चार छात्रों का अपहरण कर तालिबानी अत्‍याचार

0
101

हैवानियत की यह खबर अपकी रूह कंपा देगी। हॉस्‍टल के मामूली विवाद से शुरू हुआ मामला चार छात्रों का अपहरण कर उनके साथ बर्बरता तक जा पहुंचा। घटना की दास्‍तान बयां करता एक वीडियो भी सामने आया है। लेकिन यह इतना हैवानियत भरा है कि हम नहीं दिखा सकते। मामला बिहार के बेगूसराय का है। पीडि़त छात्रों का इलाज स्‍थानीय अस्‍पताल में चल रहा है। शनिवार को उनसे मिलने केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा गए। उन्‍होंने घटना के दोषियों के विरूद्ध स्पीडी ट्रायल चलाकर सजा दिलाने की बात कही।

बेगूसराय के कुशवाहा छात्रावास के चार छात्रों के साथ अपराधियों ने जो बर्ताव किया, वह पीडि़त छात्र एफआइआर में भी नहीं लिखवा पाए। वाटर प्लांट से पानी लेने को लेकर हुए विवाद में अपराधियों ने हॉस्टल के चार छात्रों का अपहरण कर तालिबानी अंदाज में प्रताडि़त किया। घटना का राज तो तब खुला, जब एक आरोपित पकड़ा गया। उसने पूछताछ में जो खुलासा किया, उसे जानकर पुलिस के भी होश उड़ गए। इस बीच घटना का वीडियो भी वायरल हो गया।

यह भी पढ़े  महिला आयोग के समक्ष पेश हुए डीएसपी शिबली नोमानी

निर्वस्‍त्र कर पीटा, कराया अप्राकृतिक यौनाचार

अपराधियों ने सरेआम नगर थाना क्षेत्र के काली स्थान चौक के समीप से बुधवार की सुबह कुशवाहा छात्रावास के चार छात्रों को अगवा कर लिया। फिर, बेगूसराय मंडल कारा के पीछे ले जाकर उन्‍हें निर्वस्‍त्र कर बुरी तरह पीटा और चारों छात्रों से लाठी के बल पर एक-दूसरे के साथ अप्राकृतिक यौनाचार करवाया।

शराब पिलाई, छोड़ने के पहले मार दी गोली
चारों को शराब पिलाई गई तथा हथियार देकर चैन स्नैचिंग की घटनाओं में उनसे संलिप्तता कबूल करवाई गई। इसके बाद चारों के पैर में गोली मार कर छोड़ दिया।

हथियार के बल पर घंटों किया अत्याचार
चारों छात्रों ने बताया कि अपराधियों ने बुधवार को सुबह 8 बजे से शाम 6 बजे तक हथियार के बल पर उनपर अत्याचार किया था। हथियार के डर से वे अत्याचार सहते रहे। अपराधियों की संख्‍या दो दर्जन से अधिक थी।

धमकी के अनुसार वायरल किया वीडियो
अपराधियों ने उन्‍हें यह कहते हुए छोड़ा कि अगर घटना का किसी के सामने जिक्र किया तो वीडियो वायरल कर दिया जाएगा। अपराधियों ने वीडियो वायरल कर भी दिया। इसमें किसी भी अपराधी का चेहरा नहीं दिख रहा है, लेकिन चारों छात्रों पर किए गए जुल्‍म दिख रहे हैं।

यह भी पढ़े  बिहार के कई जिलों में महसूस किए गए भूकंप के हल्के झटके

ऐसे खुला घटना का राज, वीडियो देख उड़ गए होश

मामले को महज मामूली मारपीट की घटना करार दे पुलिस ने अनुसंधान शुरू किया, लेकिन मुख्य आरोपी व पोखरिया वार्ड नंबर 38 निवासी प्रमोद सिंह के पुत्र वाटर प्लांट संचालक गोलू कुमार की जब गिरफ्तारी हुई और घटना का वीडियो सामने आया तो पुलिस के होश उड़ गए। इसके बाद पुलिस ने दो दिनों में सात आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया। गोलू कुमार के अलावा अजय कुमार, विनोद कुमार, राजा कुमार, रोहित कुमार, गणेश कुमार व राहुल कुमार को भी गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया।

पीडि़त छात्रों का इलाज सदर अस्पताल में चल रहा है। वहां उनसे मिलने शनिवार को केंद्रीय मंत्री उपेन्द्र कुशवाहा ने कहा कि घटना के आरोपितों के विरूद्ध स्पीडी ट्रायल चलाकर दोषियों को सजा दिलाई जाएगी। इस घटना को ले वे मुख्यमंत्री से भी बात करेंगे। तीन महीने के अंदर इस मामले की जांच पूरी होगी।

यह भी पढ़े  बाल गृह से छह बच्चे फरार, संचालक ने दर्ज करायी प्राथमिकी, छानबीन में जुटी पुलिस

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here