छठ को लेकर घाटों के सेक्टर पदाधिकारियों और पूजा समितियों के साथ की बैठक

0
42
file photo

जिलाधिकारी कुमार रवि ने छठ महापर्व की तैयारी के संबंध में घाटों के सेक्टर पदाधिकारियों एवं पूजा समितियों के साथ समीक्षा बैठक की। जिलाधिकारी ने घाटों की तैयारी में अधिक मजदूर/मशीन लगाकर साफ-सफाई कराने का निर्देश दिया। दीघा पाटीपुल घाट/शिवाघाट पर पड़े बड़े बोल्डर को हटाने के साथ इस घाट पर दो चलंत शौचालय लगाने का निर्देश दिया। कलेक्ट्रेट घाट पर नाला में ह्यूम पाइप लगाकर लिंक पथ को चौड़ा करने का निर्देश दिया। महेन्द्रू घाट वाले लिंक पथ में कॉन्वेंट स्कूल के पास खराब पथ को ठीक करने को कहा गया। जिलाधिकारी ने छठ के दौरान शाम पांच बजे से सात बजे तक धीमे साउंड में लाउडस्पीकर बजाने का निर्देश दिया। पार्किग स्थल में लाइट, बैरिकेडिंग एवं चूना का लाइन बनाने को कहा गया। घाटों पर गंगा नदी की बैरिकेडिंग के समय जल स्तर की मापी करने एवं बल्ले से मजबूत व सुरक्षित बैरिकेडिंग करने का निर्देश अधीक्षण अभियंता, जल संसाधन विभाग एवं कार्यपालक अभियंता, नगर निगम को दिया। 
जिलाधिकारी कुमार रवि ने दीपावली पर्व के अवसर पर विधि-व्यवस्था संधारण के लिए सभी अनुमंडल पदाधिकारी एवं सभी अनुमंडल पुलिस पदाधिकारियों को अहम निर्देश दिये। जिलाधिकारी ने कहा कि पटाखा के भंडारण एवं बिक्री के लिए विस्फोटक अधिनियम-1884 (यथासंशोधित) एवं विस्फोटक नियमावली 2008 के आलोक में अनुज्ञप्ति प्राप्त किये बिना किसी भी व्यक्ति द्वारा पटाखा की बिक्री, भंडारण अधिनियम एवं नियमावली का उल्लंघन है, इसके लिए कानूनी कार्रवाई किये जाने का प्रावधान है। मानव जीवन एवं सम्पत्ति को पटाखों के असुरक्षित भंडारण एवं बिक्री से होने वाली किसी भी दुर्घटना से बचाने के लिए उक्त अधिनियम एवं नियमावली में निहित प्रावधानों का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित किया जाये। जिलाधिकारी ने अनुमंडल पदाधिकारी, पटना सिटी, अधीक्षक पीएमसीएच, अधीक्षक एनएमसीएच, उपाधीक्षक, गुरू गोविन्द सिंह अस्पताल पटना सिटी एवं जिला अगिशाम पदाधिकारियों को निर्देश दिया कि खाजेकला थाना अंतर्गत पश्चिम दरवाजा से लेकर मच्छरहट्टा तक सड़क के दोनों तरफ काफी संख्या में गैर अनुज्ञप्तिधारियों द्वारा पटाखों की दुकानें लगाई जाती हैं। अधिकतर दुकानदारों के पास ज्वलनशील पटाखों को बुझाने के लिए पानी एवं बालू नहीं रहता है। फलस्वरूप आग लगने की प्रबल आशंका बनी रहती है। गैर अनुज्ञप्तिधारी पटाखा बिक्रेताओं पर नियमानुकूल कार्रवाई सुनिश्चित किया जाना है। जिले में प्रतिनियुक्त फायर ब्रिगेड की यूनिट को तैयारी हालत में रहने की आवश्यकता है। इन त्योहारों के अवसर पर अस्पतालों में ज्वलनशील पटाखों से जलने पर उपयोग में आने वाली आवश्यक दवाएं एवं चिकित्सकों के साथ पर्याप्त संख्या में पारा मेडिकल कर्मियों को उपलब्ध रहने के साथ-साथ अलर्ट पर रहने की आवश्यकता है। जिलाधिकारी ने असैनिक शल्य चिकित्सक-सह-मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी, पटना को निर्देश दिया कि दीपावली पर्व के दौरान आम लोगों द्वारा पटाखों का उपयोग किये जाने से कभी-कभी दुर्घटना की भी आशंका बनी रहती है। ऐसी विपरीत परिस्थिति से निपटने के लिए अस्पतालों में समुचित व्यवस्था सुनिश्चित की जाये। 

यह भी पढ़े  विभिन्न विधाओं में महारथ हासिल 25 लोग सम्मानित यंग अचीवर्स अवार्ड

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here