छठे चरण के भाजपा, राजद व लोजपा के सभी उम्मीदवारों पर दर्ज हैं

0
71

वर्ष 2019 के लोकसभा के छठे चरण में चुनाव लड़ने वाले राजद, भाजपा व लोजपा के सभी उम्मीदवारों यानी 100 फीसद पर आपराधिक मामले दर्ज हैं। इसका खुलासा एडीआर की रिपोर्ट में हुआ है। राजद ने इस चरण के लिए कुल पांच उम्मीदवार खड़े किये हैं। इन सबों पर आपराधिक मामले दर्ज हैं। पांच में से दो उम्मीदवार ऐसे हैं जिनपर गंभीर आपराधिक मामले दर्ज हैं। इस चरण में जदयू के भी तीन उम्मीदवार चुनाव लड़ रहें हैं। इनमें से दो पर (67 प्रतिशत) आपराधिक मामले दर्ज हैं। उन दो में से एक पर (33 प्रतिशत) गंभीर आपराधिक मामले दर्ज हैं। इस चरण में लोजपा ने एक उम्मीदवार खड़ा किया है जिस पर आपराधिक व गंभीर आपराधिक मामले दर्ज हैं। बसपा ने सात उम्मीदवार खड़े किये हैं जिनमें छह (86 प्रतिशत) पर आपराधिक मामले तथा पांच पर (71 प्रतिशत) गंभीर आपराधिक मामले दर्ज हैं। सीपीआई व सीपीआई (एमएल) (एल) के भी एक-एक उम्मीदवार खड़े हैं। इन सवों पर भी गंभीर आपराधिक मामले दर्ज हैं। वैसे एडीआर के आंकड़ों में इस चरण में शामिल कुल 125 उम्मीदवारों में से 43 यानी कुल 34 प्रतिशत उम्मीदवारों पर आपराधिक मामले दर्ज हैं। इन 34 प्रतिशत उम्मीदवारों में 27 प्रतिशत वैसे उम्मीदवार हैं जिन पर गंभीर आपराधिक मामले दर्ज हैं। छठे चरण के सबसे अमीर प्रत्याशी बसपा के दीपक यादव हैं। आंकड़े बताते हैं कि चल व अचल संपत्ति मिला कर ये कुल 56 करोड़ के मालिक हैं। दूसरे नम्बर पर लोजपा की प्रत्याशी वीणा देवी हैं। इनकी चल व अचल संपत्ति मिला दें तो ये 33 करोड़ की स्वामी हैं। इस चरण के तीसरी अमीर उम्मीदवार भाजपा की रमा देवी हैं। इनकी चल व अचल संपत्ति मिला दें तो ये भी कुल 32 करोड़ की स्वामी हैं। छठे चरण में सबसे कम संपत्ति पूर्वी चंपारण से जनता पार्टी के उम्मीदवार प्रशांथ राम के पास है। इनके पास कुल पांच हजार रुपये हैं। दूसरे नम्बर पर एसयूएसआई (सी) के उम्मीदवार नरेश राम हैं। वैशाली से लड़ रहे श्री राम के पास 28,300 रुपये हैं। तीसरे नम्बर पर भारतीय बहुजन कांग्रेस के शिव कुमार चौधरी हैं। इनके पास मात्र 40 हजार रुपये हैं। छठे चरण के उम्मीदवारों की औसत संपत्ति की बात करें तो बसपा के उम्मीदवार औसतन नौ करोड़ के मालिक हैं। राजद के उम्मीदवार औसतन चार करोड़, भाजपा के उम्मीदवार औसतन 14 करोड़, जनता दल यू के उम्मीदवार औसतन दो करोड़, लोक जनशक्ति पार्टी के उम्मीदवार औसतन संपत्ति 33 करोड़ व सीपीआई के उम्मीदवार औसतन संपत्ति 29 करोड़ की संपत्ति के मालिक हैं।

यह भी पढ़े  शिक्षकों के वेतन को 14.46 अरब मंजूर नीतीश कैबिनेट के फैसले

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here