गैंगवार में हुई गोलीबारी में तीन लोगों की हत्या

0
22

पूर्णिया का मौजमपट्टी गांव एक बार फिर गोलियों की तडतडाहट से गूंज उठा. गैंगवार में हुई गोलीबारी में रविवार की देर रात तीन लोगों की हत्या कर दी गयी तो कुछ लोगों के घायल होने की भी सूचना मिल रही है. घटना में बिहार के कुख्यात गैंगस्टर और कांग्रेस नेता बूचन यादव के बेटे और उनके समर्थकों पर हत्या का आरोप लग रहा है.

सरस्वती पूजा के मौके पर बूचन यादव पर भी बम से हमला किया गया था तब से यहां दहशत व्याप्त है, वहीं एसपी ने लोगों अपराधियों की शीघ्र गिरफ्तारी का भरोसा दिया है. बताया जा रहा है कि पूर्णिया के रघुवंशनगर ओपी इलाके के बहुचर्चित मौजमपट्टी गांव में बीती रात पांच बाइक पर सवार करीब 10 नकाबपोश अपराधी गांव के हटिया में पहुंचे और एके-47 जैसे हथियार से दर्जनों राउंड फायरिंग करते हुये हत्या की घटना को अंजाम देकर फरार हो गये.

घटना की सूचना के कई घंटो बाद पहुंची पुलिस ने पहले दो शवों को अपने कब्जे में लिया फिर तीसरा शव भी देर रात बरामद किया गया. इस गैंगवार में मौजमपट्टी के किसान रामाकांत यादव, अमीन नीरज यादव और बुजुर्ग वकील यादव की अपराधियों ने गोली मारकर हत्या कर दी. घटना के बाबत मृतक रामाकांत यादव के पुत्र रितेश ने कहा कि कुख्यात बूचन यादव का पुत्र साहिल सौरभ,जयचन्द यादव,मटिहानी के मुखिया बाबूल साह समेत 10 अपराधी पांच बाइक पर आये और एके-47 और 56 जैसे बडे हथियारों से ताबड़तोड फायरिंग करने लगे.. इस दौरान अपराधियों ने रामाकांत यादव,नीरज यादव और वकील यादव की हत्या कर फरार हो गए.

यह भी पढ़े  अपराध का रविवार: लूटपाट, हत्‍या व फायरिंग से दहला बिहार

मृतक रामाकांत यादव के समधी अमरेन्द्र यादव ने कहा कि गांव में बुचन यादव और अखिलेश यादव के बीच आपसी वर्चस्व की लड़ाई है. इससे पहले बुचन यादव और शिशवा के मुखिया बालो यादव के बीच भी कई दशक तक गैंगवार चला जिसमें सौ से अधिक लोग मारे गये थे. डेढ माह पहले सरस्वती पूजा की रात अपराधियों ने कांग्रेस नेता और कुख्यात बुचन यादव पर बम से हमला किया था जिसमें बूचन यादव को अपना पांव गंवाना पड़ा था तभी से आशंका जताई जा रही थी कि जल्द ही कोई बड़ी घटना होने वाली है.

इस गैंगवार के कारण पूरे इलाके में दहशत व्याप्त है. घटना की सूचना मिलते ही धमदाहा एसडीपीओ प्रेम सागर रात में ही कई थाना की पुलिस के साथ मौके पर पहुंचे और शव को अपने कब्जे में लिया. घटना के बाद रविवार को एसपी विशाल शर्मा भी मौजमपट्टी गांव पहुंचे और मृतक के परिजनों को सुरक्षा का भरोसा दिया. एसपी विशाल शर्मा ने कहा कि पुरानी रंजिश के कारण ये हत्या हुई है. पुलिस को काफी इनपुट मिला है जल्द ही आरोपी की गिरफ्तारी की जायेगी. उन्होंने कहा कि मौजमपट्टी गांव में स्थाई पुलिस पिकोट खोली जायेगी.

यह भी पढ़े  बालिका गृह सेक्स स्कैंडल : मास्टरमाइंड ब्रजेश ठाकुर को भागलपुर शिफ्ट किया गया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here