जुआरियों को पकड़ने गयी पुलिस की पब्लिक से भिड़ंत, पुलिस फायरिंग में युवक की मौत

0
21

फुलवारीशरीफ : पटना के बेउर और परसा बाजार थाने की सीमा पर देर रात जुआरियों को पकड़ने गयी पुलिस पर जुआरियों ने पथराव कर दिया. इतना ही नहीं चारों ओर से पथराव किये जाने के बाद घिर चुकी बेउर थाने की पुलिस ने फायरिंग शुरू कर दी. इसमे एक युवक चिंटू की मौत हो गयी. जबकि, दो अन्य लोग भी जख्मी हो गये. इस दौरान एक पुलिसकर्मी त्रिशूल पांडेय भी बुरी तरह जख्मी हो गये. घायलों को पीएमसीएच में भर्ती कराया गया है, जहां घायल एएसआई त्रिशूल पांडेय की हालत चिंताजनक बतायी जा रही है.

वहीं, घटना से आक्रोशित लोगों ने सोमवार की सुबह परसा-पुनपुन सड़क और पटना-गया रेलमार्ग को जाम कर जमकर बवाल करने लगे. आगजनी करते हुए लोगों ने पुलिस प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए मौके पर पुलिस प्रशासन के आला अधिकारियों को बुलाने की मांग कर रहे हैं. बवाल की सूचना मिलने पर सिटी एसपी समेत कई थानों की पुलिस वज्र वाहन के साथ मौके पर पहुंची. प्रदर्शन कर रहे लोग किसी की सुनने को तैयार नहीं हुए और पथराव कर दिया. इसके बाद पुलिस ने लोगों को सड़क और रेलमार्ग से हटाने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े और लाठियां चटकाते हुए सभी प्रदर्शनकारियों को खदेड़ दिया. हालात को काबू करने के लिए भारी फोर्स इलाके में तैनात कर दिया गया है.

 घटना के संबंध में बताया जा रहा है कि बेउर थाने की पुलिस को सूचना मिली कि न्यू एतवारपुर में जुआ खेलने को लेकर अपराधियों का जमावड़ा लगा हुआ है. वहीं से किसी ने पुलिस को सूचना दी थी. बेउर थाने की पुलिस जब जुआरियों को पकड़ने पहुंची, तब जुआरियों ने पुलिस पर पथराव कर दिया. चारों ओर से लोग पुलिस टीम को घेरकर पथराव करने लगे. चारों ओर से घिर चुकी पुलिस ने बचाव में फायरिंग कर दी. पुलिस फायरिंग में चिंटू नामक स्थानीय युवक की मौत हो गयी, जबकि दो अन्य लोग भी जख्मी हुए. पुलिस-पब्लिक में भिड़ंत में एक एएसआई त्रिशूल पांडेय भी बुरी तरह जख्मी हो गये. 

यह भी पढ़े  सुशील मोदी के ट्वीट पर गरमाई बिहार की राजनीति, NDA-महागठबंधन आमने-सामने

पुलिस और पब्लिक के बीच हुए भिड़ंत और फायरिंग में युवक की मौत की खबर पर पुलिस फोर्स को मौके पर भेजा गया. सुबह होते ही स्थानीय लोग उग्र हो गये और परसा-पुनपुन मुख्य मार्ग और पटना से गया जानेवाली रेलमार्ग को जाम कर भारी बवाल करते हुए आक्रोशपूर्ण प्रदर्शन करने लगे. लोग पुलिस प्रशासन की सुनने को तैयार नही थे, उसके बाद पुलिस को आंसू गैस के गोले छोड़ने के साथ लाठीचार्ज भी करना पड़ा. बल प्रयोग करके पुलिस ने भीड़ को तितर-बितर कर दिया. सड़क और रेलमार्ग को सुचारू कराया गया. मौके पर तनावपूर्ण माहौल को देखते हुए भारी पुलिस फोर्स तैनात कर पूरा इलाका पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here