक्त सेवा पहचान-पत्र, बैंकों/डाकघरों द्वारा जारी किए गए फोटोयुक्त पासबुक, पैन कार्ड, आधार कार्ड, आरजीआई एवं एनपीआर द्वारा जारी किए गए स्मार्ट कार्ड, मनरेगा जॉब कार्ड, श्रम मंत्रालय की योजना के अन्तर्गत जारी स्वास्य बीमा स्मार्ट कार्ड, फोटोयुक्त पेंशन दस्तावेज, निर्वाचन तंत्र द्वारा जारी प्रमाणिक फोटो मतदाता पर्ची एवं सांसदों विधायकों/विधान परिषद सदस्यों को जारी किए गए सरकारी पहचान पत्र। उन्होंने कहा कि उपयरुक्त दस्तावेजों में से कोई भी एक दस्तावेज प्रस्तुत करने पर निर्वाचक द्वारा मताधिकार का प्रयोग किया जा सकेगा। बशत्रे कि इससे निर्वाचक की पहचान स्थापित हो जाती हो। निर्वाचक फोटो पहचान पत्र के संबंध में लेखन अशुद्धि, वर्तनी की अशुद्धि इत्यादि को नजरअंदाज कर देना चाहिए बशर्ते मतदाता की पहचान निर्वाचक फोटो पहचान पत्र से सुनिचित की जा सके। यदि कोई मतदाता फोटो पहचान पत्र प्रदर्शित करता है, जो कि किसी अन्य विधान सभा निर्वाचन क्षेत्र के निर्वाचन रजिस्ट्रीकरण ऑफिसर द्वारा जारी किया गया है, ऐसे निर्वाचक फोटो पहचान पत्र भी पहचान स्थापित करने हेतु स्वीकृत किए जाएंगे। बशत्रे निर्वाचक को नाम, जहां वह मतदान करने आया है, उस मतदान स्थल से संबंधित निर्वाचक नामावली में उपलब्ध होना चाहिए। यदि फोटोग्राफी इत्यादि के बेमेल होने के कारण मतदाता की पहचान सुनिचित करना संभव न हो तब मतदाता को उपयरुक्त वर्णित किसी एक वैकल्पिक फोटो दस्तावेज को प्रस्तुत करना होगा। उपयरुक्त वैकल्पिक फोटो दस्तावेजों के होते हुए भी प्रवासी निर्वाचक जो अपने पासपोर्ट में विवरणों के आधार पर लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम, 1950 की धारा 20(क) के अधीन निर्वाचक नामावलियों में पंजीकृत हैं, उन्हे मतदान केन्द्र में उनके केवल मूल पासपोर्ट (तथा कोई अन्य पहचान दस्तावेज नहीं) के आधार पर ही पहचाना जाएगा।

यह भी पढ़े  अनियमितताओं की जानकारी दी, नहीं हुई कार्रवाई : परवीन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here