छठ महापर्व के लिए गंगा घाटों की साफ-सफाई का काम शुरू

0
15
Patna-Nov.1,2018-Patna District Magistrate Kumar Ravi is holding meeting for Chhath festival at his chamber in Patna.

लोक आस्था के चार दिवसीय छठ महापर्व के लिए राजधानी के गंगा घाटों को दुरुस्त किया जाने लगा है। दानापुर से लेकर पटना सिटी तक के 92 गंगा घाटों को दुरुस्त करने में नगर निगम लगा है, जबकि अन्य घाटों को बुडको व्यवस्थित करेगा। छठ में श्रद्धालुओं से सर्वाधिक पटे रहने वाले पटना कॉलेज घाट, काली घाट, टीएन वनर्जी घाट समेत अन्य घाटों पर बृहस्पतिवार को निगम के कर्मी साफ-सफाई के कार्य में लगे रहे। मोटरचालित मशीन से गंगा के पानी का कचरा भी साफ किया गया। सफाई के दौरान भारी मात्रा में प्रतिबंधित प्लास्टिक भी निकले। छठ घाटों पर चाली, रौशनी और पहुंच पथों को दुरुस्त करने का काम भी एक-दो दिन में शुरू किया जाएगा। दूसरी ओर, छठ घाटों से संबंधित वार्ड पार्षद और स्थानीय स्वयंसेवी संस्थाएं भी अपने स्तर से श्रद्धालुओं को सुविधा उपलब्ध कराने की तैयारी कर रहे हैं। प्रति वर्ष संस्थाएं और स्थानीय नागरिक पर्व के मौके पर सड़कों-गलियों की सफाई और रौशनी की व्यवस्था करते आए थे। इस बीच, निगमायुक्त ने कहा कि छठ जैसी सफाई और रौशनी की व्यवस्था को ही बराबर के लिए मेंटेन करने का प्रयास किया जाएगा। उन्होंने कहा कि शहर की सफाई व्यवस्था को कायम रखने में नागरिकों का सहयोग भी अपेक्षित है।

यह भी पढ़े  कृषि विभाग का एचडीएफसी से करार

13-14 नवम्बर के मध्याह्न तक पूर्ण रूप से रहेगी रोक, जिलाधिकारी ने छठ पूजा की तैयारी के संबंध में समाहरणालय में बैठक कर अधिकारियों को जारी किये दिशानिर्देश विधि-व्यवस्था बनाये रखने के लिए सामान्य प्रशासन विभाग के प्रधान सचिव से किया उप सचिव स्तर के 15 पदाधिकारियों की प्रतिनियुक्ति दस तारीख तक कर देने का अनुरोध उलार सूर्यमंदिर परिसर में अवस्थित तालाब पर छठ व्रतियों और उनके परिजनों की होने वाली भीड़ को नियंत्रित करने के लिए एसएसपी से आवश्यक कार्रवाई करने को कहा

जिलाधिकारी कुमार रवि ने बताया कि छठ महापर्व-2018 के अवसर पर विधि-व्यवस्था के लिए सामान्य प्रशासन विभाग के प्रधान सचिव से अनुरोध किया गया है कि बिहार प्रशासनिक सेवा की मूल कोटि-उप सचिव स्तर के 15 पदाधिकारियों की प्रतिनियुक्ति दस तारीख तक करते हुए उनकी सूची शीघ्र उपलब्ध करायी जाये। वरीय पुलिस अधीक्षक को निर्देश दिया है कि पालीगंज अनुमंडल के दुल्हिनबाजार के अंतर्गत उलार सूर्यमंदिर परिसर में अवस्थित तालाब पर छठ व्रतियों और उनके परिजनों की संभावित भीड़ का आकलन करते हुए भीड़ नियंतण्रके लिए आवश्यक कार्रवाई करें। वहीं, अपर समाहर्ता, आपदा प्रबंधन को निर्देश दिया कि किसी भी विपरीत परिस्थिति से निपटने के लिए सभी घाटों पर तैराक, गोताखोरों की प्रतिनियुक्ति के साथ-साथ गंगा घाटों पर एसडीआरएफ और एनडीआरएफ की प्रतिनियुक्ति करना सुनिश्चित करें। जिलाधिकारी ने जिलाधिकारी, सारण एवं समस्तीपुर से अनुरोध किया कि पटना जिला अंतर्गत नदी और अन्य नदियों के किनारे छठ पर्व के अवसर पर विधि-व्यवस्था संधारण के दृष्टिकोण से नावों का परिचालन 13-14 नवम्बर के मध्याह्न तक पूर्ण रूप से बंद कर दिया गया है। जिलाधिकारी ने महाप्रबंधक पेसू को निर्देश दिया कि छठ घाटों पर निर्बाध विद्युत आपूत्तर्ि की व्यवस्था एवं जेनरेटर की व्यवस्था सुनिश्चित करें। अनुमंडल पदाधिकारी, पालीगंज को निर्देश दिया कि छठ महापर्व-2018 के अवसर पर उलार सूर्यमंदिर में छठ व्रतियों और उनके साथ आने वाले श्रद्धालुओं के लिए बुनियादी सुविधाएं यथा-रौशनी, पेयजल, शौचालय एवं भीड़ नियंतण्रतथा विधि-व्यवस्था संधारण हेतु बैरिकेडिंग, वाच टॉवर, ध्वनि विस्तारक यंत्र इत्यादि की व्यवस्था ससमय कराना सुनिश्चित करें। निदेशक, आईजीआईएमएस, निदेशक इंदिरा गांधी हृदय रोग संस्थान, अधीक्षक, पीएमसीएच और अधीक्षक श्री गुरु गोविन्द सिंह अस्पताल, पटना सिटी को निर्देश दिया कि विपरीत परिस्थिति से निपटने के लिए अस्पतालों में समुचित व्यवस्था पूर्व से ही की जाए। जिलाधिकारी ने अपर जिला दंडाधिकारी, विधि-व्यवस्था, अपर समाहर्ता, आपदा प्रबंधन, सिविल सर्जन, पटना, प्रभारी दंडाधिकारी, जिला नियंतण्रकक्ष को निर्देश दिया कि आगामी दीपावली और छठ पर्व के अवसर पर सुरक्षा, शांति एवं विधि-व्यवस्था संधारण के लिए तथा लक्ष्मी पूजा के विसर्जन के अवसर पर विभिन्न नदी घाटों पर दंडाधिकारी, वीडियोग्राफर, पीए सिस्टम, गोताखोर (एनडीआरएफ), नाव, नाविक, महाजाल, प्रकाश आदि की समुचित व्यवस्था एवं सरकारी अस्पतालों, अनुमंडल स्थित अस्पतालों और पीएचसी में आवश्यक दवाओं के साथ चिकित्सकों की उपस्थिति सुनिश्चित की जाये। कार्यपालक अभियंता, लोक स्वास्य अभियंतण्रप्रमंडल को समीक्षा के क्रम में निर्देश दिया कि हर हालत में नौ नवम्बर तक 152 शौचालय, 287 यूरिनल एवं 50 ट्यूबवेल छठ घाटों पर संस्थापित करना सुनिश्चित करें। कार्यपालक अभियंता, लोक स्वास्य अभियंतण्रप्रमंडल ने बताया कि 60 प्रतिशत तक काम हो चुका है। दीपावली के बाद घेराबंदी होगी। जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि सभी यूरिनल में पैन लगायें। कार्यपालक अभियंता, भवन निर्माण को निर्देश दिया कि नासरीगंज से घाटों के पास एवं सम्पर्क पथ में वाच टॉवर, सभी घाटों पर नियंतण्रकक्ष एवं बैरिकेडिंग की व्यवस्था नासरीगंज से प्रारंभ कर सभी घाटों पर युद्ध स्तर पर कराना सुनिश्चित करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here