जापान व बिहार के बीच संबंध पुराने

0
21

बिहार इंडस्ट्रीज एसोसिएशन प्रांगण में मंगलवार को बीआईए, आईआईटी, पटना तथा सीआईआई, बिहार चैप्टर के संयुक्त तत्वावधान में सेमिनार का आयोजन किया गया। ‘‘जापान्स इन्वेस्टमेंट इन इंडिया विथ स्पेशल रिफरेंस टू बिहार’ विषय पर आयोजित इस सेमिनार में मुख्य अतिथि एवं वक्ता जापान के कोबे विविद्यालय के प्रो. ताकाहिरो सातो थे। अतिथियों का स्वागत एसोसिएशन के उपाध्यक्ष संजय भरतिया ने किया। श्री भरतिया ने कहा कि जापान और बिहार का बीच काफी पुराना सांस्कृतिक एवं अध्यात्मिक संबंध रहा है। बिहार राज्य जो आर्थिक एवं औद्योगिक रूप में पिछड़ा राज्य है, अपने राज्य में औद्योगिक निवेश के लिए प्रयत्नशील है। इसी कड़ी में राज्य सरकार का एक प्रतिनिधिमंडल मुख्यमंत्री के नेतृत्व में इस वर्ष फरवरी माह में जापान गया था, जिसमें बिहार इंडस्ट्रीज एसोसिएशन के अध्यक्ष भी एक सदस्य के रूप में शामिल थे। उक्त भ्रमण के दौरान जापान और बिहार के बीच व्यापारिक संबंध की स्थापना के लिए विचार विमर्श हुए। आज का सेमिनार इस कड़ी को आगे बढ़ाने के प्रयास के रूप में देखा जा सकता है। उन्होंने मुख्य अतिथि के माध्यम से जापान से राज्य में निवेश करने का आमंतण्रदिया। सीआईआई बिहार चेप्टर के अध्यक्ष पीके सिन्हा ने जापान एवं भारत के बीच स्थापित प्राचीन भावनात्मक संबंध की र्चचा करते हुए कहा कि जापान द्वारा बिहार में प्रौद्योगिकी, मानव संसाधन, पर्यटन, नवीन एवं नवीकरणिय ऊ र्जा, आईटी सेक्टर में आदि में निवेश की काफी संभावनाएं हैं। इस दिशा में राज्य सरकार द्वारा राजगीर के निकट 120 एकड़ भूमि जापानी कंपनियों के निवेश एवं उद्योग स्थापना हेतु चिन्हित किया गया है। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि टाकाहीरो साटो ने बताया कि वे जापान में कोबे युनिवरसिटी में पिछले 26 वर्षो से भारतीय अर्थ व्यवस्था पर अध्ययन अध्यापन के कार्य से जुड़े हुए है। वर्ष 2010 से उन्होंने जापान का भारत में निवेश विषय पर शोध करना शुरू किया है। उन्होंने बताया कि 2008 में भारत में कुल 550 जापानीज उद्योग एवं 838 व्यापारिक प्रतिष्ठान कार्यरत थे जिनकी संख्या 2017 में बढ़ कर क्रमश: 1369 एवं 4838 हो गया है। इस अवसर पर एनआईटी के नलीन भारती, डॉ. स्मृति सिंह, प्रो. नवल किशोर चौधरी ने भी अपने विचार रखे। कार्यक्रम के अन्त में मुकेश कुमार, चेयरमैन, आईटी एण्ड आईटीईज्स सब-कमिटि ने धन्यवाद ज्ञापन किया।

यह भी पढ़े  मोदी-मोदी नारों के बीच इंडोनेशिया में पीएम का जबरदस्त स्वागत, राष्ट्रपति जोको के साथ करेंगे शिखर सम्मेलन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here