चुनाव तक खामोश रहेंगे निखिल, पप्पू का टूटा धैर्य

0
30
file photo

औरंगाबाद से बेटिकट हुए कांग्रेस के वरिष्ठ नेता निखिल कुमार ने कहा कि मैं चुनाव तक खामोश रहूंगा। जो बोलना है चुनाव बाद बोलूंगा। मैं कांग्रेस का सिपाही हूं। नाराज निखिल ने कहा कि महागठबंधन में लालू प्रसाद ने जो चाहा वही हुआ। सिर्फ और सिर्फ लालू की ही चली है। अब ये सब किसके इशारे पर और क्यूं हो रहा है यह बहुत गम्भीर विषय है। उन्होंने कहा कि हमलोग चाहते हैं कि राहुल गांधी देश की कमान संभालें और हम उनके सेनानी ही रहें। दूसरी तरफ उनकी ही पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा ने इस मसले पर कहा कि निखिल कुमार हमारे वरिष्ठ नेता हैं। उनकी अहमियत सभी 40 सीटों पर है। टिकट बंटवारे को लेकर झा ने कहा कि इस विषय पर पार्टी आलाकमान ही अंतिम फैसला लेता है और हमलोग तो उन्हें सिर्फ रिपोर्ट करते हैं। झा ने कहा कि पार्टी या गठबंधन में कहीं कोई नाराजगी नहीं है। उधर, सांसद पप्पू यादव का महागठबंधन से धैर्य टूट गया है और मधेपुरा और पूर्णिया से अपनी पार्टी से नामांकन करने का फैसला किया है। पप्पू फिलहाल बिहार की मधेपुरा सीट से सांसद हैं जबकि उनकी पत्नी रंजीत रंजन सुपौल से कांग्रेस की सांसद हैं। पप्पू को कांग्रेस से टिकट मिलने की उम्मीद थी। इसके लिए लगातार वे कांग्रेस नेताओं के सम्पर्क में रहे।

यह भी पढ़े  रघुवंश अनाप-शनाप बोलते रहते हैं : पासवान

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here