‘‘जीडीपी’ यानी ‘‘सकल विभाजनकारी राजनीति’

0
109

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार को देश की अर्थव्यवस्था में गिरावट को लेकर केंद्र सरकार पर निशाना साधा और ‘‘जीडीपी’ को ‘‘सकल विभाजनकारी राजनीति’ बताया। राहुल ने निवेश, बैंक क्रेडिट ग्रोथ, रोजगार निर्माण, कृषि वृद्धि में कमी पर प्रधामंत्री नरेंद्र मोदी और वित्तमंत्री अरुण जेटली दोनों पर निशाना साधा।राहुल गांधी ने ट्वीट किया, ‘‘वित्तमंत्री जेटली और मोदी की सकल विभाजनकारी राजनीति ‘‘ग्रॉस डिवाइसिव पॉलिटिक्स’ (जीडीपी) वाली जीनियस जोड़ी ने भारत को 13 वर्षो में सबसे कम निवेश, 63 वर्षो में सबसे कम बैंक क्रेडिट ग्रोथ, आठ वर्षो में सबसे कम रोजगार निर्माण, कृषि जीवीए वृद्धि में 1.7 प्रतिशत की कमी, राजकोषीय घाटा आठ वर्षो में सबसे ज्यादा और ठप परियोजनाएं दी हैं।’ राहुल ने अपने ट्वीट के साथ केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय (सीएसओ) की रपट को संलग्न किया है, जिसमें 2017-18 के दौरान भारत की आर्थिक वृद्धि दर 7.1 प्रतिशत से कम रहने का अनुमान लगाया गया है। वर्ष 2016-17 में भारत ने 7.1 प्रतिशत की आर्थिक वृद्धि दर हासिल की थी। सीएसओ के डाटा के अनुसार, ‘‘वस्तु एवं सेवा कर लागू करने और विनिर्माण क्षेत्र में कमी आने से 2017-18 के दौरान आर्थिक वृद्धि दर 6.5 प्रतिशत रहने का अनुमान लगाया गया है।’

यह भी पढ़े  रोजगार से हुए दूर, मुश्किल में हैं मजदूर, दो माह से सूने पड़े हैं घाट

कांग्रेस नेता पी. चिदंबरम ने अर्थव्यवस्था प्रबंधन को लेकर शनिवार को मोदी सरकार पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि निकट भविष्य में आर्थिक मंदी की बुरी आशंका सच साबित हो गई है और नौकरियों के सृजन में नाकामी भाजपा की एक बड़ी असफलता है। पूर्व वित्तमंत्री ने कहा कि सरकार ने बड़े-बड़े दावे किए थे, जो हवा में उड़ गए। चिदंबरम ने कहा कि निवेश की तस्वीर पूरी तरह से निराशाजनक है और राजकोषीय घाटा बजट अनुमानों को पार कर रहा है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here