जमुई में अगर यादव वोट बिखराव हुआ तो बदल जाएगा परिणाम

0
16

जमुई सुरक्षित लोकसभा सीट पर एनडीए और महागठबंधन के बीच सीधी टक्कर है। इस लोकसभा क्षेत्र में एनडीए यादव वोटो में सेंधमारी की भरपूर कोशिश कर रहा है। यदि सेंधमारी हुई तो परिणाम बदल सकता है। कुछ जातियों को छोड़ दें तो आम मतदाता बिल्कुल शांत दिखाई पड़ते हैं। सभी राजनीतिक दलों के कार्यकर्ताओं में वैसी सक्रियता नहीं दिख रही जैसी पूर्व के चुनाव में दिखती थी।

दरअसल चुनाव अभियान की कमान स्थानीय कार्यकर्ता की जगह बाहर से आए हाईटेक सेटअप ने संभाल रखा है। जो कार्यकर्ता सुबह से लेकर शाम तक चुनावी अभियान में शामिल होते थे वे या तो कार्यालय में बैठकर समय बिता रहे हैं या फिर अपने कार्य में लगे हैं। एनडीए प्रत्याशी को इस बार भी नमो लहर पर भरोसा है तो महागठबंधन अपने जातीय आधार और घटक दलों के आधार वोटों के भरोसे है। पिछले लोकसभा चुनाव में यादव जाति के कुछ मतदाता मोदी लहर पर सवार हुए थे जिससे एनडीए की जीत की राह आसान हो गई थी। इस बार बिहार में चुनावी अभियान की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जमुई से ही की। इसका क्षेत्र में असर भी देखा जा रहा है। खासकर युवा वर्ग में जिनसे पूछो मोदी लहर के साथ है। एनडीए को इस बार यहां अपनों से ही खतरा है। आधार वोट सवर्ण मतदाताओं में थोड़ी निराशा है। इसके अलावा गठबंधन दल के ऐसे कई बड़े राज नेता हैं जिनसे भितरघात का भय बना हुआ है।

यह भी पढ़े  तीन हत्‍याओं के साथ हुई बिहार की सुबह

चिराग पासवान
चिराग (37) रामविलास पासवान के पुत्र और लोजपा संसदीय दल के अध्यक्ष हैं। जमुई के वर्तमान सांसद हैं।
भूदेव चौधरी
भूदेव जमुई से 2009 में सांसद रहे हैं। तब उन्होंने जदयू के टिकट पर लड़ा था। इस बार रालोसपा के टिकट पर लड़ रहे हैं।

2014 का परिणाम
चिराग पासवान- लोजपा- 285,354
सुधांशु भास्कर- राजद- 199,407

कुल मतदाता: 905492
पुरुष: 803740 महिला
थर्ड जेंडर : 34

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here