जुलाई में सामान्य से 21% अधिक बारिश,गंगा, कोसी, महानंदा का जल स्तर बढ़ा

0
12
राजधानी समेत सूबे के विभिन्न जिलों में पिछले कई दिनों से जारी मूसलधार बारिश बुधवार को भी जारी रही। बारिश के बाद यहां के तापमान में भारी गिरावट दर्ज की गई तथा अधिकतम तापमान जो पांच दिन पहले तक 35 से 40 डिग्री सेल्सियस तक दर्ज किया जा रहा था, वह लुढ़ककर 30 पर पहुंच गया है। मौसम विभाग ने अगले सात दिनों के पूर्वानुमान में कहा है कि बारिश का सिलसिला जारी रहेगा तथा इस बीच राजधानी समेत राज्य के विभिन्न हिस्सों में जोरदार बारिश होगी। गत शनिवार शाम से शुरू हुई मूसलाधर बारिश पांचवे दिन बुधवार को भी जारी रही। बुधवार की सुबह से ही आसमान में हल्के बादल छाये हुए थे। बारह बजते – बजते तेज बिजली कड़कने लगी और मूसलधार बारिश शुरू हो गई जो बीच – बीच में कुछ देर के लिए रुक – रुक कर डेढ़ से दो घंटे तक होती रही। बारिश की वजह से मौसम में मिठास आ गई है। राजधानी समेत राज्य के विभिन्न हिस्सों में बारिश होने से किसानों के चेहरे पर रौनक लौट आई है तथा खेतों में धान रोपाई का काम शुरू हो गया है। उधर, बुधवार को राजधानी का अधिकतम तापमान 30.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्य से तीन डिग्री सेल्सियस कम है जबकि न्यूनतम तापमान 25.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। भागलपुर का अधिकतम तापमान 30.6 डिग्री तथा न्यूनतम तापमान 25.8 डिग्री जबकि गया का अधिकतम तापमान 32.2 तथा न्यूनतम 45.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।
पिछले तीन दिनों में हुई बारिश ने जून की कमी को पूरा कर दिया. जून में सामान्य से 41 फीसदी कम बारिश हुई थी. जुलाई में एक से 10 तारीख के बीच सामान्य से 21 फीसदी अधिक बारिश हुई है. सामान्य तौर पर इस अवधि में 110 एमएम  बारिश होती है, लेकिन 132.8 एमएम बारिश हुई. 10 जुलाई को सामान्य से 183 प्रतिशत अधिक 12.21 एमएम की जगह 34.3 एमएम बारिश हुई. अबतक राज्य में 84.82 फीसदी बिचड़े डाले जा चुके हैं.
3.30 लाख हेक्टयर की जगह 278591 हेक्टयर में बिचड़े डाले जा चुके हैं. पटना, पूर्णिया, शिवहर, अरवल, बक्सर, रोहतास में 100 फीसदी बिचड़े डाले जा चुके हैं. इसमें सबसे पीछे लखीसराय है. वैशाली में 45, समस्तीपुर में 36.54, बेगूसराय में 10.90, मुंगेर में 34.41 , भागलपुर में 47.63 और बांका जिले में 47.38 प्रतिशत बिचड़े डाले गये हैं. इस साल 33 लाख हेक्टयर में धान की खेती का लक्ष्य रखा गया है. अबतक 35 लाख दो हजार 309 हेक्टयर में धान की रोपनी हो चुकी है.
गंगा, कोसी, महानंदा का जल स्तर बढ़ा  
खगड़िया/कटिहार : गंगा, कोसी, महानंदा व बरंडी नदियों के जल स्तर में वृद्धि हुई है. कोसी नदी के जल स्तर में 70 सेंटीमीटर की वृद्धि दर्ज हुई है. गंगा, कोसी, बरंडी एवं महानंदा नदी के जल स्तर में लगातार वृद्धि हो रही है. पिछले 12 घंटे के दौरान जल स्तर में 10 से 40 सेंटीमीटर की वृद्धि दर्ज की गयी है. बाढ़ नियंत्रण प्रमंडल के अनुसार गंगा नदी के रामायणपुर में मंगलवार की शाम 23.04 मीटर वृद्धि दर्ज की गयी है.
35 लाख दो हजार 309 हेक्टेयर में हुई धान की रोपनी  
 
महानंदा बराज से छोड़ा 450 क्यूसेक पानी, अलर्ट
किशनगंज : बुधवार को पश्चिम बंगाल स्थित महानंदा बराज से 450 क्यूसेक पानी डिस्चार्ज किया गया, जिससे महानंदा का जल स्तर और बढ़ेगा. डीएम ने सभी बीडीओ, सीओ को अलर्ट रखने का निर्देश दिया है. वहीं, एसपी कुमार आशीष ने सभी थानाध्यक्षों को निर्देश दिया है. नदी में नाव के परिचालन को बंद करने और नदी घाट पर निगरानी करने को कहा है.
यह भी पढ़े  बिहार से गुजरनेवाली चार ट्रेनें आज से रद, फरक्का एक्सप्रेस भी सप्ताह में एक दिन रहेगी रद,

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here