जमीं से आसमां तक ठंड और कोहरे के कहर से त्राहिमाम

0
154

पटना – राजधानी समेत पूरा सूबा भीषण शीतलहर की चपेट में है। सुबह से लेकर शाम तक पल के लिए धूप के दर्शन नहीं हुए। नतीजा यह है कि अधिकतम पारा सामान्य से 17 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। शीतलहर की वजह से लोगों का घर से निकलना भी मुश्किल हो गया है। दूसरी तरफ शाम होते-होते पूरा सूबा इस कदर कोहरे की चादर में डूब जाता है कि दृश्यता घटकर 50 मीटर से भी नीचे पहुंच जाती है। मौसम विभाग ने अपने पूर्वानुमान में कहा है कि बहरहाल शीतलहर से राहत की कोई उम्मीद नहीं है। घने कोहरे की वजह से ट्रेनों के परिचालन पर भी बुरा असर पड़ रहा है तथा दर्जनों ट्रेनें घंटों विलंब से चल रही हैं। बुधवार को इस मौसम का सबसे सर्द दिन रहा तथा न्यूनतम तापमान एवं अधिकतम तापमान दोनों का फासला चार डिग्री सेल्सियस तक सिमट गया। नतीजा यह है कि एक पल के लिए भी लोगों को ठंड से राहत नहीं मिल पा रही है। तेज ठंडी हवाओं के चलते लोगों का घर से बाहर निकलना भी मुश्किल हो गया है। शुक्रवार को यहां का न्यूनतम तापमान 9.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, वहीं अधिकतम तापमान 17.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। शुक्रवार को भागलपुर का अधिकतम तापमान 20.6 डिग्री दर्ज किया गया इसी तरह न्यूनतम तापमान 8.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। गया का अधिकतम तापमान 22.8 डिग्री तथा न्यूनतम तापमान 7.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

यह भी पढ़े  नीतीश कुमार का लेख : गांधी जी के विचारों को जन–जन तक पहुंचाना है

राजधानी के जयप्रकाश नारायण अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर शुक्रवार को विमानों का परिचालन पूरी तरह अस्त-व्यस्त हो गया है। कोहरे ने विमानों की रफ्तार पर इस कदर ब्रेक लगाया कि पहला विमान शाम साढ़े चार बजे आया।  घने कोहरे ने मुश्किल बढ़ा दी है और इसका असर विमानों और ट्रेनों के परिचालन पर पड़ा है। कुहासे से दृश्यता काफी कम हो जाने के कारण पटना एयरपोर्ट पर ट्रैफिक पण्राली ठप पड़ गई है। शुक्रवार को घने कुहासे के कारण 6ई 633 कोलकाता-पटना इंडिगो का विमान पटना एयरपोर्ट लैंड करने के बाद देर रात तक रन-वे पर ही फंसा रहा। देर रात यात्रियों को विमान से बाहर निकाल लिया गया। शुक्रवार को तीन विमान ही लैंड कर सके। एक विमान पाकिर्ंग स्टैंड के पास फंसा था और यात्री विमान के अंदर ही बैठे रहे। पायलट का कहना है कि घना कुहासा कारण दृश्यता बिल्कुल कम है। विमान के अंदर फंसे यात्री काफी परेशान रहे। इस बीच पांच विमानों को कैंसिल कर यात्रियों को उतार दिया गया है। इस संबंध में कोई कुछ भी बताने की स्थिति में नहीं था।

PATNA – ME VISHAN FOGKO LAKAR RAIL KI AGAMAN ME VI BADHIT

कोहरे की वजह से शुक्रवार को ज्यादातर ट्रेनें घंटों विलंब रहीं। प्राप्त जानकारी के अनुसार, गाड़ी संख्या – 12024 पटना – हावड़ा जनशताब्दी एक्सप्रेस निर्धारित समय से 3.40 घंटे, गाड़ी संख्या – 12318, अकाल तख्त एक्सप्रेस 2.10 घंटे, गाड़ी संख्या – 12391, श्रमजीवी एक्सप्रेस 3.00 घंटे तथा गाड़ी संख्या – 18625, पटना – हटिया एक्सप्रेस 2.35 घंटे विलंब रहीं। ट्रेनों के विलंब परिचालन से यात्रियों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

यह भी पढ़े  जागरूकता अभियान का मूल मंत्र है समुदाय की सहभागिता

राजधानी के जयप्रकाश नारायण अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर शुक्रवार को विमानों का परिचालन पूरी तरह अस्त-व्यस्त हो गया है। कोहरे ने विमानों की रफ्तार पर इस कदर ब्रेक लगाया कि पहला विमान शाम साढ़े चार बजे आया। वहीं दृश्यता कम रहने के चलते ग्यारह विमानों को डायवर्ट करना पड़ा। गोएयर-272 दिल्ली-पटना को रांची, गोएयर-140 दिल्ली-पटना को रांची, गोएयर-585 मुंबई-पटना को कोलकाता, इंडिगो-787 दिल्ली-पटना को रांची, इंडिगो-811 कोलकाता-पटना को कोलकाता, इंडिगो-126टी दिल्ली-पटना को कोलकाता, इंडिगो-485 बेंगलुरु-पटना को कोलकाता, स्पाइस जेट-831 को कोलकाता, स्पाइस जेट-876 कोलकाता-पटना को कोलकाता एवं स्पाइस जेट दिल्ली-पटना को वाराणसी डायवर्ट करना पड़ा। इसके अलावा इंडिगो के तीन, गोएयर के एक, स्पइस जेट के तीन एवं जेट एयरवेज के तीन विमानों को कैंसिल करना पड़ा। विमानों के रिकार्ड विलंब के चलते एयरपोर्ट परिसर में मेले का माहौल हो गया था। भीड़ इतनी बढ़ जा रही है कि पैसेंजरों को बैठने के लिए कुर्सी तो दूर, फर्श तक नहीं मिल रहा है। यात्रियों की कतार पार्किग एरिया तक पहुंच जा रही है।

PATNA – AIR PORT PAR FOG KE DWARAN FLIGHT LET AND CHANCIL KO LAKAR LAMBE KATAR

विमानों के विलंब और रद्द होने के चलते यात्रियों को भारी परेशानियों को झेलना पड़ा। विलंब वाले यात्री घंटों एयरपोर्ट पर डटे रहे। वहीं विमान रद्द वाले यात्रियों को मायूस होकर घर लौटना पड़ा। टर्मिनल भवन काफी छोटा होने के चलते एयरपोर्ट प्रशासन चाह कर भी कुछ करने में खुद को असमर्थ महसूस कर रहा है। बावजूद एयरपोर्ट प्रशासन और सीआईएसएफ द्वारा यात्रियों के साथ बेहतर समन्वय बनाते हुये हर संभव सुविधा प्रदान की जा रही है। बुजुर्ग, महिला और दिव्यांग यात्रियों को प्राथमिकता के आधार पर बोर्डिग पास दिलाया जा रहा है। साथ ही चेकइन एरिया में भी वरीयता के आधार पर प्रवेश कराया जा रहा है। हालांकि अन्य यात्रियों को चेकइन एरिया में जाने के लिए काफी पापड़ बेलने पड़ रहे हैं।

यह भी पढ़े  सुशील मोदी के इस बयान पर लालू यादव की चुटकी, तोहार लोगन के इकबाल खत्म बा

जिलाधिकारी संजय कुमार अग्रवाल के निर्देश पर नगर क्षेत्र सहित सभी प्रखंडों में महत्त्वपूर्ण चौक-चौराहों पर अलाव की व्यवस्था की गयी है। जिलाधिकारी सहित वरीय पदाधिकारी अलाव जलने का निरीक्षण कर रहे हैं। बढ़ती ठंड को देखते हुए जिलाधिकारी ने सभी अंचलाधिकारी को अलाव की व्यवस्था सुनिश्चित करने का निर्देश दिया। बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन, बाजार हाट एवं वैसे सभी स्थल जहां विशेष कर रात्रि में लोग रहते हैं, को चिन्हित कर अलाव की व्यवस्था की जा रही है। सभी अंचलाधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिया गया है कि वे सुनिश्चित करें कि ठंड से जान-माल का नुकसान न हो। सभी अनुमंडल पदाधिकारी को पर्यवेक्षण करने का निर्देश दिया गया है। अपर जिला दंडाधिकारी, आपदा प्रबंधन को दैनिक समीक्षा करने का निर्देश दिया गया है। जिलाधिकारी खुद सारी व्यवस्था का निरीक्षण करने को निकले।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here