गृह विभाग के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक नेता प्रतिपक्ष एवं पूर्व उपमुख्यमंत्री का फोन नहीं उठाते:राबड़ी देवी

0
10

पहली चिट्ठी पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा संज्ञान लिये जाने के बाद पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने मुख्यमंत्री को एक और चिठ्ठी लिखी है. उन्होंने मुख्यमंत्री को पत्र भेज कर आरोप लगाया है कि गृह मंत्रालय भारत सरकार के आदेश के बावजूद राज्य सरकार द्वारा उनकी सुरक्षा में तैनात केंद्रीय बल को पर्याप्त संसाधन उपलब्ध नहीं कराये जाने के कारण जेड प्लस श्रेणी की सुरक्षा अब तक प्रदान नहीं की गयी है. राबड़ी देवी ने मुख्यमंत्री से नौ बिंदुओं पर जवाब मांगा है. उन्होंने सवाल उठाते हुए पूछा है कि आपके अधीन गृह विभाग के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक नेता प्रतिपक्ष एवं पूर्व उपमुख्यमंत्री का फोन नहीं उठाते. किसी विषम परिस्थिति में किनसे संपर्क किया जाये. राबड़ी देवी ने कहा है कि राज्य एवं देश में असामाजिक तत्वों एवं कट्टरपंथ का बोल-बाला हो चुका है. इससे उनके पूरे परिवार पर खतरा कई गुणा बढ़ गया है.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से राबड़ी देवी पूछे ये सवाल

 2005 से अब तक लालू प्रसाद यादव और राबड़ी देवी के नाम एवं पदनाम से कितने सुरक्षा बल, स्कॉर्ट, पायटल, स्टैटिक, अंगरक्षक, सुरक्षाकर्मियों के उपयोग हेतु वाहन उपलब्ध कराये गये ?

10, सर्कुलर रोड (लालू प्रसाद-राबड़ी देवी का आवास) में तैनात सुरक्षा कर्मियों को क्यों और किसके कहने पर हटाया गया ?

यह भी पढ़े  भूमि सुधार से आयेगी राज्य में शांति : मुख्यमंत्री

किन परिस्थितियों में 2005 से ही बिना समीक्षा एवं सूचित किये मेरी सुरक्षा में तैनात सुरक्षा बलों में समय-समय पर कटौती की गयी ?

वर्तमान नेता प्रतिपक्ष एवं पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव द्वारा कई बार पत्राचार किये जाने के बावजूद उनकी सुरक्षा श्रेणी का निर्धारण क्यों नहीं किया गया ?

सुरक्षा कर्मियों को वाहन क्यों नहीं उपलब्ध कराया गया ?

दो-दो पूर्व मुख्यमंत्री के पुत्र पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेज प्रताप यादव को खतरा रहता है, उनकी सुरक्षा श्रेणी का निर्धारण कब तक होगा ?

बीएमपी-2 के समादेष्टा ने 12 अप्रैल, 2018 को लिखे पत्र में उल्लेखित किया है कि भूलवश बल को वापस किया जाना अंकित किया है, यह किसकी गलती थी. स्पष्टीकरण दिया जाये ?

क्या मुख्यमंत्री को पूरे प्रकरण की जानकारी थी अथवा उनको अंधेरे में रखकर इस प्रकार की कार्रवाई की गयी ?

गृह विभाग के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक नेता प्रतिपक्ष एवं पूर्व उपमुख्यमंत्री का फोन नहीं उठाते. किसी विषम परिस्थिति में किनसे संपर्क किया जाये?

यह भी पढ़े  AUTO EXPO 2018 : पहले दिन ये शानदार और दमदार कारें हुई लॉन्‍च

कर्नाटक में होनेवाले चुनावी सभा को संबोधित करने के बाद बेंगलुरु से पटना लौटने पर पूर्व मुख्यमंत्री व राजद नेता राबड़ी देवी द्वारा मुख्यमंत्री को लिखे गये पत्र के बारे में नीतीश कुमार को जानकारी दिये जाने पर मुख्यमंत्री ने गृह विभाग से पूरी स्थिति की जानकारी मांगते हुए पूछा था कि कब, क्यों और किस स्तर पर दो पूर्व मुख्यमंत्रियों को जीवन पर्यंत आवंटित सरकारी आवास 10, सर्कुलर रोड की सुरक्षा में परिवर्तन का निर्णय किया गया? साथ ही मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पूर्व की सुरक्षा व्यवस्था को बहाल करने का निर्देश देते हुए पूरी स्थिति की जानकारी मांगी थी. मालूम हो कि राबड़ी देवी को जेड प्लस एवं एसएसजी एक्ट के तहत सुरक्षा मिली हुई है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here