कई जिलों में पारा तीन डिग्री तक पहुंचा

0
101

राजधानी समेत पूरे सूबे में पिछले पन्द्रह दिनों से लगातार शीतलहर का कहर जारी है। सोमवार को कई जिलों का तापमान तीन डिग्री सेल्सियस से भी नीचे चला गया। भीषण कुहासे की वजह से कई जगहों पर दृश्यता पचास मीटर से भी कम पहुंच गई। घना कोहरा और तेज ठंडी हवाओं से लोगों का घर से बाहर निकलना भी मुश्किल हो गया है।राजधानी में सोमवार को कुछ देर के लिए धूप निकली पर लोगों को ठंड से राहत नहीं मिली। तेज ठंडी हवाओं की वजह से ज्यादातर लोग अपने घरों में दुबके रहे। मौसम विभाग ने अपने पूर्वानुमान में कहा है कि आने वाले एक सप्ताह में शीतलहर का कहर बना रहेगा तथा कोहरे से भी राहत की उम्मीद नहीं है। मौसम विभाग के अनुसार इस साल रिकार्ड ठंड दर्ज की जा रही है। अगर यही स्थिति रही तो यहां का न्यूनतम तापमान पिछले कई वर्षो का रिकार्ड तोड़ देगा। सोमवार को राजधानी का अधिकतम तापमान 17.8 डिग्री जबकि न्यूनतम 5.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। भागलपुर का अधिकतम तापमान 16.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्य से नौ डिग्री सेल्सियस कम है, जबकि न्यूनतम तापमान 3.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। गया का अधिकतम तापमान 18.4 तथा न्यूनतम 4.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

यह भी पढ़े  टेक्नोलॉजी को विकास का साधन बनाएं, विनाश का नहीं: पीएम मोदी

राजधानी पटना और आसपास के इलाकों में मंगलवार को सुबह फिर घना कोहरा छाया रहेगा। न्यूनतम तापमान 6 डिग्री सेल्सियस और अधिकतम तापमान मामूली वृद्धि के साथ 18 डिग्री तक पहुंचने की संभावना है। सोमवार को पटना का न्यूनतम तापमान गिरकर 5.6 डिग्री पर आ गया। बिहार में पूर्णिया सबसे ज्यादा ठंडा रहा। वहां न्यूनतम तापमान इस मौसम में सबसे निचले स्तर 1.2 डिग्री सेल्सियस पर आ गया। भागलपुर भी की चपेट में है। 1मौसम विभाग के अनुसार छपरा, मुजफ्फरपुर, भागलपुर, फारबिसगंज और सुपौल में कोल्ड डे रहा। मंगलवार को प्रदेश में न्यूनतम तापमान यथावत रहने की संभावना है। सोमवार को पटना का अधिकतम तापमान 17.8 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। सुबह हवा में नमी की मात्र 98 प्रतिशत होने के कारण गलन महसूस हुई। शाम को नमी की मात्र घटकर 84 प्रतिशत पहुंच गई। पूर्णिया का अधिकतम तापमान 18.4 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। जबकि भागलपुर का न्यूनतम तापमान 3 और अधिकतम 16.8 डिग्री सेल्सियस रहा। गया का न्यूनतम तापमान 4.1 डिग्री और अधिकतम 21.7 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया।

यह भी पढ़े  सीएम ने जिस अस्पताल का किया था उद्घाटन अब उसी का फीता काटेंगे मंगल पाण्डेय

जयप्रकाश नारायण अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर यात्रियों की परेशशनी कम होने का नाम नहीं ले रही है। सोमवार को भी एयरपोर्ट पर विमानों के विलंबित परिचालन से यात्रियों को भारी परेशानी हुई। एयरपोर्ट पर यात्रियों की संख्या इतनी बढ़ गयी कि उनकी कतार पार्किग एरिया तक पहुंच गयी। टर्मिनल भवन की स्थिति भी भयावह बनी हुई थी। भीड़ बढ़ने का मुख्य कारण विमान का लेट होने ही है। कुहासे के कारण सुबह के सारे विमान काफी विलंब से पहुंच रहे हैं। यात्रियों का टर्मिनल भवन और चेकइन एरिया में प्रवेश करने के लिए घंटों इंतजार करना पड़ रहा है। कड़ाके की ठंड के बीच खुले आसमान के नीचे कतार में खड़े यात्रियों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा था। बच्चे और बुजुर्ग को अधिक परेशानी हो रही थी। भीड़ अधिक बढ़ने के चलते एयरपोर्ट प्रशासन भी लाचार दिख रहा था। दोपहर बारह बजे के बाद विमानों का परिचालन शुरू होने के बाद स्थिति सामान्य होने लगी।

यह भी पढ़े  एक महीने तक राजनीतिक गतिविधियों का केन्द्र रहेगा बिहार

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here