जदयू में शामिल हुए मोनाजिर व आसमा

0
34

पटना। पूर्व सांसद मोनाजिर हसन जदयू में हुए शामिल। जदयू प्रदेश अध्यक्ष सांसद वशिष्ठ नारायण सिंह के आवास पर आयोजित समारोह में मोनाजीर हसन एवं डॉ. आसमा परवीन को जदयू की सदस्यता ग्रहण करायी। इस अवसर पर नेताद्वय को पुष्प गुच्छ एवं पार्टी का पट्टा देकर सम्मानित किया गया। हसन के साथ, इकबाल, अहमद मुर्तजा, अमजद अली अंसारी, सुरेन्द्र सिंह उर्फ सेठ जी, जिला परिषद सदस्य, मणिकांत सिंह, मुखिया, मुन्ना राय, प्रमुख, धीरज यादव, कासिम रजा, रामशरण महतो, पंचायत समिति सदस्य, अनवर सिद्दिकी, विभांशु निराला, सनाउल्लाह, फैयाज, वार्ड आयुक्त एवं इबरार सहित दर्जनों साथियों ने पार्टी की सदस्यता ग्रहण की। मौके पर बिहार विधान परिषद के मुख्य सचेतक सत्तारूढ़ दल संजय कुमार सिंह (गांधी जी) प्रदेश महासचिव मुख्यालय प्रभारी नवीन कुमार आर्य व अनिल कुमार, मुख्य प्रवक्ता संजय सिंह, प्रदेश उपाध्यक्ष चन्देश्वर प्रसाद चन्द्रवंशी, प्रदेश प्रवक्ता अजय आलोक, सुहेली मेहता, अंजुम आरा, ओमप्रकाश सिंह सेतु उपस्थित थे।

 भाजपा छोड़ने को लेकर पूछे गये सवाल पर मोनाजिर हुसैन ने बताया कि वह जदयू में परिवार की तरह रहे हैं. दल छोड़ने के दो-तीन महीने के बाद ही महसूस हुआ कि पुराना घर ही सबसे सुरक्षित है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भाजपा के साथ रहकर भी सेक्युलरिज्म के एजेंड़े से जरा भी इधर-उधर नहीं हुए हैं.
आज जाे सेक्युलरिज्म की रोटी खा रहे हैं, उनके यहां जितनी सांप्रदायिकता है और जितना ओछापन है, नीतीश कुमार उसके मुकाबले में बहुत ऊंचाई पर हैं. राजद नेता इलियास हुसैन की चिकित्सक पुत्री डाॅ असमा परवीन ने कहा कि यह उनका व्यक्तिगत निर्णय है.  उनके पापा का इसमें कोई रोल नहीं है.
 
सीट शेयरिंग एक स्वाभाविक प्रक्रिया 
जदयू के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने एनडीए के बीच सीट शेयरिंग को लेकर पूछे गये सवाल के जवाब में कहा कि यह एक स्वाभाविक प्रक्रिया है.
उस प्रक्रिया के बाद सब कुछ हो जाये, यह सबसे बड़ी बात है. पार्टी के नेता नीतीश कुमार का स्पष्ट बयान आ ही चुका है कि यह एक गठबंधन है. आगे कोई भी समस्या आती है तो सभी मिल कर उसका समाधान कर लेंगे. इसके लिए कोई तिथि और महीना निर्धारित नहीं किया गया है. उचित समय पर इसका निर्णय हो जायेगा.
सात-आठ को जदयू की राष्ट्रीय कार्यकारिणी दिल्ली में
वशिष्ठ नारायण सिंह ने बताया कि सात व आठ जुलाई को दिल्ली में जदयू राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक है. इसमें बिहार से 27 प्रतिनिधि भाग लेंगे. उन्होंने बताया कि एनडीए में नीतीश कुमार के चेहरे का उपयोग किया जा सकता है.
बिहार में नीतीश कुमार की सरकार ठीक से चल रही है. सहयोगी दल के लोग बेहतर तरीके से काम कर रहे हैं. राज्य में सब कुछ ठीकठाक चल रहा है. यह एक बड़ी उपलब्धि है. यह एक नजीर भी है.
इस अवसर पर बिहार विधान परिषद में मुख्य सचेतक  सत्तारूढ़ दल संजय कुमार सिंह उर्फ गांधी जी, प्रदेश महासचिव डाॅ  नवीन  कुमार आर्य व अनिल कुमार, मुख्य प्रवक्ता सह पूर्व विधान पार्षद संजय सिंह,  चंदेश्वर प्रसाद चंद्रवंशी, प्रदेश प्रवक्ता डाॅ अजय आलोक, डाॅ सुहेली  मेहता, अंजुम आरा व ओमप्रकाश सिंह सेतु सहित अन्य नेता मौजूद थे.
यह भी पढ़े  तेजस्वी किसी मुहल्ले के छोटे नेता के समान: त्यागी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here